हिन्दू-मुस्लिम एकता की वेमिशाल निशानी पेश कियागया है : अब्दुल खानं


अाज लाेग धर्म ,कर्म अाैर अपनी संस्काराे काे लेकर कुत्ताे की भांती लड रहे है, जैसे जीवन का अन्तिम मिलन हाे इसके वाद, अापस मे ना मिलना, न लेना,  नदेना, नअाना नजाना जैसा हाे। सर्वे भवन्तु सुखिना का संन्देश देता है हिन्दू धर्म, सबर अाैर शान्ति का सबसे बडा पैगाम देने वाला कर्बला शरिफ का शन्देश छाेडकर लाेग जिन्दगी अाैर माैत का जंग लड रहे है।

अाज गावं/गावं मे अफरा तफरी का माहाैल है, कर्फ्यु जारी है, लाेगाे के खुन बह रहे है,गाली गलाैजं हाे रहे है धार्मिक स्थलाे काे निशाना बनाया जा रहा है,इससे न वर्मान मे फाईदे है न भविष्य मे ही मिलेगा  ,यह अापस का फूट से फाइदा हम दाेनाे ( हिन्दू ,मुस्लिम ) का खुला दुशमन ले रहा है, जिसने हमारी जमीन काे हडपा, हमारे संस्कार का दाेहन किया, भाषा अाैर राेजगार का हरण किया, उस शासक से लडने के लिऐ हमारे पास समय नही हाेता, पुलिस का डर हाेता है , प्रत्येक दिन का नाफा नुकसान निकाला जाता है अाज वह सब कहाँ चला गया कुछ अवसर वादियाें के बहकावें मे अाकर हमलाेग बिना साेचं समझकर अपनी अपनी शक्ति का प्रदर्शन कर रहे है यह बिलकुल गलत है । सुना था मानव सर्व श्रेष्ठ प्राणी है, मुझे ताे इस वातसे घृणा  हाेने लगी है | तुम से अच्छा कीट,पतगं, अाैर जानवर है, जमिनी भूभाग से जल का भूभाग अधिक हाेते हुवे भी जलचर अपना जीवन मे ऐकता कायम करलेते है, हम मानव क्याें नही सदभाव रखपाते है ? यह हिन् भावनाअाे की नतिजा है। इस अफरा तफरि के माहेल मे कुछ अच्छे लाेग है जिने के बदाैलत दुनया कायम है ये राैतहट जिला वासी समाजिक अाैर धार्मिक अगुवा है , योगी विरेन्दर शाह, हाजि जिकरुल्लाह जिन्हाेने अापस मे बैठकर सारे रिवाजाे की तिथि, समय तयकर लिया अाैर पुरे जिले मे लागू, कराकर एकता की वेमिशाल निशान पेश किया है | इन काे हम धन्यावाद ताे क्या दें , यिनसे कुछ सिखने काे मिलता रहे। कपिलवस्तु , धनुषा, सिरहा अाैर सप्तरी जिला मे जाे हिन्दु , मुस्लिम ऐकता दिखा उससे सभी काे सिखना हाेगा, हम दाेनाे का रावण रूपी मन को मिटाना हाेगा। अाप सभी का सुभचिन्तक: अब्दुल खानं प्रवक्ता स्वतन्त्र मधेश गठबन्धन।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of
%d bloggers like this: