ह फिक्र को धुएं में उडाता चला गया

ND

ऐसा लगता था देव आनंद अनादि हैं, अनंत हैं। वे हमारे पैदा होने से पहले धरती पर मौजूद थे और हमारे मर जाने के बाद भी धरती पर मौजूद रहेंगे। ऐसा लगता था कि वे हमेशा से हैं और हमेशा रहेंगे। मगर गलत लगता था। कभी सुनने में नहीं आया कि देव आनंद कभी अस्पताल में भर्ती हैं या उन्हें कभी खाँसी भी हुई है। उनकी देह रोग जानती ही नहीं थी। उनकी देह ये भी भूल गई थी कि वो नश्वर हैं।

विदेश में हेल्थ चेकअप कराते हुए शायद उनकी देह को खयाल आया होगा कि अरे मैं तो मिट्टी हूँ और मिट जाना ही मेरा धर्म है। इसीलिए एक ही अटैक में वे चल बसे। उनके बस में होता तो वे अंतिम साँस हिन्दुस्तान में ही लेना चाहते। जो लोग लंबी और सार्थक जिंदगी जीना चाहते हैं, वे देव आनंद से बहुत कुछ सीख सकते हैं।

हर फिक्र को धुएँ में उड़ाने वाले गीत में देव आनंद के होंठों पर सिगरेट होती है। मगर असलियत में वे सिगरेट नहीं पीते थे। शराब भी नहीं। उन दिनों देव आदंन और उनके तमाम डायरेक्टर विदेशी फिल्मों से बहुत प्रभावित थे, जिनमें हीरो तरह-तरह के हैट पहनता है और लगातार बदबूदार धुआँ छोड़ता है। सो, इसी तरह का रूप उन्होंने भी धारण कर लिया। उनकी फिल्में देखकर न जाने कितने लाख लोगों ने सिगरेट पीना अपना फैशन स्टेटस बना लिया।

काश कि उन्हें पता होता देव आदंन सिगरेट नहीं पीते। ये केवल उनकी छवि है। अपने शरीर को वे मंदिर की तरह पवित्र रखते थे। इसीलिए वे बूढ़े तो हुए पर कभी बदसूरत या भद्दे नहीं लगे। उनकी मिमिक्री करने वाले कई कलाकार भारी, भद्दे और कुरूप होकर चलन से बाहर हो गए, पर देव आनंद टिके रहे।

इतनी लंबी उम्र जीने के लिए संयम तो चाहिए ही, दिल भी बहुत बड़ा चाहिए। निर्माता के तौर पर देव आदंन ने कभी पैसे के लिए फिल्में नहीं बनाईं। पैसा उनके लिए दोयम था। ताल्लुकात पहले थे। एक जमाने में निर्माता अपने वितरकों के लिए ट्रायल शो भी रखता था। देव आनंद सभी वितरकों को अपने घर लंच पर ले जाते थे। उनके सामने तरह-तरह के खाने परोसकर खुद सूप पीते रहते थे।

भाव-ताव कभी नहीं किया। अक्सर यही होता था कि वितरक जो राशि बोलता था, उसी में देव साहब मान जाया करते थे।, फिर मुँह से बोली राशि में से भी यदि वितरक लाख-पचास हजार कम दे तो वे खयाल नहीं करते थे। उनके बंगले के एक कोने में बना डबिंग स्टूडियो उन फिल्म निर्माताओं के लिए खास आसरा था, जिनके पास नकद पैसे नहीं होते थे। उधारी भी लगभग डूब जाया करती थी, मगर वे पैसे के लिए जीने वाले शख्स थे ही नहीं।

वे कभी ‘उपेक्षित बूढ़ा’ बनना नहीं चाहते थे, इसीलिए फिल्में बनाते रहते थे। ये उनके जीवन जीने का ढंग था। वे इस माहौल के बाहर जी ही नहीं सकते थे। फिल्म निर्माण का माहौल पानी था और वे मछली। यकीन नहीं हो रहा कि देव साहब चले गए। हिन्दी सिनेमा का पहला स्टाइलिश हीरो चला गया। इस पर कैसे भरोसा किया जाए?

Dev Anand Photo Gallery, Dev Anand Photos, Dev Anand Pics, Dev Anand Wallpaper, Dev Anand Pictures, देव आनंद फोटो गैलरी.
photogallery.webdunia.com/hindi/1508/…/dev-anand-photos.htm
ऐसा लगता था देव आनंद अनादि हैं, अनंत हैं। वे हमारे पैदा होने से पहले धरती पर मौजूद थे और हमारे मर जाने के बाद भी धरती पर मौजूद रहेंगे। ऐसा लगता था कि वे हमेशा से हैं और हमेशा रहेंगे । मगर गलत लगता था। कभी सुनने में नहीं आया कि देव आनंद कभी
hindi.webdunia.com/…/देव-आनंद-रहना-अनादि-अनंत-का- 1111205101_1.htm
भारतीय सिनेमा के सदाबहार अभिनेता देव आनंद का शनिवार रात लंदन में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 88 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार या बुधवार को लंदन में ही किया जाएगा।
hindi.webdunia.com/…/लंदन-में-होगा-देव-आनंद-का-अंतिम- संस्कार-1111206114_1.htm
मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया…हर फिक्र को धुएं में उड़ाता चला गया…। वतन से इतनी दूर दक्षिण अफ्रीका के शहर डरबन की सड़कों पर यह गाना यूं बज रहा था मानो यह भारत का ही एक कोना हो। टैक्सी से लेकर कारों में यह गाना सुबह से शाम तक बजता रहा।
hindi.webdunia.com/…/देव-आनंद-के-गाने-डरबन-में-गूंजे- 1111207109_1.htm
देव आनंद की पत्रिका में गुरु का बड़ा ही योगदान रहा। गुरु, सोचने की क्षमता, काम के प्रति ईमानदारी को देने वाला होता है और यदि लग्न में हो तो प्रभावशाली बना देता है। गुरु अपने ही नक्षत्र विशाखा में होने से फल में शुभता आ गई। | Dev Anand
hindi.webdunia.com/…/देव-आनंद-गुरु-ने-दिलाई-सफलता- 1110925094_1.htm
मि.प्राइम मिनिस्टर (2005) रिटर्न ऑफ ज्वेल थीफ (1996) गैंगस्टर (1995) सच्चे का बोलबाला (1989) स्वामी दादा (1982) लूटमार (1980) देस परदेस (1978) जानेमन (1976) वारंट (1975) प्रेम शास्त्र (1974) हीरा पन्ना (1974) जोशीला (1973) हरे रामा हरे कृष्णा (1972) तेरे
hindi.webdunia.com/देव…/देव-आनंद-फिल्मोग्राफी-1101027088 _1.htm
देव आनंद : फिल्मोग्राफी | Devanand, Dev Anand, List of Dev Anand films. Guide, Filmography, bollywood in hindi, bollywood news in hindi, movie update, hindi movies, movie news, hindi news portal, latest movie gossip, actress , hindi film, actors, hindi cinema, indian film, new film, film release, filmy gossip.
hindi.webdunia.com/…/देव-आनंद-फिल्मोग्राफी-1101027088_2. htm
Dev Anand Photo Gallery. Dev Anand photos and pictures – dev anand wallpapers, pics | Indian film star Dev Anand dies in London at 88 | Dev Anand, Dev Anand Photo Gallery, Dev Anand Wallpapers | Dev Anand Photo Gallery | Dev Anand Photos | देव आनंद फोटो | Dev Anand Photo … आगे पढ़ें.
newstoday.mywebdunia.com/tags/देव/
26 सितं 2009 देव आनंद, सदाबहार अभिनेता, चार्जशीट, नवकेतन इंटरनेशनल,Dev Anand, Evergreen Actor, chargesheet, Navketan International,नई दिल्ली। भारतीय सिनेमा के ‘ एवरग्रीन’ अभिनेता देव आनंद का मानना है कि
hindi.webdunia.com/news/news/national/0909/…/1090926075_1.htm
6 दिन पहले Dev Anand | Actor Dev Anand | Hindi Actor Dev Anand | Dev Anand Funeral | Dev Anand Cremation | Dev Anand Dies | Dev Anand Died | Dev Anand Passes Away | Dev Anand बॉलीवुड के सदाबहार हीरो कहे जाने वाले देव साहब का पिछले रविवार लंदन में निधन हो गया था।
newsonlive.mywebdunia.com/2011/…/dev_anand_funeral_today.html
Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: