Thu. Oct 18th, 2018

अवैध बिटक्वाइन गुप्त मुद्रा हिमाली जिला के दोलखा मे बनता है, फिर १ गिरफ्तार

काठमांडू, असोज २७ गते | विश्वका सबसे महंगा भर्चुअल मुद्रा (गुप्त मुद्रा) बिटक्वाइन हिमाली जिले के दोलखा मे बनता है इसका खुलासा नेपाल पुलिस के केन्द्रिय अनुसन्धान व्युरो (सिआइबी) ने किया है । नेपाल मे इस तरह का डिजिटल मुद्रा के रुप मे होनेवाली क्रिप्टोकरेन्सी के ब्यापार को सरकार ने पुर्ण रुप मे गैरकानुनी घोषणा किये  हुये है ।
राष्ट्रबैंक के विदेशी विनिमय व्यवस्थापन विभाग ने सावन २९ गते प्रेस विज्ञप्ती निकालते हुए क्रिप्टोकरेन्सी जैसे बिटक्वाइन भर्चुअल मुद्रा (गुप्त मुद्रा) का ब्यापार अवैध है इसलिए इस तरहका ब्यापार नही करनेके लिए सचेत किया था । राष्ट्रबैंक द्वारा सचेत करने के बाबजूद भी ब्यापारी इस ब्यापार को निरन्तरता दे रहे है ऐसा सिबीआई को पता लगने पर अनुसन्धान सुरु करने मे जुट गया । फल स्वरुप सिबाीआई ने पिछले हप्ते अवैध बिटक्वाईन के ब्यापार मे संलग्न ७ लोगो को गिरफ्तार किया था । उसी अनुशन्धान को सिबीआई निरन्तरता देते हुए बिहीबार को सिआइवी ने फिर से बिटक्वाईन के ब्यापार में संलग्न एक ब्यक्तिको गिरफ्तार किया । ब्यापार मे संलग्न काठमाण्डु भाटभटेनी के रहने वाले प्रशान्त प्रताप शाह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है ।

शाह हंङ्कङक से विटक्वाइन (माइनिङ) बनाने की मसिन नेपाल मे मगवा कर इसको बनाते आरहे सिबाईआई के एसपी जीवन श्रेष्ठ ने बताया ।
शाह हिमाली जिला दोलखा के किर्नेटार स्थित खिम्ती जलविद्युत आयोजन के नजदिक भिम बहादुर श्रेष्ठ के घर मे मकान किरायेपर लेकर बिटक्वाइन  बनाते रहे सिबीआई को पता चलने पर उनको गिरफ्तार किया गया था । शाह इलेक्ट्रिक के काम महिर है सिबीआई के अनुशन्धान से पता चला है ।
सिआइवी शाह के बिटक्वाईन बनाने के ठिकानो पर छापा मार कर बहुत से ईलेक्ट्रोनिक्स सामानो को जप्त किया गया है |  सिबीआई ने बिटक्वाइन को माइनिङ करने के लिए प्रयोग करनेवाला विटमेन माइनर २६ थान, विटम्यान पावर सप्लाई १५ थान, इन्टरनेट राउटर १ थान, भिडियो रेकर्डर १ थान, ट्रानेट नेटवर्क स्वीच २ थान और ल्यापटप १ थान लगायत के ईलेक्ट्रोनिक्स सामानो को कब्जे मे लिया है ।
बिटक्वाईन एक विश्वव्यापी डिजिटल तरिके से भुगतान करने वाला मध्यम है । ओपन सोर्स सफ्टवयर के रुप मे सातोसी नाकामोतो के नाम मे सन् २००९ में इन्टर्नेट मे बिटक्वाईनका प्रयोग सुरु हुआ । नेपाल मे इसका प्रयोग सन् २०१३ से शुरु हुआ । सन् २००९ में १० सेन्ट मे शुरु हुआ बिटक्वाईन का कारोवार हाल ४३९३ डलर तक पहुँचा है । चीन ,भारत , बंगालदेश लगायत के देशो मे क्रिप्टोकरेन्सी जसै अबैध ब्यापार के उपर प्रतिबन्ध लगाया है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of