Tue. Nov 20th, 2018

ज्यादातर दुसरें भाषा से नेपाली भाषा के अनुवाद किया हैं, सुधार के लिए संस्कृत का अध्ययन जरुरी


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, १५ जून ।

भाषाविदों ने नेपाली भाषा में सुधार के लिए संस्कृत के अध्ययन को जÞरूरी बताया है । नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान अंतर्गत अनुवाद विभाग द्वारा काठमांडू में आयोजित एक गोष्ठी में कवि वैरागी काइँला ने कहा कि अन्य भाषाओं से नेपाली में जितने अनुवाद हुए हैं, उसकी तुलना में नेपाली साहित्य का अन्य भाषाओं में कम अनुवाद हुए हैं ।

कार्यक्रम में अनुवाद विभाग की प्राज्ञ डॉ. उषा ठाकुर ने बताया कि अनुवाद के जÞरिए साहित्य के प्रसार का दायरा बढ़ता है । ये जानकारी हमारे संवाददाता ने दी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of