item-thumbnail

नेपालगन्ज में साहू समाज बाके द्वारा होली मिलन तथा शुभकामना आदान–प्रदान

0 March 18, 2017

नेपालगन्ज (बाके), पवन जायसवाल, २०७३ चैत्र ५ गते । बाके जिला के नेपालगन्ज में साहू समाज बाके ने चैत्र ५ गते शनिवार को होली मिलन तथा शुभकामना आदान–प्रदा...

item-thumbnail

जानिए कब है 2017 की होली मनाने और होलिकादहन की शुभ मुहूर्त

0 March 11, 2017

११ मार्च ,आचार्य राधाकान्त शास्त्री जानिए कब है 2017 की होली मानाने और होलिकादहन की शुभ मुहूर्त । इस वर्ष २०१७ के होली में फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा रविव...

item-thumbnail

नेपालगन्ज में होली मिलन समारोह किया गया

March 23, 2016

नेपालगन्ज में होली मिलन समारोह किया गया नेपालगन्ज(बाँके) पवन जायसवाल, २०७२ चैत्र ९ गते । बाँके जिला के नेपालगन्ज में होली पर्व २०७२ के अवसर पर बाँके ज...

item-thumbnail

लोप होती होलैया प्रथा

March 23, 2016

लोप होती होलैया प्रथाविजेता चौधरी, जनकपुर चैत्र १० फागु पर्व में प्रतीकात्मक सन्देश ले कर गाँव घरों में सांगीतिक लहर लाने वाले होलैया प्रथा लोप होने क...

item-thumbnail

मध्या परिक्रमा की समाप्ति, जनकपुर लगायत के क्षेत्र में कल होली की रौनक

March 23, 2016

मध्या परिक्रमा की समाप्ति, जनकपुर लगायत के क्षेत्र में कल होली  की रौनकविजेता चौधरी, चैत्र १० जनकपुर मिथिला मध्यमा परिक्रमा आज विधिवत रूप से समाप्त हु...

item-thumbnail

हिमालिनी संग होली

0 March 3, 2012

हे हिमालिनी ! हे मेरी हेमा मालिनी ! तुझे शायद पता नहीं मैं तेरा आशिक हूँ ! दीवाना हूँ ! परवाना हूँ ! तुझ पे मरता हूँ ! महीने भर तेरा इन्तजार करता हूँ ...

item-thumbnail

होलि के खानाखाजाना

0 March 2, 2012

होली के लिये बनाये जानेवाले पारम्परिकरूपसेपकवानों में गुझियों मालपुआ, ठंर्डाई, खीर, कांजी वडÞा, पूरन पोली, दही बडÞा, दाल भरी कचौडियां, पपडÞी, आदि शामि...

item-thumbnail

समझो होली है

0 March 2, 2012

समझो होली है ऋषिकान्त उपाध्याय दिल से दिल जब मिले !! तो समझो होली है ! खिले प्रेम के फूल !! !! तो समझो होली है ! ‘रंग’ मेरा रंगीला मन है, ...

item-thumbnail

रंग-बिरंगी होली

0 March 2, 2012

हिंदुओं की होली में मुसलमानों के रंग रंगों के त्योहार होली पर राजस्थान में मुसलमानों की मनिहार बिरादरी के दस्तकार राजे-महाराजों को लाख के गुलाल गोटे उ...

item-thumbnail

कामोन्माद का पर्व

0 March 2, 2012

कामोन्माद का पर्वपुष्कर लोहनी (साहित्यकार) इतिहास देखकर कहा जाए तो होली की सुरुवात सातवीं शदी से हर्ुइ है। पर्व मनाने के पीछे विभिन्न रोचक पौराणिक कथा...

item-thumbnail

अवध की रसीली होली :- सच्चिदानन्द चौवे

March 2, 2012

ऋतुराज बसंत का सबसे रसीला प्रेम सौहादर््र भरा यह पावन पर्व है होली। पाश्चात्य देशों में वर्षमें केवल एक दिन ‘प्रेम दिवस’ मनाने का प्रचलन ह...

item-thumbnail

लो बसंत आया ! संत, कुसंत, असंत ! सभी पर छाया !-:मुकुन्द आचार्य

0 March 2, 2012

बसन्त सौर्न्दर्य की सीमा है। इसीलिए तो महाकवि कालिदास ने ‘ऋतुसंहार’ में कहा था- र्सव प्रिये ! चरुतरं वसन्ते ! स्वभावतः वसन्त से कला और साह...