Fri. Sep 21st, 2018

अाज लेंगे पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के रुप में इमरान खान शपथ

१८अगस्त

क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की शुक्रवार को नई पारी शुरू हो गई। वह पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री चुन लिए गए। नेशनल असेंबली में एकतरफा चुनाव में उन्होंने वरिष्ठ नेता शाहबाज शरीफ को हरा दिया। देश के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में इमरान शनिवार को शपथ ग्रहण करेंगे।

नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर ने एलान किया कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के चेयरमैन 65 वषर्षीय इमरान खान को 176 वोट जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी शाहबाज को मात्र 96 वोट मिले। नतीजों के एलान के बाद पीएमएल-एन के सांसदों ने इमरान के खिलाफ नारेबाजी की और सदन में विरोध प्रदर्शन किया।

आज लेंगे शपथ इमरान खान
पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में शनिवार को शपथ लेंगे। सरकार बनाने के लिए संसद के 342 सदस्यीय निचले सदन में कुल 172 वोटों की जरूरत होती है। मतदान अलग-अलग उम्मीदवारों के लिए बनी गैलरियों में सदस्यों के विभाजन के जरिए खुले में कराया गया। पीपीपी के सांसद अपनी सीटों पर बैठे रहे। जमात-ए-इस्लामी ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया।

पीएमएल-एन ने की अंतिम कोशिश
सूत्रों के मुताबिक शाहबाज शरीफ के पक्ष में मतदान के लिए पीपीपी को मनाने के लिए पीएमएल-एन अंतिम समय तक कोशिश करती रही। पीएमएल-एन के वरिष्ठ नेता व पूर्व स्पीकर अयाज सादिक भुट्टो के पास पहुंचे और मतदान से दूर रहने के फैसले में बदलाव के लिए उन्हें मनाते देखे गए। यहां तक कि शरीफ ने भी भुट्टो से बात की लेकिन सफलता नहीं मिली।

इमरान को इनका मिला समर्थन
मतदान के दौरान इमरान खान को मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (सात सीट), बलूचिस्तान अवामी पार्टी (5), बलूचिस्तान नेशनल पार्टी (4), पाकिस्तान मुस्लिम लीग (3), ग्रैंड डेमोक्रेटिक एलायंस (3), अवामी मुस्लिम लीग व जमोरी वतन पार्टी (एक-एक सीट) समेत छोटी पार्टियों का समर्थन मिला।

काली पट्टी बांधकर आए इससे पहले शाहबाज समेत पीएमएल-एन के सांसद
नेशनल असेंबली में पीएमएल-एन के सांसद हाथ में काली पट्टी बांधकर आए। 25 जुलाई को हुए आम चुनाव में कथित गड़बड़ी के विरोध में उन्होंने यह कदम उठाया। सत्र शुरू होने से पहले इमरान और शाहबाज ने एक दूसरे से हाथ मिलाया।

इस सप्ताह की शुरूआत में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर के लिए पीटीआई के उम्मीदवारों को क्रमश: 176 और 183 वोट मिले थे। 25 जुलाई को हुए चुनाव में पीटीआई को 116 सीटें मिली हैं। नौ निर्दलीय पार्टी में शामिल हो जाने से उसकी संख्या ब़़ढकर 125 पर पहुंच गई। महिलाओं के आरक्षित 60 में से 28 और अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित 10 में से पांच सीटें पीटीआई को मिलीं। इस तरह उसका कुल अाकड़ा 158 पर पहुंच गया।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of