Fri. Dec 14th, 2018

धनुषा ट्राफिक का प्रशंसनिय कदम

जनकपुरधाम | पिछले कइ महिनो से प्रदेश २ मे सडक हादसा बढते ही जा रहा था । दिन प्रतिदिन सडक दुर्घटनाओ मे लोगो की मौत की भी खबर दर्द के साथ पढ्ने को मिलता आ रहा था । हला की यह सिलसिला खत्म नही हुवा है । परंतु कहा जाता है की कुशल नेतृत्व अगर ठान ले तो मुसकिल कुछ नही । जी हाँ । प्रदेश २ के अस्थाई राजधानी धनुषा के जनकपुरधाम के जिरोमाईल चौक पर एक रोज धनुष ट्राफिक के दफतर के ठिक सामने ट्राफिक प्रहरी का भिडभाड था । वहाँ वै लोग धनुषा के बिभिन्नन भागो मे कैसे सडक हादसा को न्यिुन किया जा सकता है उसके लिए रणनितिक हिसाब से गुफ्तगु कर रहे थे ।
कुछ ही महिने पहले धनुषा ट्राफिक के कमान्ड सम्हालने आए है ट्राफिक प्रहरी अधिकृत दिपेन्द्र शाह । हिमालीनी के प्रतिनिधी ने उनसे कुछ उत्सुकता रखा था, ट्राफिक अवस्था के बारे मे । बात करने पे पता चला की धनुषा ट्राफिक ने कुछ रणनितिक कदम बढाए है ।


सबसे पहले तो एक दर्जन से अधिक जनचेतना मुलक कार्यक्रम किया गया है । समाज के बिभिन्न क्षेत्रो मे । जैसे की । चालक के साथ, स्कुल एवं कलेज के बिद्यार्थियो के साथ, और पत्रकारो के साथ । स्कुबस का पार्किङ ज्यादातर फुटपाथ पे हि किया जाता था । और जनचेतना मुलक कार्यक्र के बाध यह सिलसिला का अन्त हुवा है । एक और सराहनिय निर्णय यह है की, जनकपुर से निकलने बाली गाडी निर्धारित दुरी के बाध चालक परिवर्तन करती है की नही ? रास्ते मे खाना खाने वक्तक मदिरा सेवन तो नही करते ? अगर एसा पाया गया तो यात्रु सिधा ९८५४०९००३० पे धनुषा ट्राफिक को खबर कर सकते है । और उसके बाध वैसी चालकको को कारबाई करने कि व्यवस्था ट्राफिक अधिकारी दिपक शाह के नेतृत्व मे किया गया है ।
ज्नकपुरधाम की अस्तव्यस्ता को मध्यनजर करते हुवे रामानन्द चौक से ले कर जानकी मन्दिर तक रोड के दोनो किनारे मे लगने बाली खुद्रा बजार को भी हटाया गया है क्यूँकी यह सडक जनकपुरधाम के अति व्यस्त्त सडक के रुप मे लिया जाता है, जनकपुर अंचल अस्पताल भी इसी बिच मे परती है ।
जैसे की हमे पता है लोग गौ पालन करते है । लेकिन अव्यवस्थित ढंग से । सडक पे लोग गाई को अनाथ के तरह छोड देते है । जिस के कारन भी जनकपुरधाम मे दर्जनो घटना घटित हो चुका है । इसको भी ट्राफिक अधिकृत शाह ने बारिकी से लिया और उपमहानगरपालिका से सम्नवय कर दर्जनो गाई धनी को कानुनी कारबाई के कठघरे मे ला दण्डित किया । नतिजन आज लोग सडक पे गाई÷चौपाया छोडने से डरते है । नतिजन उससे होने बाली घटना तो कम हुवा ही और ट्राफिक व्यवस्थापन भी अच्छा हुवा है ।


जैसे की हमे पता है आज के दिन मे ध्वनी प्रदुशन भी एक चुनौती का बिषय बना हुवा है । इस को मध्यनजर करते हुवे धनुषा ट्राफिक ने चार महिना पुर्व धनुषा पुर्व पश्चिम राजमार्ग के गणेशमाण चारनाथ नगरपालिका अन्र्तगत बिरेन्द्रबजार और पोर्ताहा एरिया को हर्न निषेधित क्षेत्र घोषणा किया गया और घटना से साबधान रहने के लिए बिभिन्न प्रकार की सचेतना मुलक बोर्ड भी लगाया गया है । वैसे ही हिमालीनी को यह भी जानकारी प्राप्त हुवा की जनकपुर ढल्केबर सडक खण्ड मे अधिक दुर्घटना होती थी । बर्षो से बिगडी परी सिसी टिभी क्यामरा को पुनः सन्चालन मे लाने का काम धनुषा ट्राफिक अधिकृत दिपक शाह ने किया है । और निरन्तर निगरानी भी करते है, वै स्वं ।
अन्त मे, दिपक शाह का मान्न है की सडक बिस्तार का काम तिब्र गती मे सरकार कर रही है । जिस्से सडक दुर्घटना बढने की सम्भावना है । इस परिस्थिती को मध्यनजर करते हुवे धनुषा ट्राफिक ने रोड डिभाइडर, बिभिन्न जग्हो पर ट्राफिक चेक पोष्ट रख्ने का काम का सुरुवात कर दिया है ।
जनकपुर संबादाता

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of