सुलभ शौचालय अब नेपाल में भी : सुलभ अभियन्ता पाठक की घोषणा

विजेता चौधरी, जेठ १९
सुलभ शौचालय अभियान तथा नेवाः फेडरेशन के संयुक्त आयोजन में हुए पत्रकार सम्मेलन में अभियान के संस्थापक डा. विन्देश्वर पाठक ने काठमाण्डू स्थित पशुपति क्षेत्र में सुभल शौचालय बनाने का प्रस्ताव स्वीकृत होने की बात बताई ।

Bindeshwor pathak-1
स्थानीय जोन्टा क्लब के साथ मिल कर पशुपति क्षेत्र में शौचालय बनाने को लेकर भारतीय दूतावास से बात हो रही थी, इस बात की जानकारी देते हुए सामाजिक अभियन्ता पाठक ने कहा कि दूतावास को हम ने डिजाइन प्रस्तुत किया है जो स्वीकृत हो गया है ।

DSCN2772
साथ ही पाठक ने कहा– जनकपुर में भी सुलभ शौचालय बनाने की बात पर परामर्श चल रही है । हम लोग जल्द ही उस पर भी कार्य आगे बढाएँगें । साथ ही पाठक ने घोषणा की कि भारत सरकार से बात करके नेपाल के ७५ जिलों में भारतीय रुपैया १० हजार प्रदान कर सुलभ फेलो परिचालन करेंगे जो स्वच्छता का प्रचार प्रसार करेंगें बाद में सुलभ शौचालय व स्वच्छता के लिए आवश्यक पूर्वाधार निर्माण करने की भी प्रतिबद्धता जाहिर की । उन्होंने सुलभ द्वारा बनाए गए टेक्नालाजी को प्रस्तुत करते हुए कहा कि इस से बायो गैस, बिजली तथा स्वच्छ पानी, खाद्य आदि वस्तुओं का वस्तु निर्माण किया जा सकता है ।

DSCN2759
सम्मेलन मे पाठक ने सुलभ अभियान के अपने अनुभव सुनाते हुए कहा हम पड़ोसी हंै और जिस तरह भारत में सुलभ अभियान ने सफलता प्राप्त की है वही सफलता मैं नेपाल में भी देखना चाहता हूँ । मै स्वच्छ नेपाल का नारा देना चाहता हूँ । सफाई एक दिन में संभव नही है । हम सभी को इस में सहकार्य करना चाहिए ।
नेवाः फेडरेशन के निर्देशक उमेश पाण्डे ने बताया पीने का पानी तथा सफाई का काम हम लोगंो ने ग्रामीण स्तर पर किया अब बढ़ते शहरीकरण में स्वच्छता का अभियान चलाने के लिए सुलभ के साथ सहकार्य कर आगे बढ़ने की इच्छा जताई । उन्होंने निजी क्षेत्र को भी इस अभियान में सहभागी करने की बात उठाई ।
पाण्डे से पूछे गए एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि पशुपति विकास कोष से सहयोग की अपेक्षा है । शौचालय बनबाने के लिए उचित जगह का प्रबन्ध भी कोष ही करेगी ।
सुलभ स्कुल सेनेटरी क्लब की वैष्णवी तिवारी ने तराई के जिलाें में संचालित अन्र्तक्रिया का अपना अनुभव सुनाते हुए कहा बच्चों की सहभागिता के बिना स्वच्छता सम्बन्धी कोई भी परिवर्तन संभव नही है ।

Loading...
%d bloggers like this: