item-thumbnail

आरक्षण : इंडिया वर्सेस इंडिया

0 July 9, 2011

बैनर : प्रकाश झा प्रोडक्शन्स, बेस इंडस्ट्रीज ग्रुप निर्माता : प्रकाश झा, फिरोज नाडियाडवाला निर्देशक : प्रकाश झा संगीत : शंकर-अहसान-लॉय कलाकार : अमिताभ...

item-thumbnail

कच्चे आम का हींग वाला अचार:
श्रीमती रीता झा

0 July 9, 2011

कच्चे आम का हींग वाला अचार सामग्रीः ५०० ग्राम कच्चा आम, एक टी स्पून हल्दी पाउडर, १/२ टी स्पून हींग पाउडर, १ टी स्पून लाल मिर्च पाउडर, २ टी स्पून सरसों...

item-thumbnail

समर एक्टिविटी आइडियाज:
दीक्षा गुप्ता

July 9, 2011

इन छुट्टयाँ में किए गए हर काम की स्क्रैपबुक बनाएँ । आपने पिकनिक एंजाँय किया हो या कोई कुकरी क्लास ज्वाइन किया हो, हर एक बात को अपनी स्क्रैपबुक में फोट...

item-thumbnail

ना बाबा ! ना बाबा !! बाबा नहीं बनना !!!:
मुकुन्द आचार्य

0 July 9, 2011

बुढापे में यह काया अपनी माया खूब दिखाती है । कभी कान दर्द, कभी दाँत दर्द कभी घुटनों में दर्द, कभी कमर दर्द, कभी पेट दर्द, कभी पीठ दर्द-यानी दर्दों से ...

item-thumbnail

नेपाल-भारत सम्बंध :
वरुणमाला मिश्रा

0 July 9, 2011

विराटनगर । नेपाल के विकास के लिए भारत हर संभव मदद देता रहेगा । नेपाल से हमारा सम्बंध केवल भौगोलिक ही नहीं बल्कि आर्थिक व सांस्कृतिक भी है । आपको ऐसा म...

item-thumbnail

सशस्त्र संर्घष् से शान्तिपर्ण् राजनीति

0 July 9, 2011

हाल में गठित हुए मधेशी जनअधिकार फोरम गणतांत्रिक के अध्यक्ष जयप्रकाश गुप्ता जब पार्टर्ीीठन के बाद पहली बार मधेश का दौरा करने निकले तो उन्हें मिल रही जन...

item-thumbnail

मन की पीडा :
खिलानाथ ढकाल

0 July 9, 2011

उस रात हमलावरों के चंगुल से भागने का मौका ना मिला होता तो इस तरह से फिर कलम चलाने का मौका भी नहीं मिलता । मैंने तो जिन्दगी से हार मान ली थी और यह सोच ...

item-thumbnail

महिलाएं खूबसूरत और पुरुष हेंडसम बन सकेंगे

0 July 9, 2011

असंतुलित खान-पान और अन्य कारणों के चलते कई महिलाओं का शरीर पर्ूण्ा विकसित नहीं हो पाता है उनके लिए गोमुखासन काफी लाभदायक है । इस आसन के नियमित प्रयोग ...

item-thumbnail

लिंग अनुपात की समस्या:
मोहित कोचेटा

0 July 9, 2011

आज हमारे देश में विषम लिंग अनुपात की विकराल समस्या है । हम कहाँ जा रहे है क्या यह वही देश है, जहाँ नारी को देवी माना जाता है । फिर भी आज हमारे यहाँ ना...

item-thumbnail

ॐ में चमत्कारीय शक्ति छिपी है:
नन्दकिशोर शर्मा

0 July 9, 2011

हमारे प्राचीन वेद एवं पुराण जैसे ग्रन्थों में ç की महिमा या ओमकार के मन्त्र का बहुत बडा महत्व एवं शक्ति का उल्लेख किया गया है । आज सम्पर्ूण्ा विश्व मे...

item-thumbnail

बैंकों का गोरखधंधा

0 July 8, 2011

जल्द से जल्द अमीर बनने की होड में लगे संदिग्ध व्यापारियों को बैंक खोलने की इजाजत देने के कारण देश में गम्भीर वित्तीय संकट उत्पन्न हो गया है । इस समय प...

item-thumbnail

क्यों विफल हुए बाबा –
मनीषा सिन्हा

0 July 8, 2011

दो मुहिम, मकसद एक । जनमानस को उद्वेलित करने वाला पहला आंदोलन गांधीवादी अन्ना हजारे के नेतृत्व में भ्रष्टाचार के खिलाफ चला । शांति और सादगी से ओतप्रोत ...

item-thumbnail

बिहार व सिक्किम:
प्रदीप नेपाल

0 July 8, 2011

शासक वर्ग में जनता व राष्ट्र के प्रति र्समर्पण तथा काम करने की इच्छाशक्ति हो तो उनके लिए कुछ भी असंभव नहीं है । बिहार इसका सबसे ज्वलन्त उदाहरण है । कभ...

item-thumbnail

उच्च शिक्षामा भी.एस. निकेतनको योगदान

0 July 8, 2011

“गुणस्तरीय शिक्षामा समुन्नत राष्ट्र, सभ्य समाज अनि भावी पींढीको सुन्दर भविष्य निहित हुन्छ” भन्ने विषयलाई आत्मसाथ गरी राष्ट्रको शिक्षा विका...

item-thumbnail

देश के उत्कृष्ट १०+२

0 July 8, 2011

एसएलसी परीक्षा नतीजा प्रकाशित होते ही सभी विद्यार्थियों के लिए अच्छे १०+२ की तलाश होती है । छात्रों के साथ उनके अभिभावक भी इसी परेशानी में रहते हैं कि...

item-thumbnail

प्रजातंत्र और आतंकवाद:विनिता झा

0 July 8, 2011

प्रजातंत्र के लिए आतंकवाद एक बडा खतरा है। आज प्रायः विश्व के सभी देशों पर आतंकवाद की समस्या है । पिछले दो दशकों से नेपाल, भारत, पाकिस्तान अन्य सभी राष...

item-thumbnail

हिंसात्मक सोच से राजनीति पर दुष्प्रभाव:युवराज ज्ञवाली

0 July 8, 2011

सशस्त्र युद्ध से शांति प्रक्रिया में आई राजनीतिक  के कारण माओवादी में राजनीतिक, वैचारिक व नीतिगत समस्या विद्यमान है । उसकी राजनीतिक दिशाहीनता से ही मा...

item-thumbnail

लोकतन्त्र व शान्ति प्रक्रिया पर असर:अर्जुन नरसिंह केसी

0 July 8, 2011

नेपाली कांग्रेस, माओवादी को लोकतान्त्रिक मूल्य मान्यता व पद्धति में लाने के लिए लम्बे समय से प्रयासरत है । जनआन्दोलन के समय तत्कालीन सात राजनीतिक दल व...

item-thumbnail

गुट का नहीं पार्टी नेता चाहिए:हरिभक्त क“डेल

0 July 5, 2011

विधि सभी के लिए होना चाहिए । मानने वालों के लिए विधि और ना मानने वालों के लिए सबकुछ करने की छुट नहीं होनी चाहिए । बाबूराम जी के अल्मपत में रहे कई घटना...

item-thumbnail

तत्काल महाधिवेशन बुलाई जाए:राम कार्की

0 July 5, 2011

कम्यूनिष्ट पार्टी चलाने की विधि जनवादी केन्द्रियता है । इसमें बहुमत के निर्ण्र्को लागू करने तथा अल्पमत का कदर किये जाने की बात होती है । लेकिन हमारे प...

item-thumbnail

वैद्य पक्ष का प्रचण्ड पर १८ आरोप

0 July 5, 2011

माओवादी अध्यक्ष मोहन वैद्य किरण ने पार्टीअध्यक्ष प्रचण्ड पर १८ आरोपों की एक फेहरिस्त तैयार की है । प्रचण्ड के खिलाफ गए आरोपों को मोहन वैद्य ने पार्टर्...

item-thumbnail

अस्वस्थता अंतरसंर्घष् पार्टी लिए घातक:
मोहन वैद्य किरण’

0 July 5, 2011

कम्यूनिष्ट पार्टी भीतर अन्तरसंर्घष्ा चलना अनिवार्य परिघटना है । पार्टीने का मतलब ही विपरीत विचारों का एकतत्व है । जहाँ विपरीतों का एकत्व नहीं होता है ...

item-thumbnail

मतभेद कोई नया नहीं:
प्रचण्ड

0 July 5, 2011

तीनों नेताओं के बीच के संबंध में कटुता आ गई है । इसका असर पार्टर्ीीे निचले स्तर तक देखने को मिल रहा है । माओवादी का करीब से जानने वाले विश्लेषकों का म...

item-thumbnail

माओवादी बैठक पर विवाद का ग्रहण

0 July 5, 2011

आपसी गुटबन्दी और विवादों में उलझी माओवादी पिछले कई दिनों से ना तो स्थाई समिति, ना पोलिटब्युरो और ना ही केन्द्रिय किमटी बैठक ही कर पा रही है । पार्टर्ी...

item-thumbnail

माओवादी विवादःकितना दिखावा कितना सच:

पंकज दास

0 July 5, 2011

देश की सबसे बडी राजनीतिक माओवादी के भीतर इस समय आपसी या आंतरिक संर्घष्ा अपने चरम पर है । पार्टर् भीतर जिस तरह की गुटबन्दी चल रही है वह अब से पहले कभी ...

item-thumbnail

मधेश की आवाज भी सुनिए:

श्रीमन नारायण

0 July 5, 2011

शान्ति एवं संविधान देश में र्सवाधिक चर्चाका विषय बना हुआ है । संविधान तो समय पर बन नहीं सका एक वर्षका समय बढानेके वावजूद संविधान नहीं बना, फिर एक वर्ष...

item-thumbnail

संविधान निर्माण पर नकारात्मक प्रभाव:

लक्ष्मणलाल कर्ण

0 July 5, 2011

संवैधानिक समिति अर्न्तर्गत विवाद समाधान उपसमिति की एक बैठक में नए संविधान का नाम ‘नेपालको संविधान’ रखने पर सहमति हर्इ उस समय माओवादी नेता ...

item-thumbnail

निरणायाक मोड पर मधेशी मोर्चा:

जयप्रकाश गुप्ता

July 5, 2011

गत जेठ १४ गते हुए ५ सूत्रीय समझौते में मेधशी मोर्चा द्वारा हस्ताक्षर ना किए जाने के बावजूद इसको निर्ण्यक मोडÞ तक लाने में मोर्चा की भूमिका काफी अहम रह...

item-thumbnail

सम्पादक की कलम से…

0 July 5, 2011

शान्ति एवं संविधान देश में चर्चा का विषय र्सवांधिक महत्वपर् रहा है। फिर भी सभी पार्टर्वं वरिष्ठ नेताओं के बीच आपसी अर्न्तर्संर्घष् सत्तालिप्सा तथा देश...