Tue. Sep 25th, 2018

कोइराला परिवार के ३ नेता मण्डीखट्टार में क्या कर रहे रहे ?

काठमांडू, १६ जनवरी । चुनाव में पराजित होने के बाद नेपाली कांग्रेस के भीतर तीव्र अन्तरसंघर्ष जारी है । अधिकांश नेताओं का कहना है कि पार्टी सभापति शेरबहादुर देउवा के कार्यशैली के कारण कांग्रेस चुनाव में पराजित होना पड़ा है । ऐसी ही अवस्था में कुछ नेताओं ने बहस शुरु किया है कि अब पार्टी नेतृत्व पुनः कोइराला परिवार में केन्द्रीत होना चाहिए । इसी बहस अन्तर्गत आज मंगलबार कांग्रेस महामन्त्री डा. शशांक कोइराला, सहित तीन प्रभावशाली नेताओं के बीच विचार–विमर्श हुआ है ।


पार्टी केन्द्रीय सदस्य सुजाता कोइराला निवास मण्डिखट्टार में सम्पन्न विचार–विमर्श को औपचारिक रुप में ‘परिवारिक भेटघाट’ कहा गया है । लेकिन जानकारों को मानना है कि यह सिर्फ पारिवारिक भेटघाट नहीं है, पार्टी की भावी रणनीति और कार्यदिशा संबंधी विषयों में भी वहां विचार–विमर्श हुआ है । नेतृ सुजाता निवास में महामन्त्री डा. शशांक कोइराला, नेतृ सुजाता कोइराला और नेता शशांक कोइराला सहभागी थे । यह तीनों को नेपाली कांग्रेस के अन्दर कोइराला परिवार से आनेवाले शक्तिशाली नेता माने जाते हैं ।
कोइरालात्रय का कहना है कि चुनाव में पार्टी पराजय होने के पीछे पार्टी संस्थागत रुप से आगे नहीं बढ़ना और नेतृत्व कमजोर होना ही प्रमुख कारण है । समाचार स्रोत ने कहा– ‘तीनों नेताओं को यह भी मानना है कि अब पार्टी की भावी नेतृत्व कोइराला परिवार से ही ढूढ़ना है । चुनाव से पूर्व और चुनाव के बाद भी कई बार पार्टी महामन्त्री काइराला ने कहा है कि वह पार्टी नेतृत्व के लिए तैयार है । लेकिन अभी आकर कुछ लोगों ने बहस शुरु किया है कि महामन्त्री शशांक नहीं, नेतृ सुजता को पार्टी नेतृत्व के रुप में आगे बढ़ना चाहिए ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of