हेटौडा

धर्म निरपेक्षता हटाकर रहेंगे’
हेटौडा। हेटौडा के एक धार्मिक सभा में बोलते हुए राप्रपा नेपाल के अध्यक्ष कमल थापा ने कहा- ८० प्रतिशत से ज्यादा हिन्दुओं का अपमान करते हुए एकतर्फी रुप में धर्मनिरपेक्षता की घोषणा की गई थी, उसे हम लोग खारीज करवाकर रहेंगे। जनकपुर-लुम्बिनी-बिन्ध्यावासिनी-पशुपतिनाथ रथयात्रा के क्रम में रथ हेटौडा पहुँचने पर सनातन धर्मावलम्बियों को एकतावद्ध होकर आगे बढÞने के लिए थापा ने अनुरोध किया। जनमत संग्रह द्वारा हिन्दू राष्ट्र खारेज होता तो हमे कुछ नहीं कहना था। लेकिन राजनीतिक दलों ने मनमाने ढंग से धर्मनिरपेक्षता की घोषणा की है। रथयात्रा शान्तिपर्ूण्ा सांस्कृतिक आन्दोलन होने से सभी नेपाली को इस अभियान में सहयोग करने के लिए थापा ने आग्रह किया। कार्यक्रम में पार्टर्ीीे वरिष्ठ नेता केशर बहादुर विष्ट, केन्द्रिय सदस्यगण रामकुमार सुब्बा, विष्णु भण्डारी, रेशम लामा, और आमन्त्रित केन्द्रीय सदस्य मधु अधिकारी आदि ने नेपाल को र्सवधर्म, सद्भाव, पर्ूण्ा धार्मिक स्वतन्त्रता सहित सनातन धर्म सापेक्ष हिन्दू राष्ट्र घोषणा करने की माँग की।
कब्रस्तान की कील्लत
हेटौडा। ख्रीष्टियन समुदाय में सब गाड्ने की परम्परा रही है। उसी के अनुसार स्थान अभाव के कारण काठमांडू से शव दफनाने के लिए हेटौडा ले जाया गया। इसका खुलासा तब हुआ, जब नव जीवन एम्बुलेन्स संस्था द्वारा सञ्चालित बा.८च. ८७४९ नम्बर के एम्बुलेन्स से आए एक शव को हेटौडा-१० स्थित भुटनदेवी सामुदायिक वन में दफनाने का काम हो रहा था। उसी समय हेटौडा नगरपालिका और वन समूह के प्रतिनिधि के संयुक्त टोली द्वारा अनुगमन करते समय इस मामले का खुलासा हुआ।
एम्बुलेन्स में शव ढोना गैरकानूनी है। वन समूह के अध्यक्ष सोमबहादुर लामा के अनुसार उनके सामुदायिक वन में समूह के इजाजत बगैर शव दफनाना उससे भी बडÞा गैरकानूनी काम है। इसलिए हम लोगों ने ऐसा नहीं करने के लिए कहा है। लामा के अनुसार १९ हेक्टरवाले उस वन समूह में शव दफनाने से विकराल समस्या खडÞी हो सकती है। इसलिए वैसा न करने के लिए सम्बन्धित निकाय को अनुरोध किया गया है। इस बारे में शव भेजनेवाले स्थान के ख्रीष्टियन समुदाय के जिम्मेवार व्यक्ति को ऐसा न करने के लिए कहा गया है। हेटौंडा नगरपालिका के वातावरण अधिकृत रोशन रिजाल के अनुसार एम्बुलेन्स में शव लाया गया था । एम्बुलेन्स संचालक संस्था के प्रतिनिधि नवीन श्रेष्ठ ने इस बारे में कहा- शव वाहन लिखने पर लोग डÞरते हैं। इसलिए ऐसा किया गया। लेकिन सामुदायिक वन में दफनाया जा रहा है, ऐसा हम लोगों को पता नहीं था।’ नेपाल पेन्टिकोष्टल चर्च के रेभ.पा. भानुभक्त ब्लोन ने कहा कि सरकार द्वारा शव दफनाने के बारे में उचित व्यवस्था होनी चाहिए।
बन्दी परिवार को सहयोग
हेटौडा। मकवानपर जिला के भीमफेदी में स्थित कारागार में अभी ६०१ बन्दी रह रहे हैं। उनके परिवार को काठमांडू की एक संस्था ‘पीडित सेवा संघ’ ने जाडÞे से बचने के लिए उन को गरम ब्ल्यांकेट और बच्चों के लिए स्टेशनरी सामग्री सहयोग किया है। सरकारी स्तर में सुविधा उपलब्ध नहीं होने से इस तहर सामाजिक संस्था के द्वारा सहयोग प्रयोग होना अच्छी बात है और ऐसे काम को निरन्तरता मिलनी चाहिए, ऐसा कारागारप्रमुख चिरञ्जिवी थापा का कहना है। संस्था के मकवानपुर संयोजक रमेश मैनाली बताते हैं कि चितवन, पर्सर्ाामकवानपुर लगायत जिला के १९ परिवार को संस्था ने ऐसा सहयोग किया है। हैटौडा सुमो संघ ने बन्दियों के सहयोग के लिए सहयोग सामग्री को मुफ्त ढुवानी किया है। उस कार्यक्रम में पा. दिल बहादुर लामा, आशा लामा, समाजसेवी तुरेन सेवा, निर्मल सेवा, अम्विका गौतम, संजीव बर्तौला आदि की सहभागिता थी।
बन्दी उपचार के लिए बजट का अभाव
हेटौंडा। भीमफेदी स्थित क्षेत्रीय कारागार के बन्दियों में हाइड्रोसिल की बिमारी पाई गई है। वहां के ५०१ पुरुष कैदियों में १० प्रतिशत उक्त रोग से पीडिÞत है। जेलर चिरञ्जीवी थापा के अनुसार ठंडÞ का वातावरण और बाहर से तबदला हो कर आए अधिकांश कैदियों में यह रोग देखा गया है। मगर उपचार के लिए सरकारी बजट नहीं है। प्रतिव्यक्ति न्यूनतम ३० हजार रुपैया खर्च करना प्रशासन की शक्ति से बाहर की बात है।
फिर भी कैदी खुद अपने खर्च पर उपचार कराना चाहे तो उसे चितवन भेजाकर उपचार की सुविधा दी गई है। कैदियों में ३० को पायल्स की बीमार हंै तो चार एचआईभी से संक्रमित हैं, तीन कुष्टरोगी हैं और कुछ में चर्म और नेत्र रोग पाए गए हैं, थापा ने ऐसी जानकारी दी। आर्श्चर्य की बात तो यह है- करीब दो वर्षों से सञ्चालित उक्त कारागार के महिला बन्दिगृह में पाँच सौ से ज्यादे पुरुष बन्दी रहते आ रहे हंै। स्थान अभाव के कारण दो सय बन्दी की क्षमतावाले इस कारागार में करीब ६० कैदी बरण्डा में और जीने पर सोने को बाध्य हैं।
शान्ति निर्माण में इटीएससी
हेटौडÞा शिक्षा तालिम तथा सामुदायिक सेवा नेपाल इटीएससी ने दातृ शान्ति निर्माण के विषय में विचार-विमर्श तथा अन्तरक्रिया कार्यक्रम किया है। जिल्ला विकास अधिकृत रामकृष्ण थापा की अध्यक्षता में हर्ुइ बैठक में संस्थागत विकास संजाल के बालकृष्ण महर्जन, गैसस महासंघ के कमलकुमार विक, इटीएससी नेपाल के र्सर्ूयप्रकाश र्राई, जिल्ला जनस्वास्थ्य अधिकृत सुनील श्रीवास्तव सहित सभी ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
विचार-विमर्श के क्रम में सा.वि. अधिकृत थापा ने कहा कि इटीएससी ने एचआईभी एड्स सहित अन्य सभी सामाजिक क्षेत्र में कार्य संतोष रुप में किया है। गैसस महासंघ के उपाध्यक्ष कमल कुमार विक ने बताया कि ऐसे सामाजिक कार्यों को आगे बढÞाने के लिए यदि और अन्य दातृसंस्थाएँ आती है तो और अच्छी बात होगी। इटीएससी नेपाल संस्था अनेक वर्षों से विभिन्न सामाजिक क्षेत्र में काम करने की बात संस्थापक र्सर्ूयप्रकाश र्राई ने बताया।
मकवानपुर में भी क्रिसमस
पहले जैसे ही इस वर्षभी विभिन्न कार्यक्रम के साथ इसाइयों ने क्रिसमस मनाया गया। मकवानपुर इर्साई समाज ने क्याण्डल र्‍याली निकालकर एवं अन्य चर्चों ने चौराहे पर सन्देशमूलक कार्यक्रम करके क्रिसमस मनाया। मकवानपुर के तीन सय चर्चो ने क्रिसमस के अवसर पर क्यारल गीत गाया और सन्देशों का प्रचार किया, साथ ही परस्पर सद्भाव, प्रेम बढानेवाला कार्यक्रम प्रस्तुत किया। पहले की तुलना में लोगों द्वारा इर्साईओं के देखे जाने की दृष्टिकोण में अन्तर आने लगा है। इस क्रम में मकवानपुर के सहायक जिला प्रमुख हीरालाल चौधरी नर्ेर् इर्साईयों को शुभकामना दिया। पत्रकार महासंघ के केन्द्रिय सदस्य प्रताप विष्ट ने भी शुभकामना देते हुए कहा- ख्रीष्टमस राष्ट्रीय पर्व है, इसका सम्मान करना चाहिए। विजया दशमी, दीपावली लोसारर्,र् इद जैसे ही इस को संरक्षण करने की आवश्यकता है। पत्रकार महासंघ के जिला अध्यक्ष भानुभक्त आचार्य, जिलाबार एशोसिएसन के अध्यक्ष मदनकुमार दाहाल ने भी ख्रीष्टमस के अवसर पर शुभकामना  दियार्।र्
इर्साई समुदाय द्वारा २२ लाख सहयोग
हेटौडा-५ पिप्पलेस्थित बालज्योति मा.वि. भवन निर्माणार्थ कोरिया नेपाल शिक्षा सहयोग संघ ने २२ लाख का सहयोग दिया। सहयोग क्रमिक रुप में उपलब्ध कराया जाएगा। विद्यालय समिति एवं संघ के पदाधिकारी के बीच सन्धिपत्र में हस्ताक्षर भी किया गया। सहमति अनुसार १० प्रतिशत रकम तत्काल और बाँकी भवन निर्माण शुरु होने पर दिया जाएगा। संधिपत्र पर विद्यालय व्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष हीराबहादुर महत, डा. जाङजाङ थेगी, अध्यक्ष पा. यज्ञराज सुवेदी आदि ने हस्ताक्षर किया। इस अवसर पर सहायक जिला प्रमुख डोरमणि पौडेल, रामेश्वर राना, विष्णु दाहाल, सम्राट तुम्बाहाम्फे आदि की उपस्थिति थी।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz