“संरक्षण” पिक्चर अभी बाकी है-स्नेहा झा

‘सिक्किम दुख्छ, दार्जिलिङ दुख्छ तर आफ्नै देशको मधेश दुख्दैन’


‘सिक्किम दुख्छ, दार्जिलिङ दुख्छ तर आफ्नै देशको मधेश दुख्दैन ।’ फेसबुक पर आजकल ये डायलाग बहुत ज्यादा दिखाई दे रहा है । बात चाहे सप्तरी में आई बाढ़ की हो,मधेश आन्दोलन की हो या फिर गोरखालैंड आन्दोलन की, इस डायलाग को इन हालातों से सम्ब४ कर के देखा जा रहना है । स्थानीय निकाय का निर्वाचन या फिर मधेश आन्दोलन, फेसबुक पर सक्रिय मधेशी युवा अक्सर हर घटना को इसी डायलाग के सहारे बयाँ करते नजर आ रहे हैं ।

यह डायलाग है श्रावण २७, अगस्त ११ को रिलीज होने वाली पुर्णेन्दु प्रोडक्सन्स की फिल्म ‘संरक्षण’ का ।
संरक्षण की सुटिङ खत्म हो चुकी है और अभी पोष्ट प्रोडक्सन और प्रमोशन का काम जोरशोर से चल रहा है । संरक्षण की पहली झलक के तौर पर पिछले साल की होली में फिल्म संरक्षण का होली का एक गाना रिलीज करके दिखाया गया था । लगभग दो साल पहले संरक्षण यह का गाना मार्केट मे आया था और तभी से इस फिल्म को ले कर नेपाली फिल्म इन्डष्ट्री में और खास करके मधेशी युवाओं में खासी दिलचस्पी देखी गइ है ।
फिल्म की पहली थिएट्रिकल ट्रेलर और दूसरा गाना आने के बाद तो जैसे मधेशी जन इस फिल्म के लिए बेताब से हो गए हैं । इसकी वजह है फिल्म के लेखक एवं निर्देशक पुर्णेन्दु झा का एक नया प्रयोग । झा ने फिल्म में एक गाना पूरा मैथिली भाषा में रखा है ।

यह ऐसी पहली नेपाली फीचर फिल्म है जिसका एक गाना मैथिली में है । वहीं होली का गाना मैथिली और नेपाली दोनाें भाषाओं में है ।
निर्देशक झा की यह प्रयोग तो मधेशी लोगों का दिल जीतने मे कामयाब हो ही गई, वहीं पर जो गैर मधेशी हैं उनके लिए यह प्रयोग स्वीकार्य होगा या नहीं यह अभी नही कहा जा सकता । वैसे अगर यु ट्युब पर रिलीज की गई मैथिली भाषा की आइटम नम्बर पर आई प्रतिक्रियाओं को देखें तो अधिक गैर मधेशी दर्शक इस से ज्यादा खुश नहीं दिखाइ देते । जबकि मधेशी दर्शक फिल्म को मधेशी पहचान देने के लिए निर्देशक झा की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं ।
इधर फिल्म का पहला थिएट्रिकल ट्रेलर रिलीज होने के बाद ट्रेलर मे रखे गए कुछ संवाद ने इस फिल्म को मधेशी दर्शकों के लिए मोस्ट अवेटेड बना दिया है । ज्यादातर मधेशी युवा संरक्षण के किरदारों और संवादों मे मधेश का हाल देख रहे हैं और इस वजह से भी फिल्म का बेसब्री से इन्तजार कर रहे हैं । वैसे संरक्षण के ट्रेलर को न सिर्फ मधेशी बल्कि पूरे देश की जनता का प्यार मिला है और ट्रेलर देखने के बाद मधेशी और गैर मधेशी दोनों समुदाय के लोग फिल्म को ले कर उत्साही हैं ।
संरक्षण पुर्णेन्दु प्रोडक्सन्स की पहली फिल्म है और निर्देशक झा की डेब्यु फिल्म । अपनी डेब्यु फिल्म मे ही नेपाल के दो सुपरस्टार निखिल उप्रेती और सौगात मल्ल को पहली बार एक साथ एक ही फिल्म में ला कर उन्होने एक करिश्मा तो कर दिखाया है । लेकिन इस के अलावा भी अपनी पहली ही फिल्म मे उन्होंने कई ऐसे कारनामे कर दिखाए हैं जिसे दिग्गज लेखक, निर्देशक और निर्माता कर दिखाने की हिम्मत नहीं करते ।
फिल्म के तीन निर्माता नरेन्द्र महर्जन, प्रदिप कुमार उदय और नन्दु श्रीवास्तव इन्डष्ट्री के जानेमाने निर्माता हैं । वहीं श्वेता शाह ने निर्माता के तौर पर संरक्षण से अपनी शुरुआती पारी खेली है । फिल्म के कलाकारों को देखा जाए तो झा ने एक से एक कलाकारों को लेकर फिल्म बनाई है । जहाँ निखिल उप्रेती, सौगात मल्ल, नीर शाह, रमेश बुढाथोकी नेपाली फिल्म इन्डष्ट्री के ही सुपर स्टार और दिग्गज कलाकार माने जाते हैं वहीं फिल्म में मिथिला और मधेश क्षेत्र के जानी मानी हस्तियाँ रमेश रञजन झा, प्रमोद अग्रहरी, कामेश्वर चौरसिया, नन्दु श्रीवास्तव, कलिम खान और कृष्ण सिंह जैसे कलाकार भी इस फिल्म के महत्वपूर्ण किरदार हैं । फिल्म में मलिना जोशी, अशिष्मा नकर्मी, श्वेता साह आदि अभिनेत्रियों को देखा जा सकता है ।
संरक्षण के अभिनेता से ले कर पर्दे के पीछे का हर शख्श नेपाली फिल्म इन्डष्ट्री में अपने अपने क्षेत्र के महारथी हैं । इन सारे महारथियों को एक ही पिक्चर में काम करवाना लोहे के चने चबाना जितना मुश्किल था । लेकिन पुर्णेन्दु झा ने वह भी कर दिखाया । इसके लिए उनको काफी लम्बा वक्त लगा ।
अपने पहले ही फिल्म को हाय बजट बनाकर लेखक, निर्देशक और निर्माण पक्ष भी देख रहे झा ने यह तो साबित कर दिया है कि वह नेपाली फिल्म इन्डष्ट्री मे एक महत्वाकांक्षी निर्देशक व निर्माता के रूप में आना चाहते हैं । लेकिन उन को और उनके काम को पब्लिक क्या रिस्पोन्स देती है और कितनी सराहना मिलती है यह अभी कहना मुश्किल है ।
वैसे अभी फिल्म का पहला ट्रेलर और दो गाने ही बाहर आए हैं । ऐसे में फिल्म के बारे में कोई ठोस राय नहीं बनाई जा सकती है । फिल्म के अन्य गाने और दृश्य आने बाकी हैं । उसके बाद फिल्म की स्टोरी पर से थोड़ा और पर्दा उठेगा । जिस तरह से हम लोग संरक्षण के बारे में सोच रहे हैं, क्या संरक्षण वैसा ही है या फिर कुछ और है, यह तो फिल्म के रिलीज होने के बाद ही कहा जा सकता है । फिलहाल संरक्षण के बारे में सिर्फ इतना कहना ठीक होगा की “पिक्चर अभी बाकी” है और इस पिक्चर पर से सस्पेन्स रुपहले पर्दे पर अगस्त ११ को हटेगा ।

 

Loading...

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz
%d bloggers like this: