Mon. Dec 10th, 2018

कोमल वली के कारण एमाले में बबाल

काठमांडू, २५ दिसम्बर । राष्ट्रीयसभा सदस्य में लोक–गायिका तथा संचारकर्मी कोमल वली को चयन करने के कारण नेकपा एमाले के कुछ नेताओं ने बबाल मचाया है । आलोचकों का कहना है कि वली राष्ट्रीयसभा सदस्य के लिए योग्य नहीं हैं । उन लोगों को यह भी कहना है कि प्रदेश और प्रतिनिधिसभा सदस्य चुनाव के कुछ ही दिन पहले वली राप्रपा छोड़कर एमाले प्रवेश की है, ऐसी दल–बदलु को इतना जल्द राष्ट्रीयसभा सदस्य बनाना नहीं चाहिए था ।
समाचार स्रोत के अनुसार उम्मेदवार चयन के लिए पार्टी अध्यक्ष केपीशर्मा ओली निवास बालकोट में सम्पन्न स्थायी कमिटि बैठक में सचिवद्वय विष्णु पौडेल और योगेश भट्टराई के बीच मारपिट की अवस्था सिर्जना हुई थी । उप–महासचिव घनश्याम भुसला और योगेश भट्टराई ने कोमल ओली के विरुद्ध ‘नोट अफ डिसेन्ट’ लिखे थे, उसके बाद सचिव पौडेल आक्रोशित हुए थे ।
समाचार स्रोत कहता है– ‘नोट अफ डिसेन्ट लेखने के बाद सचिव भट्टराई और उप–महासचिव भुसाल प्रति आक्रोशित होते हुए नेता पौडेल ने कहा– मैं ५ नम्बर प्रदेश का इन्चार्ज हूं । यहां मैं जो चाहता हूं, वह होता है । इस मामले में आप लोगों को बोलने का अधिकार नहीं है । उसके बाद दोनो पक्ष कें बीच हाथ हालाहाल होने की अवस्था आ गई ।’ उसके बाद सचिव योगेश भट्टराई ने भी पौडेल को कहा– ‘मैं भी जानता हूं कि किस का कनेक्सन कहां तक है । लोकमान कार्की से लेकर एनसेल प्रकरण में क्या–क्या हुआ है, सब हम लोग जानते हैं । उसका हिसाब हमारे पास है । एक दिन यह सब बाहर आ जाएगा ।’ ओली को राष्ट्रीयसभा सदस्य बनाने के कारण सिर्फ नेता ही विभाजित नहीं हुए हैं, एमाले कार्यकर्ता भी सामाजिक संजालों में आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of