item-thumbnail

जबरन चुनाव हुआ तो आक्रोश की चिंगारी पराकाष्ठा में पहुंचेगी : सुरेन्द्र महतो

0 February 19, 2017

चुनाव बंदूक की नाल पर भी करबाया जा सकता है जैसे राजा ज्ञानेन्द्र के कार्यकाल में हुआ था । उस समय मधेश में वोटिंग हुआ था और वोटिंग का अनुपात भी ज्यादा ...

item-thumbnail

रंजीत रायजी मालवीय मिशन को आगे बढ़ाने में प्रयत्नशील रहे : विष्णुहरि नेपाल

0 February 18, 2017

ष्णुहरि नेपाल,काठमांडू, १८ फरवरी | राजदूत का पद असाधारण होता है । उन्हें दोनों तरफ की भूमिका निभानी पड़ती है । प्रथमतः सरकार जो निर्णय करती है, उसे साव...

item-thumbnail

थोपा हुआ प्रयास देश को संवैधानिक संकट में धकेल सकता है : विनोद विश्वकर्मा

0 February 18, 2017

विनोदकुमार विश्वकर्मा,काठमांडू, १८ फरवरी | संविधान संशोधन व चुनाव प्रक्रिया को लेकर राजनीतिक सहमति बनाने की कवायद एक बार फिर गतिरोध का शिकार बनती दिख ...

item-thumbnail

जटिल परिस्थितियों को सुलझाने में रंजीत रायजी की अहम भूमिका रही : डॉ. शिवजी यादव

0 February 17, 2017

डॉ. शिवजी यादव, काठमांडू ,१७ फरवरी | भारतीय राजदूत रंजीत राय जी का कार्यकाल बहुत संतोषजनक रहा । मधेश आंदोलन के दौरान जिस तरह से विभाजित मानसिकता में य...

item-thumbnail

हिन्दी का प्रयोग पूरे नेपाल में होता है लेकिन इसे विरोध तथाकथित राष्ट्रवाद से झेलना होता है : कुमार सच्चिदानन्द

0 February 17, 2017

कुमार सच्चिदानन्द , वीरगंज ,१७ फरवरी | ११ फरवरी, रौतहट के झिंगुर्वा गाँव में एक मुशायरा का उद्घान करने के क्रम में प्रधानमंत्री प्रचण्ड ने सभा को न के...

item-thumbnail

रंजीत राय जी की देन सदैव स्मरणीय रहेगा : चन्दा चौधरी

0 February 16, 2017

चन्दा चौधरी, काठमांडू, १६ फरवरी | नेपाल में राजनीतिक उतार–चढ़ाव होने के बावजूद भी भारतीय राजदूत महामहिम रंजीत राय जी का कार्यकाल सराहनीय रहा । खासकर रा...

item-thumbnail

डा.राउत की गिरफ्तारी नेपाल के लोकतान्त्रिक मुल्क होने पर एक बड़ा सवाल ? रोशन झा

0 February 16, 2017

रोशन झा, १६  फरवरी,राजबिराज २०७३ माघ २० गते स्वतन्त्र मधेस गठबन्धन के संयोजक वैज्ञानिक डा. सीके राउत को नेपाल पुलीस द्वारा गिरफ्तार किए जाने से मधेस भ...

item-thumbnail

नेपाल राज्य ५ कारण बतादें कि मधेस नेपाल में क्यों रहे ? मुकेश झा

0 February 12, 2017

अब मधेसी जनता यह सोच रही है की जब खून बहाना ही है तो अलग प्रदेशके लिए क्यों, अलग देश के लिए क्यों नहीं बहाएं ? इस अलग देश बनाने के अभियान का सूत्रधार ...

item-thumbnail

मधेश को संचार से दूर रखना ही राज्य अपना राष्ट्रवाद समझता है : कैैलाश महतो

1 February 11, 2017

खुल्ले स्थान में सैकडों लोगों के सामने हुए सवाल जबाव का सही वार्तालाप बी.बी.सी जैसे शुद्ध और निष्पक्ष कहे जाने बाले विश्व प्रसिद्ध न्यूज कलेक्टर और मे...

item-thumbnail

मौजूदा हालात में चुनाव होना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन है : रानी शर्मा तिवारी

0 February 10, 2017

रानी शर्मा तिवारी, काठमांडू , १० फरवरी | मौजूदा संविधान संशोधन विधेयक में परिमार्जन की आवश्यकता है । खासकर प्रतिनिधित्व, नागरिकता की प्राप्ति तथा सीमा...

item-thumbnail

आन्तरिक उपनिवेशवाद के कुचक्र को निस्तेज करना होगा : नरसिंह चौधरी

0 February 9, 2017

नरसिंह चौधरी , काठमांडू , ९ फरवरी | यूं तो विश्व में दूसरे देश से आए लोगों के द्वारा राज्य व्यवस्था के माध्यम से मूल देश वासियों को ही नियंन्त्रित कर ...

item-thumbnail

पंजीकृत विधेयक को सहमति से पारित एवं चुनाव की घोषणा एक साथ हो : राजु विश्वकर्मा

0 February 7, 2017

राजु विश्वकर्मा, काठमांडू, ७ फरवरी | मधेशी व जनजाति पार्टियों की शिकायतों को मद्देनजर रखते सत्तारुढ़ दल ने अगहन १४ गते संविधान संशोधन विधेयक संसद सचिवा...

item-thumbnail

मधेशी व जनजाति पार्टियों की मांगें अविलंब पूरी करें : डॉ. ललन चौधरी

1 February 6, 2017

डॉ. ललन चौधरी, काठमांडू , ६ फरवरी | संविधान संशोधन विधेयक एवं चुनाव संबंधित मुद्दों को लेकर सियासी पार्टियां, प्रतिपक्षी दल, मधेशी व जनजाति पार्टियों ...

item-thumbnail

सिर्फ टोपी ही नेपाल की राष्ट्रीयता नहीं है : अब्दुल मोबिन खान

0 February 5, 2017

मैं नेपाली भाषा की इज्जत करता हूँ, लेकिन मैं नेपाली को भाषा मानने के पक्ष में नहीं हूँ । क्योंकि नेपाली की अपनी कोई लिपि नहीं है । हिन्दी की लिपि देवन...

item-thumbnail

मौजूदा संविधान जन के लिए, जन का संविधान नहीं बन सका : सीमा खान

0 February 4, 2017

सीमा खान, काठमांडू , ४ फरवरी | नेपाल में ऐतिहासिक रुप में संविधान सभा का चुनाव हुआ । हर जनता की आकांक्षा थी कि संविधान सभा के जरिये ‘जन के लिए, जन द्व...

item-thumbnail

कहीं पहाड़ और तराई की सीमा पर दीवार लगाने की नौबत न आए : कौसर शाह

0 February 3, 2017

कौसर शाह, काठमांडू, २ फरवरी | २०५४ साल से मुल्क में स्थानीय निकाय का चुनाव नहीं हो सका है । स्थानीय निकाय जनप्रतिनिधि विहीन होने की वजह से जनता को बहु...

item-thumbnail

कथनी और करनी में समानता होनी चाहिए : उर्मिला पांडे

0 February 2, 2017

उर्मिला पांडे, काठमांडू , २ फरवरी | देश में शिक्षा व जागरुकता बढ़ने के साथ ही महिलाओं की स्थिति पहले से बेहत्तर हुई है । उनकी सुरक्षा व सम्मान से जुड़े ...

item-thumbnail

थारू मधेसी हैँ, विशेष तथ्यों पर आधारित विशलेषण : रोशन झा

0 January 31, 2017

 रोशन झा, फरवरी, राजबिराज | आज मधेस के थारू सहित आदिवासी-जनजातियों को यह समझाया गया है कि तुम मधेसी नहीँ हो जब कि यह प्रमाणित तथ्य है कि मधेस एवं भीतर...

item-thumbnail

हमें पुल बनना चाहिए था, लेकिन पहाड़ बन जाते हैं : मिथिलेश कुमार सिंह

0 January 31, 2017

 मिथिलेश कुमार सिंह, काठमांडू , ३१ जनवरी | सन्दर्भः भारत के ६८वें गणतन्त्र दिवस भारत के साथ हमारा शाश्वत सम्बन्ध है । यह सम्बन्ध सदियों से रहा है और ब...

item-thumbnail

नेपाल के धार्मिक पर्यटकीय स्थलों को विकसित करना होगा : जीवनचन्द्र कोइराला

0 January 30, 2017

जीवनचन्द्र कोइराला, काठमांडू , ३० जनवरी | सन्दर्भः भारत के ६८वें गणतन्त्र दिवस नेपाल भारत के संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के लिए नेपाल के धार्मिक पर्यटकीय ...

item-thumbnail

नेपाल विकास के पथ पर तीव्रता के साथ आगे बढ़े : राम अवतार अग्रवाल

0 January 30, 2017

सन्दर्भः भारत के ६८वें गणतन्त्र दिवस, राम अवतार अग्रवाल, ३० जनवरी | भारत २६ जनवरी को अपना संविधान पाया था । भारत के अतिरिक्त जिन–जिन देशों में उनका रा...

item-thumbnail

जनता दासता की जंजीर को तोड़कर राज्य व्यवस्था में भागीदारी चाहती है : सुरेश गुप्ता

1 January 27, 2017

नेपाली भाषा को देश का औपचारिक भाषा सावित करने के लिए अन्य भाषा को दबाने का प्रयास किया गया है । जबकि नेपाल का आधी से अधिक आवादी बाला मधेश का बोलचाल और...

item-thumbnail

प्रचण्ड द्वारा मन्त्रीमंडल विस्तार रणनीति है या नियत मे खोट ? अमरदीप मोक्तान

0 January 21, 2017

अमरदीप मोक्तान , डाडा खर्क ,दोलखा, ८ माघ | प्रचण्ड सरकार द्वारा  पेश किया गया  संबिधान संसोधन पारित कराने की  रणनीति तहत प्रचन्ड ने  एक सिट  वाली  पार...

item-thumbnail

अपने अधिकार की प्राप्ति हेतु हम लड़ते रहेंगे : कौशल कुमार सिंह

0 January 20, 2017

काठमांडू, ७ माघ | विद्यमान संविधान में मधेशी पिछड़ावर्ग, आदिवासी जनजाति, दलित, मुसलिम का अधिकार संबोधन न होने की वजह से संघीय गठबंधन की असंतुष्टि रही ...

item-thumbnail

आत्महत्या ! रैप गायक किस मानसिक त्रासदी से गुजर रहा था कभी सोचा है ? बिम्मीशर्मा

0 January 20, 2017

बिम्मीशर्मा , वीरगंज,7 माघ |कोई जिदंगी से लाचार हो कर आत्महत्या करता है तो उसे संवेदना या सहानुभूति देने के बजाय सब उस मर चूके ईंसान की खिल्ली उडाते ह...

item-thumbnail

बलिदानी सभाको सफल बनाने हेतु मधेशी जनता को AIM का सलाम : श्यामसुन्दर मण्डल

0 January 18, 2017

ई. श्याम सुन्दर मण्ड,लहान,५ माघ | ‘लोकतन्त्र’ वर्तमान कालखण्ड में सर्वोत्तम राजनैतिक व्यवस्था व शासन प्रणाली है | अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता, ...

item-thumbnail

देश पुनः गृहयुद्ध की तरफ अग्रसर हो रहा हैं ः जिवछ यादव

0 January 17, 2017

नेपाल की राजनीति में विगत दो दशकों से उतार–चढ़ाव होता आ रहा हैं । इसका मुख्य कारण हैं बिदेशी शक्तियों का प्रभाब, बेरोजगारी, गरीबी, अशिक्षा, उत्पीडन, शो...

item-thumbnail

मधेशी गुलाम कैसे नहीं हैं, क्यूँ नहीं है ? ई. श्याम सुन्दर मण्डल

6 January 17, 2017

  ई. श्याम सुन्दर मण्डल, भारदह, १७ जनवरी  | (सत्य तथ्य पर एक विश्लेषण) … सन् १८१६ और सन् १८६० में बृटिस साम्राज्य और गोरखाली साम्राज्य के बीच हु...

item-thumbnail

मधेश में मानवाधिकार की स्थिति संतोषजनक नहीं है : दिव्य झा

0 January 16, 2017

नेपाली कांग्रेस की सरकार में गृहमन्त्री थे बामदेव गौतम । ४८ से भी ज्यादा मधेशियों की जानें गईं, शहीद हुए, लेकिन प्रतिफल शून्य हुआ । इसके बाद केपी ओली ...

item-thumbnail

हिन्दी भाषा मात्र नहीं अपितु विश्व-बन्धुत्व एवं मानव के लिए ज्योति-स्तम्भ है : जनार्दन मण्डल

0 January 15, 2017

प्रो. जनार्दन मण्डल, हिन्दी, अवकाश प्राप्त, रा रा ब कैम्पस ,जनकपुर, पुस2 गते ।  हिन्दी काम-काज व रोजी-रोटी की भाषा है | हिन्दी एक भाषा  मात्र नहीं है ...

item-thumbnail

जनसंख्या के आधार पर समानुपातिक प्रतिनिधित्व की व्यवस्था हो : इन्दिरा शाह

0 January 14, 2017

इन्दिरा शाह, काठमांडू, माघ, 1 गते | देश में लंबे अरसे से जारी आन्दोलन के पश्चात् प्रधानमन्त्री पुष्पकमल दाहाल ने अगहन १४ गते संविधान संशोधन विधेयक संस...

item-thumbnail

पृथ्वीनारायण शाह का एकिकरण से लेकर ओबामा का बहिर्गमन तक : कैलाश महतो

0 January 13, 2017

कैलाश महतो, परासी, १३ जनवरी | अनेकानेक छोटे बडे राज्यों में विभक्त भारतवर्ष को एकत्रित करने बाले अंगे्रजों के नाम पर भारतीय एकता दिवस क्यूू नहीं मनाया...

item-thumbnail

देश किसी की क्रीडास्थली नहीं है, हो भी नहीं सकती : पूर्व राजा ज्ञानेन्द्र

0 January 11, 2017

काठमान्डू ,पुस -२७ पूर्व राजा ज्ञानेन्द्र शाह ने राष्ट्र प्रति  की जिम्मेदारी से  खुद न हटकर जनता की इच्छा से नारायण हिट्टी दरबार छोडने की बात कही है ...

item-thumbnail

एक शाम हिंदी के नाम- बाक़ी काम तमाम : मुरली मनोहर तिवारी

0 January 9, 2017

मुरली मनोहर तिवारी, वीरगंज, ९ जनवरी । १० जनवरी को विश्व हिन्दी दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पै...

item-thumbnail

क्या है सिक्किमीकरण और फिजिकरण ? कैलाश महतो ( अपडेटेड )

2 January 6, 2017

कैलाश महतो, परासी, ६ जनवरी | क्या है सिक्किमीकरण और फिजीकरण ? पौराणिक कथा अनुसार ८वीं शदी में पदमाशम्भ (ऋणपोचे) नामक बौद्ध भिक्षु के सिक्किम भ्रमण और ...

item-thumbnail

टोपी जो सफेद बाल ही नहीं, अंदर की बेईमानी और भ्रष्टाचार भी छिपा देता है

1 January 3, 2017

टोपी जिंदावाद, ……. बिम्मीशर्मा, वीरगंज, ३ जनवरी |(व्यग्ंय) शरीर में कपडा पहनना उतना जरुरी नहीं है जितना टोपी पहनना । आखिर में ईस देश का दे...

item-thumbnail

विधेयक पारित होने से पूर्व कोई भी चुनाव स्वीकार्य नहीं : रेखा यादव

0 January 2, 2017

काठमांडू, १८ पुस । वर्तमान में नेपाल के नश्लवादियों ने देश को अनिर्णय का बंदी बना रखा है । पंजीकृत संशोधन विधेयक को अनिश्चितता एवं अन्यौलता में रखकर स...

item-thumbnail

संशोधन प्रस्ताव पारित नहीं हो सकता : पुण्य प्रसाद गौतम

0 December 31, 2016

काठमांडू, १६ पुस | नेकपा माले के पोलिटव्युरो सदस्य तथा युवा नेता पुण्यप्रसाद गौतम ‘विश्वास’ ने कहा है कि सरकार द्वारा संसद में पंजीकृत संविधान–संशोधन ...

item-thumbnail

क्या मधेश भारत में होगा विलय ? कैलाश महतो

3 December 30, 2016

मधेश ने जब जब राज्य में सहभागी होने की बात की, नेपालियों ने मधेशियों पर नेपाल को सिक्किमीकरण और फिजीकरण करने का आरोप लगाता रहा है । मधेश को भारत में म...

item-thumbnail

विपक्षी पार्टियां देश की राजनीति को भंवर में रखकर अपनी रोटी सेंक रही हैं : अर्जुन थापा

0 December 29, 2016

अर्जुन थापा, काठमांडू ,१४ पुस | संघीय गठबन्धन के ३ सूत्री सम्झौते के तहत दाहाल के नेतृत्व में सरकारी बनी है । उनमें से एक समझौता संविधान संशोधन करने क...

item-thumbnail

पिछला अनुभव वर्तमान समस्या अाैर भविष्य की चिन्ता : विकास प्रसाद लाेध

0 December 28, 2016

विकास प्रसाद लाेध,लुम्बनी, २८ दिसिम्बर |  (१) अनुभव विगत २५० सालाे की निरन्तर एक से एक शासन प्रणाली (निरंकुश राजतन्त्र, कठाेर राणातन्त्र, कुरुर जमिनदा...

item-thumbnail

सरकार कोई बीच का रास्ता निकाले, ताकि देश टकराव से बचे : विनोदकुमार विश्वकर्मा

0 December 28, 2016

विनोदकुमार विश्वकर्मा ‘विमल’, काठमांडू , २८ दिसिम्बर | सरकार आखिरकार राजी होकर मधेश और आदिवासी जनजाति पार्टीयों की सिकायतों के मद्देनजर वह संविधान में...

item-thumbnail

मधेश विरोधी पार्टियां राष्ट्रघात व राष्ट्र विरोधी प्रचार कर रही है : केशव झा

0 December 25, 2016

केशव झा (राष्ट्रीय मधेश समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव), काठमांडू, 25 दिसिम्बर | अगहन १४ गते संविधान संशोधन विधेयक संसद सचिवालय में पंजीकृत हुआ ...

item-thumbnail

पूर्व राजा ज्ञानेन्द्र द्वारा शक्ति परीक्षण का पासा विज्ञप्ति के रूप में : डा.मुकेश झा

0 December 24, 2016

डा.मुकेश झा , जनकपुर , २४ दिसम्बर | कड़ाके की ठण्ड में नेपाल की राजनीति में गर्माहट आई जब देशवासिओं के नाम पूर्व राजा ज्ञानेन्द्र ने विज्ञप्ति जारी किय...

item-thumbnail

मधेश आन्दोलन–खोदा पहाड, निकला चूहा : कैलाश महतो

1 December 23, 2016

कैलाश महतो, परासी, २३ दिसिम्बर | एक नर्सिङ्ग कर रही मधेशी लडकी कहती है, “म कुनै मधेशी केटीसँग डेरा लिएर सँगै बस्न सक्दिन । किनकी “ऐ अम्मा, हम जब घर आइ...

item-thumbnail

यूएमएल द्वारा बेतुकी प्रतिरोध नहीं होनी चाहिए : रामनारायण देव

0 December 22, 2016

रामनारायण देव (एडवोकेट, लेखक तथा राजनीतिक विश्लेषक), राजबिराज , २२ दिसिम्बर | सरकार द्वारा पंजीकृत संशोधन विधेयक एक सराहनीय कार्य है । विशेषकर मधेश की...

item-thumbnail

अधूरे संशोधन विधेयक में परिमार्जन की जरुरत : मनिष कुमार सुमन

0 December 21, 2016

मनिष कुमार सुमन, काठमांडू ,६ पूस  | मधेश जन–आन्दोलन देश को समावेशी बनने के लिए हुआ था । जन–आन्दोलन की मांग के तहत यह संशोधन विधेयक पूर्ण नहीं है । यद्...

item-thumbnail

“प्रदेश नही मिला तो देश के लिए लड़ेंगे” क्या हुआ यह वादा ? विकास प्रसाद लोध

1 December 19, 2016

विकास प्रसाद लोध,भैरह्बा ,१९ दिसिम्बर | वादा एक वन्धन है, जो इन्सानो को दुसरे इन्सान से सम्वन्ध तथा विश्वास स्थापना मे कारगर भुमीका अदा करता है। लेकिन...

item-thumbnail

देश “राष्ट्रीय जानवर” के प्रति कितना असंवेदनशील है

0 December 16, 2016

जनकपुर पूस १ गते मुकेश झा जनकपुर उपमहानगर पालिका के कांजी गृह में २ गाय का मृत्यु होना निश्चित ही उपमहानगरपालिका के लापरवाही को दर्शाती है। उपमहानगरपा...

item-thumbnail

लुम्बिनी मधेश का है, हम अखण्ड भाग्य चाहते हैं : कैलाश महतो

0 December 16, 2016

कैलाश महतो, परासी, १६ दिसिम्बर | राष्ट्र एक भावना होता है जो किसी विशेष संस्कृति से, संस्कार से, भाषा से, विचार से, सभ्यता से, पहिचान से, परम्परा से, ...

item-thumbnail

कोई भी मधेशी नेता देश का नदी, नाला नही बेचा फिर भी देशद्रोही क्यों ? मुरलीमनोहर तिवारी

0 December 15, 2016

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), वीरगंज , १५ दिसिम्बर | बहुत दिनों से संविधान संशोधन के बारे में बहुत कुछ हो रहा है। पूर्वाग्रही मीडिया इसे बढ़ा चढ़ा के दिखा र...

item-thumbnail

पत्रकारिता या जूताकारिता : बिम्मी शर्मा

0 December 12, 2016

बिम्मी शर्मा, बीरगंज , १२ दिसिम्बर | हमारे देश में जूते खाने और खिलाने का एक नया रिवाज शुरु हो गया है । जब खुद जूता खाते हैं किसी से तो यह बात इस तरह ...

item-thumbnail

संसोधन का समर्थन मधेसी मोर्चा के नियत पर शंका : डा. मुकेश झा

0 December 11, 2016

डा. मुकेश झा, जनकपुर,११ दिसिम्बर | जिस संसोधन प्रस्ताव से उत्पीड़ित समुदाय को कुछ नही मिल रहा हो उस संसोधन प्रस्ताव में सहमति जनाना और समर्थन करना मधेस...

item-thumbnail

अख्तियार की अख्तियारी और नेताओं की नेताबारी–दोनों फेल

0 December 9, 2016

कैलाश महतो,परासी, ९ दिसिम्बर | नेपाल के राजनीति में कुछ दिन अफरातफरी और भूचाल सी मची रही । कुछ दिनोंतक हर जगह लोकमान, हर तरफ लोकमान रहे । चाहे अनचाहे ...

item-thumbnail

नेपाल में महिला हिंसा की मौजूदा दशा : विनोदकुमार विश्वकर्मा

0 December 9, 2016

संदर्भ–महिला विरुद्ध के हिंसा उन्मूलन संबंधित अन्तर्राट्रीय दिवस, नेपाल में महिला हिंसा की मौजूदा दशा विनोदकुमार विश्वकर्मा ‘विमल’ ९ दिसिम्बर | नारी ई...

item-thumbnail

” फूटी आँखों से, जो सुहाता न था; आज उसी से, बिछुड़ने का ग़म है।”

0 December 7, 2016

 गंगेश मिश्र पाँच नम्बर से चार नम्बर वाले, पहाड़ी जिलों को अलग करने का प्रस्ताव क्या आया; इन तथाकथित राष्ट्रवादियों के सीने पर साँप लोटने लगा। मधेश आन...

item-thumbnail

सिंहदरवार बड़ा पागलखाना है, जहां ६०१ महा पागल बदंर की तरह कुछ न कुछ करते रहते हैं

0 December 7, 2016

    बिम्मी शर्मा,बीरगंज , ७ दिसिम्बर | पागलखाने में रह रहे पागलों से समाज और देश को जितना खतरा नहीं है उतना खतरा बाहर चलते फिरते सामान्य से दिखने वाले...

item-thumbnail

संविधानः संशोधन नहीं, कार्यान्वयन आज की आवश्यकता –लालबाबु पण्डित

0 December 3, 2016

काठमांडू, ३ दिसिम्बर |हि.स.नेकपा एमाले के नेता लालबाबु पण्डित ने कहा है कि संविधान संशोधन नहीं, उसका कार्यान्वयन आज की आवश्यकता है । हिमालिनी से हुई ब...

item-thumbnail

मधेशी हर हाल में नेपाली जोंक से अलग रहना चाहता है : कैलाश महतो

1 December 2, 2016

कैलाश महतो,परासी, २ दिसिम्बर | जीव तीन प्रकार के होते हैं ः स्वजिवी, श्रमजिवी और परजिवी । इन तीनों की अपनी अपनी खासियत और विशेषतायें होेते हैं । स्वजि...

item-thumbnail

सतरंज की पाशा बनी मधेशी मोर्चा, फिर से आन्दोलन की जिरह : विजेता चौधरी

0 November 29, 2016

विजेता चौधरी, अगहन १४ । सोमबार को अल्टिमेटम पूरा होने के बाद भी सरकार की तरफ से संविधान संशोधन प्रस्ताव दर्ता न होने पर गठबन्धन व मोर्चा ने तीब्र असंत...

item-thumbnail

जातपात के नाम पर सक्रिय हुए मधेश के जयचंद

0 November 28, 2016

सुजित कुमार झा एटलांटा, जॉर्जिया, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका हिन्दी में एक मुहाबरा है “जयचंद तुने देश को बर्बाद कर दिया, गैरों को लाकर हिंद में आबा...

item-thumbnail

मधेशियों के साथ रंग-भेद और अमानवीय विभेद क्यों ? रोशन झा

0 November 27, 2016

    रोशन झा, राजबिराज , २७ नवम्बर | दुनियाँ सत्य और न्याय के बलपर टिकी है | हर न्यायालय के वह तराजू और आँखों में पट्टी बांधे न्याय की देवी ख...

item-thumbnail

जश्न–संस्कृति का गणित,तीन महीने का उत्सव

0 November 24, 2016

विनोदकुमार विश्वकर्मा ‘विमल’ कुछ बातें स्वयंसिद्ध होती हैं, उन्हें प्रमाणित नहीं करना पड़ता । ऐसी ही बातों में एक बात यह है कि हम नेपाली मुलतः उत्सवधर...

1 2 3 5