वक्त जो किसी का नहीं : श्वेता दीप्ति

12b294e9f8e615d95bc9f5e09d54da9fh (1)

वक्त जो किसी का नहीं
डा.श्वेता दीप्ति

वक्त जो किसी का नहीं है,
उस वक्त का इंतजार
करने से पहले
सोचो कि, क्या वक्त
तुम्हारा इंतजार करता है ?
वक्त रुकता नहीं
बल्कि बहा ले जाता है
अपने साथ हर पल को ।
इसलिए सिर्फ आज और आज
हमारा है, हम सबका है ।
जहाँ आने वाले पल का पता नहीं
वहाँ कल पर
आज को छोड़कर जीना
वक्त को अपने हाथों से
बह जाने देना है ।
पाने और खोने के बीच
सिर्फ यही पल है
जिसे चाहो तो संजो लो,
या फिर, बह जाने दो,
निरर्थक ।

 

loading...