Thu. May 23rd, 2019

आज मिथिलांचल के इस वर्ष का महत्वपूर्ण त्योहारों का अन्त

अंशु झा (मई, १२ काठमांडू)

आज रविवार को मिथिलांचल का महत्वपूर्ण त्योहार सप्ताडोरा तथा सूर्यदेव का व्रत (रैव) सौंपा गया है । सप्ताडोरा व्रत चैत महीना के प्रतिपदा तिथि अर्थात फगुआ से शुरु होकर बैशाख महीना के अन्तिम रविार को विसर्जन किया जाता है । इसमें गेहूं और सक्कर से पवित्रता के साथ प्रसाद तैयार किया जाता है । मिथिलांचल की महिलायें श्रद्धा और विश्वास के साथ डोरा ( धागा)का पूजन कर अपने बांह पर बांधती है ।
रविवार व्रत का आरम्भ अगहन महीना के प्रथम रविवार से होता है और बैशाख महीना के अन्तिम रविवार को विसर्जन किया जाता है अर्थात यह व्रत ६ महीने तक किया जाता है । मैथलानी बडे ही श्रद्धा और पवित्रता के साथ इस व्रत को करती है । इसमें सूर्यदेव को अर्घदान किया जाता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of