item-thumbnail

चुनावी चुंगुल में नेपाल -रणधीर चौधरी

0 April 19, 2017

जैसे मधेशी मोर्चा अभी घोषित चुनाव का विरोध करने में लगे हैं, यहाँ तक ठीक है । मोर्चा समर्थकों का भी मानना है कि यह चुनाव छली और छन्दी है । मधेशवादी दल...

item-thumbnail

मधेश एक प्रयोगशाला : रणधीर चौधरी

0 February 17, 2017

  मधेशी जनता आज से ६० साल पहले भी नागरिकता के लिए लड़ते थे और आज भी नागरिकता के लिए अपना लहु बहा रहे सीके को अगर थोड़ी छूट दे दी जाती है तो स्थायी सत्...

item-thumbnail

छानबीन आयोग, कर्मकाण्डी साबित न हो ? -रणधीर चौधरी

0 January 14, 2017

एक प्रश्न है जो मेरे मन मे बार–बार उठता आ रहा है । क्यों इस आयोग ने मधेश के जिलों में एक भी हेल्प डेस्क नही रखा उजुरी संकलन के लिये ? क्या मधेश मे इन्...

item-thumbnail

संशोधन की राजनीति : रणधीर चौधरी

2 December 25, 2016

ओली  अपने “पड़ोसी मालिक” को खुश करना चाहते थे । ये अलग बात है कि सीमांतकृत वर्गों का स्वार्थ भी उस संशोधन से जुड़ा हुवा था । आज एमाले चाहे जितनी गालियाँ...

item-thumbnail

मेरा कर, मेरी सड़क में निवेश करो

0 September 17, 2016

सुनने में शायद थोड़ा अलग लगे परंतु सच्चाई यह है कि अगर मधेश के सड़कों का आधुनिकीकरण नहीं किया गया तो मधेशी युवा पीढ़ी का ध्यान अलग थलग होने से कोई नहीं र...

item-thumbnail

किंग ऑफ द रिंग

0 August 25, 2016

शायद प्रचण्ड भूल गए थे कि नेपाल में मानव अधिकार संस्थाओं का अघोषित मालिक एमाले पार्टी ही है ।  एमाले निकट वकीलों का काम है द्वन्दकालीन मुद्दों को जीवि...

item-thumbnail

ऐसा देश है मेरा

June 27, 2016

कोई भी “टेसन” (स्टेसन) लगाता हँु रेडियो पर उन्हीं के बारे मे समाचार सुनने को मिलता है और यही कारण है कि मैंने आजकल समाचार सुनना कम कर दिया है । पूछने ...

item-thumbnail

नया शक्ति और सन्देह के बादल

April 27, 2016

रणधीर चौधरी :विवादित संबिधान निर्माण के वक्त डा. बाबुराम भट्टराइ को राजनीतिक संवाद तथा सहमति समिति का जिम्मेदारी सौपी गयी थी । भट्टराई एक क्षमतावाण ने...

item-thumbnail

राप बाकी ताप बाकी

March 19, 2016

जाते जाते तथाकथित बडेÞ दल के नेता और मधेशबादी दल के नेतागण को इतना ही कहना चाहुंगा— हर राजा को अपने आस पास कुछ ऐसे लोगो को रखना चाहिये जो “ आइना” हो ।...

item-thumbnail

नेपाली कांग्रेस और मधेशः एक झलक

February 13, 2016

रणधीर चौधरी :नेपाली राजनीति गलियाराें में नेपाली कांग्रेस की तेरहवी महाअधिवेशन की चर्चा ने नेपाली राजनीति के बहुत सारे आयामों को ढक कर रख दिया है । चा...

item-thumbnail

अख्तियार से आस

January 14, 2016

रणधीर चौधरी :राजनीतिक उथल पुथल के इस दौर में जहाँ सत्ता सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने के लिए दिनरात एक किए हुए है और नेपाल की आम जनता की परेशानियों से आँखे ...

item-thumbnail

देर न हो जाय कहीं

December 17, 2015

रणधीर चौधरी :इस संविधान के निर्माण से पहले नेपाल छः संविधानों के विधान से गुजर चुका है । हरेक संविधान निर्माण के बाद यही कहा गया कि— यह संविधान दुनिया...

