Thu. Apr 25th, 2019

आपके कुंडली मे मंगल ग्रह का प्रभाव : आचार्य राधाकृष्ण


मंगल ग्रह भूमि, सेना, पराक्रम और ऊर्जा का कारक होता है। जो लाल रंग का प्रतिनिधित्व करता है। इसी लिए इसे सौर मंडल का लाल ग्रह भी कहा जाता है। इसे मेष और वृश्चिक राशि का स्वामित्व प्राप्त है। वहीं मकर इसकी उच्च राशि तो कर्क इसकी नीच राशि कहलाती है। नक्षत्रों की बात करें तो मंगल ग्रह को मृगशिरा, चित्राएवं धनिष्ठा नक्षत्र का स्वामी कहा गया है।

ज्योतिष के अनुसार जिस जातक की जन्म कुंडली में मंगल ग्रह प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम या द्वादश भाव में बैठा हो तो यह स्थिति जातक की कुंडली में मांगलिक दोष बनाती है। इसी मंगल दोष के चलते व्यक्ति को विवाह में देरी या फिर विवाह से संबंधित अन्य प्रकार की रुकावटों का सामना करना पड़ता है। वहीं जब कुंडली में मंगल ग्रह का प्रभाव शुभ हो तो स्थिति में व्यक्ति निडर और ऊर्जावान होता है। ऐसे व्यक्ति न केवल स्वतंत्र रूप में अपना कार्य करते हैं, बल्कि किसी भी खेल में उसका प्रदर्शन दूसरों से कई गुना ज्यादा बढ़िया होता है।

मंगल ग्रह का 5 फरवरी 2019, मंगलवार को 23:57 बजे अपनी स्वराशि मेष में गोचर सुरु होकर 22 मार्च को शुक्रवार के दिन 15:20 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। मंगल का यह गोचर सभी 12 राशियों के जातकों के जीवन में सकारात्मक और नकारात्मक परिवर्तन लेकर आएगा। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि मंगल के इस गोचर का आपके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ सकता है ?
मेष :-
मंगल ग्रह आपकी राशि में गोचर करेगा और यह आपके लग्न यानि तनु भाव में गोचर करेगा। लग्न भाव से मंगल की उपस्थिति आपको ऊर्जावान रखेगी। गोचर के दौरान आपकी सेहत में सुधार देखा जा सकता है।
वृष :-
मंगल ग्रह आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेगा। मंगल के गोचर का प्रभाव आपके आर्थिक पक्ष को मुख्य रूप से प्रभावित करेगा। इस दौरान आपके ख़र्चे तेज़ी से बढ़ेंगे।
मिथुन :-
मंगल आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा। इस भाव में मंगल का गोचर आपके आर्थिक जीवन में मजबूती लेकर आएगा। इस अवधि में आपकी आमदनी में ज़बरदस्त इज़ाफा होगा।
कर्क :-
मंगल आपके दशम भाव यानि कर्म भाव में गोचर करेगा। कार्य स्थल पर आपके सफल प्रयासों को सराहा जाएगा। बॉस या फिर आपके सीनियर्स आपके कार्य की प्रशंसा करेंगे। इस दौरान पदोन्नति, वेतन बढ़ोतरी और आपके अधिकारों में वृद्धि होगी।
सिंह :-
मंगल ग्रह आपकी राशि से नौवें भाव में गोचर करेगा। आपको किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जाना पड़ सकता है। यह यात्रा कार्य के सिलसिले में या फिर यह धार्मिक यात्रा भी हो सकती है।
कन्या :-
मंगल ग्रह आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेगा। मंगल का गोचर आपके लिए परेशानियाँ पैदा कर सकता है। इसलिए मंगल की यह स्थिति आपके लिए थोड़ी चिंताजनक हो सकती है।
तुला :-
मंगल ग्रह का गोचर आपकी राशि से सप्तम भाव में होगा। मंगल का यह गोचर आपके वैवाहिक जीवन के लिए कम अनुकूल होगा। इस दौरान जीवनसाथी से मनमुटाव हो सकता है अथवा उनसे……
वृश्चिक :-
मंगल ग्रह आपकी राशि का स्वामी है। यह आपके छठे भाव में गोचर करेगा। इस भाव में मंगल की उपस्थिति आपके लिए कई मायनों में लाभकारी साबित हो सकती है। इस अवधि में आप अपने शत्रुओं…..
धनु :-
मंगल ग्रह आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेगा। इस दौरान धनु राशि के जातकों के संतान के स्वभाव में परिवर्तन देखने को मिल सकता है। उनके स्वभाव में गुस्सा देखा जा सकता है या फिर…..
मकर :-
मंगल ग्रह आपके चौथे भाव में गोचर करेगा। इस भाव से माता, वाहन, प्रॉपर्टी एवं सभी प्रकार के सुखों को देखा जाता है। इस अवधि में प्रॉपर्टी से जुड़े मामलों में आपको लाभ…..
कुंभ :-
मंगल का गोचर आपकी राशि से तीसरे भाव में होगा। इस अवधि में मंगल के प्रभाव से आपके पराक्रम में बढ़ोतरी होगी। आपका आत्म विश्वास बढ़ेगा और आप अपने कर्म क्षेत्र में……
मीन :-
मंगल ग्रह आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा। इस दौरान मंगल के प्रभाव से आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी और आपका आर्थिक पक्ष मजबूत होगा ।
महादेव की कृपा आप पर बनी रहे,
ईश्वर-आपकी प्रेरणा हैं, आप उनकी सर्वश्रेष्ठ रचना हैं,
अपने कौशल, समृद्धि, उदारता और ईश्वर को अपने लिए सबसे अधिक प्यार रखें,
आप मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण और खुश रहें , आपकी सफलता, मेरी कुशलता बनी रहे ,
हर हर महादेव ….
आचार्य राधाकान्त शास्त्री

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of