Fri. Oct 19th, 2018

नीतीश और शरद यादव का मोदी पर पलटवार

पटना।। बिहार के नेताओं को नरेंद्र मोदी द्वारा जातिवादी कहना एनडीए के बड़े घटक दल जेडी(यू) नेताओं शरद यादव और नीतीश कुमार को नागवार गुजरा है। मोदी के बयान से नाराज नीतीश ने कहा है कि मोदी पहले अपने हालात को समझें फिर दूसरों पर बयानबाजी करें। शरद यादव ने भी मोदी पर हमला बोल दिया है। मगर, इसी बीच मोदी के सवाल पर नीतीश सरकार में ही टकराव सामने आ गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सार्वजनिक बयान के बाद स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे ने उनके विपरीत स्टैंड लेते हुए कहा है कि ‘नरेंद्र मोदी ने जो कहा, सही कहा।’

बिहार के मुख्यमंत्री ने हिंदी मुहावरे का सहारा लेते हुए कहा, ‘चलनी सूप को दूसे तो सही नहीं है।’ कड़े शब्दों में उन्होंने कहा, ‘मोदी पहले अपना घर देखें, बयानबाजी बंद करें। बिहार सब प्रकार की कमजोरियों, बीमारियों को पछाड़ते हुए आगे बढ़ चुका है और हम लोग दूसरों पर ज्यादा कॉमेंट नहीं करते।’ समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह ने भी इस मसले पर मोदी को घेरा है।

वहीं, एनडीए के संयोजक शरद यादव ने भी मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, ‘ जाति इस देश की हकीकत है। अच्छी है या बुरी, इस पर बहस की जा सकती है। मोदी को इतिहास की समझ कम है। कुछ राज्य भौगोलिक परिस्थितयों की वजह से बहुत पहले से विकसित हैं।’ उन्होंने कहा कि गुजरात किसी व्यक्ति की वजह से विकसित नहीं है, भौगोलिक कारणों से है।

जातिवाद मुर्दाबाद, हिंदूवाद ज़िंदाबाद!

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के महासचिव रामकृपाल यादव ने गुजरात के मुख्यमंत्री को पहले अपने गिरेबां में झांकने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि वह खुद साम्प्रदायिकता की आग भड़काकर सत्ता पर काबिज हुए हैं और लाशों पर राजनीति कर रहे हैं। ऐसे में वह दूसरों के बारे में क्या बोलेंगे।

कांग्रेस ने भी मोदी पर बगैर देर किए जवाबी हमला बोल दिया है। पीएमओ में राज्य मंत्री नारायण सामी ने साफ कहा है कि मोदी एक सांप्रदायिक व्यक्ति हैं। कांग्रेस नेता राशिद आलवी ने भी मोदी को चेताया है कि वह पहले अपने प्रदेश की चिंता करें।

गौरतलब है कि गुजरात के मुख्यमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम लिए बिना रविवार को राजकोट में कहा था कि पूरे हिंदुस्तान ने देख लिया है कि जो राज्य जातिवाद के जहर में उलझे रहे उनका क्या हाल हुआ। उन्होंने यह भी कहा था गुजरात को बिहार नहीं बनने देंगे।

नीतीश के मंत्री ने किया मोदी का समर्थन
एक तरफ गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर चौतरफा हमला शुरू हो गया है तो दूसरी तरफ नीतीश सरकार के अंदर भी इस मसले पर टकराव के हालात बनते दिख रहे हैं। नीतीश कुमार का बयान आने के बाद उनके एक मंत्री ने उनकी खुली मुखालफत करते हुए नरेंद्र मोदी का पक्ष लिया है। बिहार के स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा है कि मोदी ने जो कहा, सही कहा। उनके बयान में कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने कहा, यह ध्यान में रखना चाहिए कि मोदी ने जो कहा है वह आज के बिहार की बात नहीं है।

मोदी तो सांप्रदायिकता के पुजारी हैं: मुलायम
समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मोदी की बातों पर क्या कहा जाए, वह तो सांप्रदायिकता के पुजारी हैं। मुलायम ने यह बात तब कही जब उनका ध्यान मोदी के उस बयान की ओर दिलाया गया जिसमें मोदी ने कहा था कि जातिवादी राजनीति के चलते बिहार और यूपी जैसे राज्य पीछे छूट गए।
मुलायम सिंह ने कहा कि जातिवाद की राजनीति का सामाजिक न्याय की राजनीति से घालमेल करना सही नहीं है। जातिवाद की राजनीति करना एक चीज है और पिछड़े समूहों को विकास की मुख्य धारा में लाने की बात करना एक अलग चीज। उन्होंने कहा, हम पिछड़ों को न्याय दिलाने की बात करते हैं, लेकिन मोदी धर्म और संप्रदाय के आधार पर लोगों को बांटने की बात करते हैं।नवभारतटाइम्स.कॉम

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of