Wed. Nov 14th, 2018

नीलसागर वृद्धाश्रम को खाद्य सामग्री हस्तान्तरण

नेपालगञ्ज, (बाके) पवन जायसवाल, बैशाख १२ गते । बाके जिला के नेपालगञ्ज उपमहानगरपालिका वार्ड नं. ६ फुल्टेक्रा स्थित रहा नीलसागर बृद्धाश्रम में विक्रम सम्वत्–२०७५ नई वर्ष की शुभारम्भ के साथ विभिन्न संघसंस्था द्वारा नेपालगञ्ज में विविध कार्यक्रम का आयोजन किया था ।
उसी अवसर पर युनिभर्सल पीस फिडरेसन अन्तर्गत तङ्ग–इल मो–दो संघ नामक खेलकूुद सम्बन्धि संस्था द्वारा नेपालगञ्ज स्थित नील सागर वृद्धाश्रम में खाद्य सामाग्री हस्तान्तरण किया गया ।
खाद्य सामाग्री में चामल, दाल, आ“टा, तेल, चाउचाउ लगायत रही थी । एक कार्यक्रम की वीच युनिभर्सल पीस फिडरेसन पीस काउन्सिल के अध्यक्ष तथा पीस अम्बेसेडर तथा वरिष्ठ पत्रकार पूर्णलाल चुके ने आश्रम की अध्यक्ष सरिता खनाल को हस्तान्तरण किया था । वह अवसर पर आश्रम के निर्देशक अमन सुवेदी, आयोजक संस्था की सह– प्रशिक्षक सुश्री दीपा पुरी, प्रशिक्षक अशोक घिसिङ, भगत बहादुर धनुके लगायत लोगों ने कार्यक्रम में अपनी अपनी बिचार ब्यक्त किये थे ।
इसी तरह उसी संस्था ने नेपालगञ्ज कीं सडक में फेंका गया प्लाष्टिक संकलन करके और सडक सरसफाई कार्यक्रम की आयोजन किया गया था दीपा पुरी ने जानकारी दी ।
कार्यक्रम की शुभारम्भ करते हुये युनिभर्सल पीस फिडरेसन पीस काउन्सिल के अध्यक्ष तथा पीस अम्बेसेडर तथा वरिष्ठ पत्रकार पूर्णलाल चुके ने अपनी बिचारें में कहा नगर को सफा और स्वच्छ रखने के लिये सचेतना जगाने की उद्देश्य से आयोजित कार्यक्रम से सकारात्मक सन्देश मिलेगी मुझे आशा है ।
वह कार्यक्रम में आयोजक संस्था की सह प्रशिक्षक सुश्री दीपा पुरी, प्रशिक्षक अशोक घिसिङ, भगत बहादुर धनुके लगायत दो दर्जन यूवा युवतिओं ने हाथ में झाडू लेकरके जन चेतनामूलक सन्देश लिखा हुआ प्ले कार्ड की बैनर की साथ सरसफाई कार्यक्रम में सहभागी हुई थी ।
स्मरणीय छ, विश्वभर लोकप्रिय बन्दै गएको मार्सल आर्ट्स सम्बन्धि खेल तङ्ग–इल मो–दो संघ ने नेपाल में भी सफलता मिली है । कुछ वर्ष पहले मात्र यह खेल राष्ट्रीय खेलकूद परिषद में १ सौ २८ नम्बर में दर्ता हुआ है ।
तङ्ग इल मोदो संघ नेपाल (एकीकृत मार्सल आर्ट) की आयोजन में बीता चैत २५ गते से विश्वशान्ति तथा एकीकृत परिवार संघ नेपाल की राष्टी«य तालिम केन्द्र जोरपाटी में १ सौ २० दिन की प्रशिक्षण हो रही है । वह तालिम में सहभागी यूवा खेलाडिओं ने भी कार्यक्रम में सहभागी रहे थे संस्था की सह प्रशिक्षक सुश्री दीपा पुरी ने जानकारी दी ।
तालिम में सहभागी खेलाडियों को मार्सल आर्ट की अलवा अग्रेजी तथा कोरियन भाषा प्रशिक्षण, सरसफाई, सामाजिक उतरदायित्व, व्यक्तित्व विकास, बाढीपीडितों को राहत संकलन लगायत सामाजिक कार्य में समेत सहभागिता कराया जाएगा राष्ट्रीय तालिम केन्द्र के निर्देशक रुपसिंह भण्डारी ने बताया । उन्हों ने कहा खेलकूद स्वस्थ जीवन, अनुशासन, राष्ट्र की गौरव के लिये महत्वपूर्ण और देश की गहना और शक्ति है । नेपाल में दूसरी बार आयोजित प्रशिक्षण में पूर्व मेची से लेकर के पश्चिम महाकाली तक १ सौ ३० यूवा–युवतियों की सहभागिता रही थी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of