item-thumbnail

नेपाल के गतिरोध को कैसे हटाया जाय

November 13, 2015

राकेश सूद:नेपाल में संविधान घोषणा को एक महीने से ज्यादा हो गए हैं । संविधान आना था और आया भी, लोगों ने राहत की साँस भी ली । यह सोच कर की चलो सात वर्ष ...

item-thumbnail

नेपाल में कम्युनिस्टतन्त्र

0 October 12, 2015

रणधीर चौधरी:पाठकों से मेरा अनुरोध है कि कृपया “कम्युनिस्टतन्त्र” को किसी शब्दकोष में ढूँढने का प्रयास ना करें । क्योंकि यह तन्त्र अभी अपना प्रभाव बनान...

item-thumbnail

कुलीनतंत्र का “कू”

0 August 21, 2015

कुछ तर्क ऐसे होते हंै, जो सिर्फ तर्क ना हो कर सच्चाई होती है और हम उस सच्चाई को भी नकारने का प्रयास करते है । सन्दर्भ है खुद मेरा अपना । चन्द ही साल ह...

item-thumbnail

धराप में धारा १३८ : रणधीर चौधरी

0 July 17, 2015

यहाँ मैं उस धराप की बात नहीं करना चाहूँगा जो कि नेपाल में माओवादी द्वारा शुरु किए गए गोरिल्ला युद्ध के वक्त में देखा गया था । नेपाल मे आमुल परिवर्तन क...

item-thumbnail

प्याराडाइम सिफ्ट

0 June 15, 2015

अँङग्रेजी शब्द प्याराडाइम सिफ्ट के लिये हिन्दी शब्दकोष में “प्रतिमान विस्थापन” शब्द दिया गया है । जिसका सरल अर्थ इस प्रकार से समझा जा सकता है ।  “प्रत...

item-thumbnail

राहत का केन्द्रीयकरण : रणधीर चौधरी

0 May 31, 2015

कली खिलने न पाई थी, उपवन लुट गया अपना मै सोता रहा आलस में, धन लुट गया अपना । मैं विज्ञान का बिद्यार्थी नही हुँ । परंतु हाँ, विशुद्ध विद्यार्थी जीवन मे...

item-thumbnail

मधेसी आयोग पर एक नजर :रणधीर चौधरी

0 April 15, 2015

कहा जाता है कि हक मांगने से नहीं छीनने से मिलता है । कुछ इसी तरह, वि. सं. २०६७—१०—६ गते वकील सुनिल रंजन सिंह के द्वारा सुप्रीम कोर्ट में मधेसी आयोग गठ...

item-thumbnail

हर तरफ है धुआ“-धुआ“

0 February 16, 2015

रणधीर चौधरी:नेपाली पत्रिका पढÞने से ज्यादा आजकल सामाजिक संजाल में अपने आपको व्यस्त रख्ाता हूँ, ट्वीटर पर  कुछ ज्यादा ही । १८ जनबरी के दिन, नेपाल के एक...

item-thumbnail

मधेश, मानव अधिकार और मानसिकता

0 November 15, 2014

रणधीर चौधरी:मानव अधिकार हनन के लिए सिर्फमधेश की मिट्टी उर्वर है ऐसा कहना शायद उतना जायज नहीं होगा । समग्र नेपाल मंे मानव अधिकार हनन की घटना होती आ रही...

item-thumbnail

मोर्चा का मल्हार

0 September 5, 2014

रणधीर चौधरी:संबिधान सभा एक में अहम किरदार निभानेवाले माओबादी और मधेशी पार्टर्ीीो पीछे छोडÞते हुये दूसरे संबिधान सभा मंे कांगे्रस और एमाले एक सेफ मेज्य...

item-thumbnail

नेपाल, लैनचौर और मधेश

0 August 2, 2014

रणधीर चौधरी:सीके लाल द्वारा दिये गये विचारों को  एकत्रित कर तैयार किये गये पुस्तक मिथिला मन्थन को पढÞते वक्त उस किताब के अर्न्तर्गत एक शर्ीष्ाक ‘...