हर तीन में से दो अंग्रेजों को है नोमोफोबिया

इस बात में कोई शक नहीं है कि आज की दुनिया में सेल फोन एक जरूरत बन गया है लेकिन यह भी एक सच्चाई है कि ब्रिटेन में बड़ी संख्या में लोग अब नोमोफोबिया के शिकार हो रहे हैं। नोमोफोबिया वह अवस्था है जिसमें मोबाइल फोन का आदी व्यक्ति एक मिनट भी अपने मोबाइल फोन के बिना नहीं रह सकता।
शोधकर्ताओं ने पाया है कि ब्रिटेन में प्रत्येक तीन में से दो लोगों को हमेशा अपने मोबाइल की चिंता सताती रहती है और वे उससे कुछ क्षण के लिए भी दूर नहीं रहना चाहते। पिछले चार साल में ऐसे लोगों की संख्या 53 फीसदी से बढ़कर 66 फीसदी हो गयी है। डेली मेल में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है।
एक हजार कर्मचारियों पर करवाए गए सर्वेक्षण से पता चला है कि युवा वर्ग के लोग नोमोफोबिया से अधिक पीड़ित हैं। इनमें से 18 से 24 साल आयु वर्ग के 77 फीसदी लोग नोमोफोबिक हैं। इसमें रोचक बात यह है कि 55 साल की उम्र के लोगों में नोमोफोबिया का प्रतिशत 62 और 35 से 44 आयु वर्ग के लोगों में यह प्रतिशत 59 है।

सिक्योरएनवे द्वारा करवाए गए शोध में पता चला है कि महिलाओं को पुरूषों के मुकाबले अपना मोबाइल फोन खोने की चिंता अधिक रहती है। 61 फीसदी पुरूषों के मुकाबले 70 फीसदी महिलाएं नोमोफोबिक हैं।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz