३१ वाँ अन्तर्राष्ट्रीय एसओएस दिवस नेपालगन्ज में मनाया गया

नेपालगन्ज,(बाके) पवन जायसवाल, अषाढ,१२ गते ।
एस.ओ.एस.ने अपनी ३१ वाँ अन्तर्राष्ट्रीय दिवस विविध कार्यक्रमों के साथ भव्यतापूर्वक नेपालगन्ज में अषाढ १० गते को मनाया है ।
एसओएस बालग्राम अन्तर्राष्ट्रीय संस्थापक प्रोफेसर डा. हर्मन माइनर की जन्म दिन के अवसर पर एस.ओ.एस. ने विश्वभर अपनी वार्षिकोत्सव मनाते आ रहें है ।
उसी अनुसार उन की जन्म दिवस की अवसर पर एस.ओ.एस. युवालय नेपालगन्ज ने भी विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन करके दिवस मनाया है ।
संस्थापक स्वर्गीय प्रोफेसर डा. हर्मन माइनर की जन्म अष्ट्रिया की भोराल वर्ग में सन् १९१९ जुन २३ तारीख को हुआ था और उनकी निधन २६ अप्रेल १९८६ में हुआ था ।
संसार की सभी बालबालिकाए हमारी अपनी ही बालबालिकाए है” महान अवधारण और उद्देश्य की साथ डा. हर्मन माइनरले १९४९ में अष्ट्रिया में पहली बालग्राम स्थापना हुआ था और एस.ओ.एस. नेपाल में १९६८ में उन्हों ने नेपाल भ्रमण की क्रम में स्थापना किया था । मा बाप जिस के नही वह बालबालिकाओं की संरक्षण देकर उन लोगों का पालन पोषण, शिक्षा दिक्षा की साथ साथ उन लोगो. की मानसिक, शारीरिक तथा वौद्धिक विकास करते हुये उन लोगों की वैवाहिक जीवन में प्रवेश कराते हुये आ रहा है एस.ओ.एस. की नेपालगन्ज ने मात्र ८० लोगों को पारिवारिक वातावरण में संरक्षकत्व और पारिवारिक वातावरण प्रदान करते आया है ।
एस. ओ.एस. युवालय नेपालगन्ज की बेलासपुर में महिला छात्रावास रही और कारकादौ में पुरुषों के लिये युवालय सञ्चालन किया गया है । वहा आश्रित बालबालिकाए“ को विभिन्न शैक्षिक संस्था में अध्ययन कर रहें है । और कु लोग तो रोजगारी भी करते आ रहें है एस.ओ.एस. युवालय नेपालगन्ज के नायव निर्देशक तुलाराम विश्वास ने वह बात की जानकारी दी है । हरेक वर्ष हम लोगों २÷३ लोगों की विवाह करते आ आये है तुलाराम विश्वास ने बताया ।
कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि वरिष्ठ पत्रकार पूर्णलाल चुके ने सम्बोधन करते हुये कहा एस.ओ.एस. युवालय नेपालगन्ज को विभिन्न तरीके से सहयोग करने वाले संघ संस्थाए“ और व्यक्तियों को टोकन अफ लभ, एस.ओ.एस. प्रतीक चिन्ह की पीन और सम्मान–पत्र तथा तथा विभिन्न प्रतियोगिता में उ्रथम, व्दितीय र तृतीय स्थान हाँसिल गर्ने युवालयका बालबालिका र युवाहरुलाई प्रदान गर्नु भयो ।
उस अवसर पर प्रमुख अतिथि वरिष्ठ पत्रकार पूर्णलाल चुके ने कहीे राज्य ने बहन करनेवाली जिम्मेवारिया“ बहन करते आ रही है एस.ओ.एस. को विदेशी नागरिकों की मात्र सहयोग में निर्भर न होकर नागरिक स्तरों से भी सहयोग देकर एस.ओ.एस. की यह महान अभियान में सभी लोग से सहयोग करने के लिये अनुरोध किया और आत्मनिर्भर कराने के लिये सभी को सोंचना जरुरी है धारणा रखा था । स्वर्गीय महामानव डा. हर्मन माइनर की अवधारणा को जीवित रखने के लिये और निरन्तरता देने के लिये सभी लोगों की सहयोग आवश्क रही है बताया ।
इसी तरह महिला तथा बालबालिका कार्यालय बा“के की महिला विकास अधिकृत सुनिता केसी, जिला समन्वय समिति बा“के के कार्यक्रम अधिकृत शरद पौडेल न भी सहयोगियों टोकन अफ लभ प्रदान किया था ।
एस.ओ.एस. युवालय नेपालगन्ज के नायव निर्देशक तुलाराम विश्वास की अध्यक्षता में सम्पन्न कार्यक्रम में युवालय के बालबालिकाए“द्वारा रोचक एकल तथा नृत्य सामूहिक नृत्य प्रस्तुत कियें थे चर्चित गायक तथा पत्रकार प्रमोद डि.जी.ने आधुनिक और लोक गीत प्रस्तुत करके कार्यक्रम रोचक बनाये थे ।
सम्मानितों में बीर डेन्टल क्लिनिक नेपालगन्ज के दन्त विशेषज्ञ डा. आर. के. लामिछाने, नेपालगन्ज मेडिकल कालेज के बालरोग विशेषज्ञ डा. पियूश कनौडिया, व्यवसायियों में सन्तोष पौडेल, जयदेव अवस्थी, तनबीर जमाल हलवाई, जहागीर खान, भेरी नर्सिङ कालेज, नेपालगन्ज नर्सिङ कालेज, लर्ड बुद्ध नर्सिङ कालेज लगायत रहें थे ।
कार्यक्रम सञ्चालन कृष्टिना रावत और किरण गाहा मगर ने किया और नौरुपा वुढा ने स्वागत मन्तव्य व्यक्त की थी वह कार्यक्रम की वीच वीच में सा“स्कृतिक कार्यक्रम एस.ओ.एस. की युवा तथा बालबालिकाए“ ने गीत और नृत्य प्रस्तुत किये थे ।
नृत्य प्रस्तुत में केशर बुढा, नौरुपा बुढा, दीपा, नितु अधिकारी, सुशीला नेपाली, पुष्पा नेपाली, स्वस्तिक दर्माली, स्वेच्छा सिंह, तानिया सिंह, सुचिता, कल्पना, निशा, सपना लगायत लोगों ने सामूहिक और एकल नृत्य प्रस्तुत किये थे ।
मन्तब्य की क्रम में एस.ओ.एस.युवालय नेपालगन्ज के नायव निर्देशक तुला राम विश्वास ने कहा एस.ओ. एस. बाल ग्राम सुर्खेत से बि.सं. २०५२ साल से लेकर २०७४ अषाढ तक एस ओ एस युवालय नेपालगन्ज में स्थानान्तरण हुये युवा युवतियों की संख्या २ सौ ५० लोग रही है जिस मध्ये १ सौ ७० लोग इस संस्था से स्वालम्बन हो कर अपनी विभिन्न तरीके से स्वतन्त्र रुप में अपनी जीवन व्यत्तित कर रहें है ।
८० लोग युवा युवतियों ने एस.ओ. एस. युवालय नेपालगन्ज में संरक्षित रहीं है । विभिन्न तह में उच्च शिक्षा अध्ययन करते आ रही है युवालय के नायब निर्देशक तुलाराम विश्वास ने बताया । एस.ओ.एस. बाल ग्राम नेपाल की स्थापना दूसरी विश्व युद्ध पश्चात अभिभावक बिहिन हुुुये बालबालिकाए“ और उन लोगों की जीवन अन्धकारमय और दयनीय अवस्था देख कर प्रो.फेसर डा. हर्मन माइनर ने नही सह सका उन लोगों की पालन पोषण करना जरुरी है कहकर सोंच की साथ अष्ट्रेरिया की इमष्ट जगाह में सन् १९४९ में ३ सौ इष्ट्रेरियर डलर में स्थपना करने में सफल हुये थे । उन्हों ने यह सामाजिक कार्य को देखकर बिभिन ब्यक्तियों ने खुलें रुप में आर्थिक रुप में सहयोग करके उन की सपना को साकार करते हुये विश्वभकर ही एस.ओ.एस.की स्थापना किया ।
इसी तरह नेपाल में कहा जाय तो सन् १९७२ में पहली एस.ओ.एस. बालग्राम नेपाल की सानो ठिमी भक्तपुर में स्थापना करने में सफल हुये थे । इसी तरह क्रम बढ्ते गई हाल अभी नेपाल में ३७ परियोजनाए“ मार्फत एस.ओ.एस. बालग्राम नेपाल ने बालबालिकाए“ के लिये काम करते आ रही है ।
कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि पूर्णलाल चुके, अतिथि जिला समन्वय समिति बा“के के कार्यक्रम अधिकृत शरद कुमार पौडेल, नेपालगन्ज मेडिकल कालेज के बालरोग बिशेषज्ञ पियूस कनौडिया, महिला तथा बालबालिका कार्यालय बा“के की महिला बिकास अधिकृत सुनिता केसी, सेभ द चिल्ड्रिेन के बीरेन्द्र ठगुन्ना, बीर डेण्टल क्लिनिक नेपालगन्ज के दन्त बिशेषज्ञ डा. आर.के. लामिछाने, एस.ओ.एस.के सहयोगी मित्र सन्तोष पौडेल, अन्नपूर्ण पोष्ट राष्ट्रीय दैनिक के ब्यूरो चीफ सुरेन्द्र काफले लगायत लोगों ने अपनी अपनी बिचार रखा था ।
एस.ओ.एस.युवालय की नायब निर्देशक तुलाराम बिश्वास की अध्यक्षता में सम्पन्न कार्यक्रम में युवालय की सह निर्देशक मीना तुलाधर, क्भ्भ् परीक्ष में ८० प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले ५ छात्र–छात्राए“ को एक्सिलेन्ट एवार्ड और प्रवीणता प्रमााण–पत्र नरसिंग में बिशिष्ट श्रेणी लाने वाले ३ छात्राए“ को एक्सिलेन्ट एवार्ड और टोकन अफ लभ देकर सम्मान किया गया था । फूटबल, भलिबल, बसकेट, केरमबोर्ड और चेसखेल के बिजेताए“ को पुरस्कार की साथ साथ प्रमाण–पत्र बितरण किया गया था ।

उसी कार्यक्रम में एस.ओ.एस. को बिगत ५ वर्ष से निरन्तर सहयोग कररनेवाले दाताओं को पीन और टोकन अफ लभ देकर सम्मान किया गया था ।
ऐसे ही एस.ओ. एस.को मानबीय कार्य में सहयोग वाले नयें मित्रों को सदस्य होकर युवा युवतियों को सर्वागि¨ण बिकास करने वालों को पीन और सम्मान पत्र प्रदान करके सम्मान किया गया था ।
कार्यक्रम की अन्त्य में अध्यक्ष तथा एस.ओ.एस.युवालय के नायब निर्देशक तुलाराम बिश्वास ने समापन की समय पर प्रुखख अतिथि पूर्णलाल चुके, पत्रकार सुरेन्द्रकाफ्ले पवन जायसवाल, चर्चित गायक प्रमोद डिजी, चर्चित नृत्य निर्देशक नवराज सेवेदी लयायत लोगों टोकन अफ लभ और पीन प्रदान करके सम्मान किया था ।

loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz