Tue. Sep 25th, 2018

डा. केसी की जीवन रक्षा के लिए कांग्रेस ने किया प्रस्ताव, संसद् बैठक अवरुद्ध

काठमांडू, ७ जुलाई । डा. गोविन्द केसी की जीवन रक्षा के लिए कहते हुए प्रमुख प्रतिपक्षी दल नेपाली कांग्रेस ने संसद् में जरुरी सार्वजनिक महत्व का प्रस्ताव दर्ज किया है, लेकिन उक्त प्रस्ताव कार्यसूची में न होने के कारण कांग्रेस ने शुक्रबार आयोजित संसद् बैठक वरुद्ध किया । कांग्रेस का कहना है कि चिकित्सा शिक्षा अध्यादेश विधेयक बिना परिमार्जन संसद् में पेश होना चाहिए । लेकिन उक्त प्रस्ताव कार्यसूची में ही नपड़ने के कारण शुरु में ही कांग्रेस सांसदों ने खड़ होकर संसद् अवरुद्ध किया । कांग्रेस नेता दिलेन्द्र प्रसाद बडू की ओर से संसद् में जरुरी सार्वजनिक महत्व का प्रस्ताव दर्ज हुआ है ।
पहिली बार संसद् अवरुद्ध होने के बाद सभामुख कृष्णबहादुर महरा ने कांग्रेस प्रमुख सचेतक बालकृष्ण खाँड को संसद् में बोलने का मौका दिया । संसद् में बोलते हुए नेता खाँड ने कहा कि डा. गोविन्द केसी की स्वास्थ्य अवस्था गम्भीर होता जा रहा है, इसीलिए उक्त विषय में सबसे पहले बहस होना जरुरी है । उन्होनें कहा– ‘नहीं तो सदन की कारवाही आगे नहीं बढ़ सकती ।’ नेता खाँड को जवाफ देते हुए सभामुख महरा ने कहा कि मन्त्री के साथ विचार–विमर्श कर उक्त विषय में निर्णय किया जाएगा, तत्काल के लिए संसद् की कारवाही शुरु होना चाहिए । लेकिन कांग्रेस सांसदों ने सभामुख का प्रस्ताव अस्वीकार किया और दूसरी बार शुरु संसद् बैठक में भी अवरोध जारी रहा । जिसके चलते सभामुख को संसद् बैठक ही स्थगित करना पड़ा । अगली संसद् बैठक आषाढ़ २५ गते के लिए तय है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of