item-thumbnail

कुछ घटनाएं और व्यक्तित्व

0 January 17, 2013

एमाओवादी और एमाले में विभाजन विघटित संविधानसभा में सबसे बडÞी पार्टर्ीीे रुप में रही एकीकृत नेकपा माओवादी इसी साल विभाजन की शिकार बनी। जिसका पहला कारण ...

item-thumbnail

सत्ता की धुरी में घूमती राजनीति

0 January 17, 2013

सभी कुर्सि पीछे जब सन् २०११ अन्त्य हो रहा था, उस के तीन महिना पहले डा. बाबुराम भट्टर्राई के नेतृत्व में बहुमतीय सरकार बनी। उसी समय से प्रतिपक्षी नेपाल...

item-thumbnail

चिन्ता सीमा सुरक्षा की

0 January 16, 2013

नेपाल-भारत की १७४७ किमी लम्बी खुली सीमा के बारे में बार-बार दोनों पक्षों के द्वारा कमजोरी के रुप में चित्रित किया जाता है। सन् १९५० की सन्धी के पश्चात...

item-thumbnail

नेपाल के चर्चित ९ थप्पड काण्ड

0 December 15, 2012

नेपाल में थप्पड खानेवाले पहले नेता प्रचण्ड ही नहीं हंै। इससे पहले भी बहुत नेता ऐसे थप्पडÞ खा चुके हैं। इसी तरह नेता तथा मन्त्री होकर भी कर्मचारी को थप...

item-thumbnail

मेलम्ची में चीन का धोखा

0 December 15, 2012

चीन के ठेकेदार ने एक बार फिर से अपनी दादागिरी का पर््रदर्शन करते हुए नेपाल के नियम-कानून एवं सुरक्षा पद्धतिको ठेंगा दिखा दिया है। मेलम्ची पेय पानी परि...

item-thumbnail

माओवादी के चक्रव्यूह में कांग्रेस

0 December 15, 2012

नेपाली कांग्रेस ने माओवादी पर  विश्वास कर  एक बडा धोखा खाया है । यह जानते हुए कि माओवादी इतनी आसानी से सत्ता छोडÞने वाले नहीं है फिर  भी कांग्रेस के श...

item-thumbnail

३०० करोड डाँलर की लागत से भगवान बुद्ध के लुम्बिनी में चीन का जासूसी अड्डा

0 December 15, 2012

रामाशीष:एक ओर धर्मकर्म विरोधी चीन के हान जाति के शासकों की अमानवीय यातनाओं से जान बचाकर हजारों बुद्धमार्गी तिब्बती अपनी जन्मभूमि छोडÞकर भाग रहे हैं और...

item-thumbnail

जरा इनकी भी सुनें…

0 December 14, 2012

मैं दश वर्षकी उमर में ही अच्छी कविता लिख लेता था । लेकिन मेरे दोस्तों को इस पर विश्वास ही नहीं होता था । इससे मुझे सुख और दुख दोनों होता था । दुःख इस ...

item-thumbnail

नेपाल के जनमानस पर “राम चरित मानस” का प्रभाव

0 November 10, 2012

नेपाल और भारत हिन्दू बहुल राष्ट्र हैं। यहाँ के अधिसंख्यक लोग हिन्दुत्व में विश्वास रखते हंै। हिन्दुत्व और हिन्दी में नख और मांस जैसा सम्बन्ध रहते आया ...

item-thumbnail

“कू” की साजिश रचते राष्ट्रपति

0 November 9, 2012

राष्ट्रपति की कू करने की खतरनाक योजना से एक बात तो साबित हो गई है कि नेपाल में अभी अभी आए लोकतंत्र से खतरे का बादल छंटा नहीं है और इसे बाल्य अवस्था मे...

item-thumbnail

सत्ता के चक्रव्यूह में संविधान

0 November 9, 2012

हिमालिनी डेस्क संविधान सभा के विघटन हुए ५ महीने हो गए लेकिन अभी भी दलों के बीच संविधान सभा पुनर्स्थापना या ताजा जनादेश में जाने को लेकर कोई भी सहमति न...

item-thumbnail

राष्ट्रपति की विवादास्पद भूमिका

0 August 31, 2012

हिमालिनी डेस्क इस समय राष्ट्रपति और सरकार के बीच संबंधों पर  सभी अपने अपने तरीके से विश्लेषण कर रहे हैं । सरकार द्वारा सिफारिश किए गए चुनाव से संबंधित...

item-thumbnail

सद्भावना पार्टी महासभाः समस्या निदान में कितना -यितेन्द्र शर्मा

0 August 4, 2012

काठमांडू। सत्ताधारी सद्भावना पार्टी द्वारा राजधानी काठमांडÞू के स्टाफ कालेज में अषाढÞ २९-३० गते को एक र्सवपक्षीय  महासभा का आयोजन किया गया। इस महासभा ...

item-thumbnail

पर्नर्वहाली की औचित्यहीन मांग

श्रीमन नारायण

0 August 4, 2012

या खुदा यह क्या माजरा है ! हम उनसे वफा की उम्मीद करते है जिन्हें मालूम नहीं बफा क्या है !! नेपाल की वर्तमान राजनीति की भी यही अवस्था है। संविधानसभा के...

item-thumbnail

संकटमोचक भूमिका में भारतीय राजदूत

0 August 4, 2012

हिमालिनी डेस्क चेहरे पर ओजस्विता, होठों पर मुस्कान, वाणी में शालीनता और र्सार्वजनिक रूप से हमेशा ही खुशमिजाज दिखना शायद उनकी फितरत सी बन गई है। आम तौर...

item-thumbnail

बलिउड के कलाकार विराटनगर में व्यस्त::-बरुणमाला मिश्रा

0 June 16, 2012

भोजपुरी फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ तथा नेपालीफिल्म ‘हामी एक हौं’ की शुटिंग के लिए विराटनगर पहुँचे बालीबुड के चर्चित कलाकार किरण...

item-thumbnail

साहित्य और राजनीति में एक निश्चित दूरी होनी चाहिए !

0 June 16, 2012

    साहित्यकार तेज प्रकाश श्रेष्ठ का जन्म सन् १९४७ जनवरी ६ को बैतडी में हुआ था, जहाँ इनके पिताजी रामबहादुर श्रेष्ठ एक सरकारी मुलाजिम थे। नेपाली साहित्...

item-thumbnail

सत्ता और कुर्सि राजनीति
प्रो. नवीन मिश्रा

0 June 15, 2012

नेपाली राजनीति का सफर राजतन्त्र से शुरु होकर प्रजातन्त्र का पडÞाव पार करते हुए गणतन्त्र तक पहुँच गया। लेकिन मधेशियों की स्थिति पर्ूववत् ही बनी रही। पर...

item-thumbnail

क्या हुआ तेरा वादा

रमेश झा

0 June 15, 2012

चिरप्रतीक्षित, ऐतिहासिक संविधानसभा के निर्वाचन में सम्पर्ूण्ा नेपालीजनता ने बड ही उत्साह से, शान्तिपर्ूण्ा तरीके से चुनाव सम्पन्न किया, जिसकी वैश्विक ...

item-thumbnail

नेपाल: बिना पिता के नागरिकता नहीं

0 June 4, 2012

BBC Hindi:नेपाल में नागरिकता प्रमाणपत्र किसी भी नेपाली आदमी के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है पर इसे पाना बड़ा ही कठिन है. एक अनुमान के मुताबिक दे...

item-thumbnail

नेपाल में नहीं बना संविधान, चुनाव की घोषणा

0 May 28, 2012

BBC Hindi:नेपाल में नए संविधान पर सहमति न बन पाने के बाद प्रधानमंत्री बाबूराम भट्टाराई ने नए चुनाव की घोषणा की है. उन्होंने इसके लिए 22 नवंबर की तारीख...

item-thumbnail

सत्ता के खेल में फंसा संविधान
लीलानाथ गौतम

0 May 11, 2012

संविधान निर्माण के मुख्य मुद्दे को एकओर हटाकर अचानक सरकार परिवर्तन के मुद्दे को आगे बढाते हुए राजनीतिक दलों ने अन्ततः नयी सरकार का निर्माण किया है। आग...

item-thumbnail

नेपाल में भारतीय भूमिका

कनकमणि दीक्षित

0 May 11, 2012

एक समय ऐसा था, जब नेपाल के राजनीतिक लोग भारत के राष्ट्रीय व्यक्तित्व के साथ कन्धे से कन्धे मिलाकर राजकाज के सर्न्दर्भ में विचार-विमर्श करते थे। पर आज ...