Fri. Oct 19th, 2018

नापी कार्यालय में सेवाग्राहीयों भटकना पड रहा है

nepalgunj boarderनेपालगन्ज , (बाँके जिला) पवन जायसवाल, भाद्र २४ गते ।
नेपालगन्ज के नापी कार्यालय में आने वाले सेवाग्राहीयों को कार्यालय के बाहर बैठने वाले लेखापढी ब्यवसायिओं के कारण इधर उधर भटकना पड रहा है ।
ट्रान्सपरेन्सी ईन्टरनेशनल नेपाल के सहयोग में बास द्धारा संचालित सदाचार तथा जवाफदेहिता प्रर्बद्धन परियोजना अन्तरगत भादौं २४ गते नेपालगन्ज स्थित नापी कार्यालय में किया गया अनुगमन में ऐसा दिखाइ पडा । नापी कार्यालय के प्रमुख अमीर प्रसाद न्यौपाने ने सेवाग्राहीयों के लियें सम्पूर्ण सेवा सुविधा तथा सोधपुछ के लियें कार्यालय ने ब्यवस्था किया और लेखापढी का नापी में कोई भी आवशयकता नही बताते हुयें ऐसा सिकायत हमारे पास भी आया है बताया ।
जिला नापी कार्यालय में दरबन्दी में रहे ५६ लोग कर्मचारियों मे से १२  कर्मचारी काज में बाहर गए है और ५ लोग छुट्टिया में रहे मिले । उधर कार्यालय में एक कर्मचारी का दरबन्दी रिक्त रहा है । कार्यालय के कुछ कर्मचारीयों विभिन्न स्थानों में फिल्ड में गयें हुयें इस लियें सुबाह से ही रहा हू प्रमुख न्यौपाने ने बताया ।
कार्यालय में सेवाग्राहीयों के लियें क्षतिपूर्ती सहित का नागरिक बडापत्र रक्खा हुआ मिला लेकिन बडापत्र कार्यालय का बरण्डा में रखने के कारण सर्बसाधारणों को स्पष्ट रुप में नही दिखाई पडता है, उधर कार्यालय के सूचना पाटी बाहर रक्खा है सिकायत पेटी भी रक्खा हुआ मिला ।
कार्यालय में सेवाग्राहीयों को अन्यौलता न हो और सहज रुप में काम हो इस उद्धेश्यों से   कार्यालय के झ्याल से सेवा प्रवाह करने का व्यवस्था मिला गया मिला इस के साथ किस जगाह से  किस गाविस का काम किस से होता है सो समेत स्पष्ट रुपों में मिला । कार्यालय के बारे में सेवाग्राहीयों को सिकमयत तथा अन्य सूचनाए“ के लियें नापी अधिकृत श्रीधर ढुंगाना को सूचना तथा सिकायत सुनने के लियें अधिकारी में तोका गया है ।
कार्यालय के कुल कर्मचारीयों मध्ये में ४ लोग मात्र महिला कर्मचारीयों का दरबन्दी रहा है  जिस में भी ३ लोग काज में गए  और एक मात्र नियमित कार्यालय में रहे मिले ।
कार्यालय में रक्खा गया सिकायत पेटी प्रत्येक १५ दिनों में खोला जाता है अभी तक सिकमयत कुछ भी पाप्त नही हुआ, नागरिक वडा पत्र बाहर रख्ने का जगाह न होने के कारण से भितर रक्खा थया है और बाहर रखने का ब्यवस्था जल्द ही करने का प्रमुख न्यौपाने ने प्रतिबद्धता किया । अनुगमन बास के उप–निर्देशक हेमराज भट्ट और कार्यक्रम संयोजक मन भण्डारी की उपस्थिति में हुआ ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of