Sat. Nov 17th, 2018

दलित को पानी देनेवाले वृद्ध को गांव से निकाल दिया गया

बाजुरा, १५ जुलाई । सामाजिक विकृति के रुप में रहे ‘नीच–उच जाति’ संबंधी मानसिकता के कारण ६ साल से एक परिवार गांव से बाहर होना पड़ रहा है । राजधानी दैनिक में प्रकाशित समाचार अनुसार बाजुरा जिला स्थित हिमाली गांवपालिका–२ नातिखोला निवासी जयलाल बुढा को वि.सं. २०६९ साल से गांव से बाहर किया गया है । उक्त घर में उस साल एक दलित ने पानी मांगकर पिया था, जो गांव के अन्य लोगों ने देख लिया ।


उसके बाद गांव में रहनेवालों ने बुढा को गांव से निकाल दिया । उन लोगों का कहना है कि बुढा ने दलित को पानी दिया है, जो नहीं देना चाहिए था । पीडित ६० वर्षीय जयलाल बुढा कहते हैं– ‘मुझें गांव से बाहर किया है, यहां तक तो ठीक ही है । लेकिन मेरे पुत्र भी हैं, उन लोगों भी गांव से बाहर किया है, इससे मन दुखता है ।’ उन्होंने आगे प्रश्न किया– ‘क्या किसी को पानी पिलाना पाप है ? अगर ऐसा है तो पुण्य क्या है ?’

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of