समान शिक्षा की आवश्यकता – प्रकाश खण्डेलवाल

वीरगंज के विकास के लिए इसकी चुनौती क्या है ? सर्वप्रथम इसकी पहचान होनी जरुरी है । उसकेरु बाद ही हम लोरुरुग समग्र विकास केरुरु बाररुेरुरु मेरुरुं बात कररु सकतेरुरु हैरुंरु। सार्वजनिक डाटा केरुरु अनुसाररु दोरुरु नम्बररु प्रदेरुरुश मेरुरुं सब सेरुरु अधिक गररुीबी हैरुरु। इसकोरुरु कैरुसेरुरु कम किया जाए, इसमेरुरुं सोरुरुचना हैरुरु। विकास कोरुरु देरुरुखेरुरु तोरुरुं पूररुेरुरु पर्सा जिला मेरुरुं सिर्फ वीररुगंज मेरुरुं सडक हैरु, अन्य कहीं नहीं हैरुरु। यह यहां की सबसेरुरु बडरुी समस्रुया हैरुरु। इसीतररुह बोरुरुर्डररु का व्यवस्रुथापन भी सही ढंग सेरुरु नहीं होरुरु पा ररुहा हैरुरु। यह सब तोरुरु भौरुतिक पूर्वाधाररु औरुररु विकास संबंधी बातेरुरुं हैरुंरु। बाद ही हम लोग समग्र विकास के बारे में बात कर सकते हैं । सार्वजनिक डाटा के अनुसार दो नम्बर प्रदेश में सब से अधिक गरीबी है । इसकोरु कैरुसेरुरु कम किया जाए, इसमेरुरुं सोरुरुचना हैरुरु। विकास कोरुरु देरुरुखेरुरु तोरुरुं पूररुेरुरु पर्सा जिला मेरुरुं सिर्फ वीररुगंज मेरुरुं सडक हैरु, अन्य कहीं नहीं हैरुरु। यह यहां की सबसेरुरु बडरुी समस्रुया हैरुरु। इसीतररुह बोरुरुर्डररु का व्यवस्रुथापन भी सही ढंग सेरुरु नहीं होरुरु पा ररुहा हैरुरु। यह सब तोरुरु भौरुतिक पूर्वाधाररु औरुररु विकास संबंधी बातेरुरुं हैरुंरु। कैसे कम किया जाए, इसमें सोचना है । विकास कोरु देरुरुखेरुरु तोरुरुं पूररुेरुरु पर्सा जिला मेरुरुं सिर्फ वीररुगंज मेरुरुं सडक हैरु, अन्य कहीं नहीं हैरुरु। यह यहां की सबसेरुरु बडरुी समस्रुया हैरुरु। इसीतररुह बोरुरुर्डररु का व्यवस्रुथापन भी सही ढंग सेरुरु नहीं होरुरु पा ररुहा हैरुरु। यह सब तोरुरु भौरुतिक पूर्वाधाररु औरुररु विकास संबंधी बातेरुरुं हैरुंरु। देखे तों पूरे पर्सा जिला में सिर्फ वीरगंज में सडक है, अन्य कहीं नहीं है । यह यहां की सबसेरु बडरुी समस्रुया हैरुरु। इसीतररुह बोरुरुर्डररु का व्यवस्रुथापन भी सही ढंग सेरुरु नहीं होरुरु पा ररुहा हैरुरु। यह सब तोरुरु भौरुतिक पूर्वाधाररु औरुररु विकास संबंधी बातेरुरुं हैरुंरु। बड़ी समस्या है । इसीतरह बोर्डर का व्यवस्थापन भी सही ढंग से नहीं हो पा रहा है । यह सब तोरु भौरुतिक पूर्वाधाररु औरुररु विकास संबंधी बातेरुरुं हैरुंरु। भौतिक पूर्वाधार और विकास संबंधी बातें हैं ।
समाज के विकास के लिए तो शिक्षा सबसे अधिक मायने रखती है, लेकिन शिक्षा में भी पर्सा कमजोर है । सरकार की नीति होनी चाहिए कि निश्चित एक लेभल तक सभी को समान शैक्षिक गुणस्तर प्राप्त करे । कम सेरु कम एसएलसी तक हररुेरुरुक व्यक्ति की सोरुरुच एक होरुरु, शिक्षा नीति ऐरुरुसी होरुरुनी चाहिएरु। तभी आप देरुरुश औरुररु समाज विकसित कररु पाएंगेरुरुरु। यह बात सिर्फ वीररुगंज केरुरु लिए नहीं, पूररुेरुरु देरुरुश केरुरु लिए लागू होरुरुती हैरुरु। शिक्षा केरुरु लिए सररुकाररु केरुरु पास लम्बी प्लानिरु आवश्यक हैरुरु। कम एसएलसी तक हरेक व्यक्ति की सोच एक हो, शिक्षा नीति ऐसी होनी चाहिए । तभी आप देश और समाज विकसित कर पाएंगे । यह बात सिर्फ वीरगंज के लिए नहीं, पूरे देश के लिए लागू होती है । शिक्षा केरु लिए सररुकाररु केरुरु पास लम्बी प्लानिरु आवश्यक हैरुरु। लिए सरकार के पास लम्बी प्लानिङ आवश्यक है ।
इसीतरह वीरगंज में कई उद्योग हैं, लेकिन यहां जो युवा हैं, वह सब वैदेशिक रोजगार के लिए विदेश जाते हैं । हम लोग मजदूर नहीं पाते हैं । भारत से मजदूर मँगाना पड़ता है । उद्योरुगियोरुरुं केरुरु लिए यहां की यह एक बडरुी समस्रुया हैरुरु। इसीतररुह विकास अवरुद्ध होरुरुनेरुरु केरुरु पीछेरुरु भ्रष्टाचाररु ही प्रमुख काररुण हैरु, जोरुरु ऊपररु सेरुरु शुरु होरुरुती हैरुरु। कोरुरुई अच्छा काम कररुना चाहतेरुरु हैरुं तोरुरु वह भी ऊपररु सेरुरु ही शुरु होरुरुना चाहिए, इसकेरुरु लिए ररुाजनीतिक नेरुरुतृत्व जिम्मेरुरुदाररु हैरुंरु।गियों के लिए यहां की यह एक बड़ी समस्या है । इसीतरह विकास अवरुद्ध होने के पीछे भ्रष्टाचार ही प्रमुख कारण है, जो ऊपर से शुरु होती है । कोरुई अच्छा काम कररुना चाहतेरुरु हैरुं तोरुरु वह भी ऊपररु सेरुरु ही शुरु होरुरुना चाहिए, इसकेरुरु लिए ररुाजनीतिक नेरुरुतृत्व जिम्मेरुरुदाररु हैरुंरु।ई अच्छा काम करना चाहते हैं तो वह भी ऊपर से ही शुरु होना चाहिए, इसके लिए राजनीतिक नेतृत्व जिम्मेदार हैं ।
वीरगंज के विकास के लिए टुरिज्म भी एक आधार बन सकता है । यहा इसका स्कोप भी है, लेकिन हम लोग सदुपयोग नहीं कर पा रहे हैं । जैसे की यहां कई पोखर हैं, इस को व्यवस्थित करेंगे तो यह घूमने के लिए एक बहुत अच्छी जगह बन सकती है । इसीतरह हमारे यहां पर्सा बन्यजन्तु आरक्षण है, लेकिन वहां घूमने के लिए कोई भी भौतिक संरचना और व्यवस्थापन नहीं है । पदयात्रा केरु लिए थोरुरुडरुा सा व्यवस्रुथापन औरुररु आसपास होरुरुटल निर्माण किया जाएगा तोरुरु यह एक आकर्षक पर्यटकीय स्रुथल बन सकती हैरुरु। इसीतररुह सिम्रौरुनगढरु औरुररु बाल्मीकि आश्रम भी हैरुरु। उसमेरुरुं भी हम लोरुरुग कुछ कररु सकतेरुरु हैरुंरु। लिए थोड़ा सा व्यवस्थापन और आसपास होटल निर्माण किया जाएगा तो यह एक आकर्षक पर्यटकीय स्थल बन सकती है । इसीतरह सिम्रौनगढ़ और बाल्मीकि आश्रम भी है । उसमेरुं भी हम लोरुरुग कुछ कररु सकतेरुरु हैरुंरु।ं भी हम लोग कुछ कर सकते हैं ।

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
%d bloggers like this: