Fri. Oct 19th, 2018

तराई मधेश कें महिलाओं नें किया जितीया का ब्रत, २४ घंटें तक रहेंगें ब्रतालु निराहार


हिमालिनी डेस्क
काठमांडु, २ अक्टुबर ।
तराई के जिलों में सोमबार से जितीया पर्व की शुरुवात हुई है । हर साल आश्विन कृष्णपक्ष सप्तमी से नवमी तिथि तक ये त्यौहार मनाया जाता है । इस त्यौहार में पति और सन्तान की सुख और शान्ति की कामना की जाती है ।
संघीय राजधानी काठमांडु लगायत के विभिन्न स्थानों पर विभिन्न कार्यक्रमों के साथ मनाया गया जितीया का त्योहार । साथ ही विभिन्न महिला से सम्बद्ध संघ संस्थाओं नें धूमधाम के साथ कार्यक्रम के आयोजन कर जितीया पर्व का शुभकामना अादान प्रदान किया था ।
संघीय राजधानी काठमांडू में अखिल नेपाल यादव महिला संघ, मैथिल महिला समाज, थारु महिला समाज, और देव महिला समाज नें विभिन्न स्थानों मे कार्यक्रम कर जितीया मनाया था । कार्यक्रम में जितीया पर्व के अवसर पर मरुवा के रोटी और माछ के भोजन का भी व्यवस्था किया गया था ।
त्यौहार के दूसरे दिन यानीकि अष्टमी तिथी के दिन ब्रतालु महिलाएँ २४ घंटों तक निराहार उपवास के साथ ही भगवान जितमहान की कथा सुनती है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of