Tue. Oct 23rd, 2018

नेपालगन्ज- कोहलपुर सडक निर्माण सम्पन्न, पप्पु कन्सट्रक्सन द्वारा मध्यस्थता समिति में ५७ करोड ७० लाख का दावी

सडक निर्माण संम्पन्न के १८ महिना बाद भी पेमेंट नहीं होने का एएमआर पप्पु कन्सट्रक्सन जे.भी की सिकायत | सम्पूर्ण आयोजना एडिबी लगानी में संचालित  ।



नेपालगन्ज– कोहलपुर सडक  अंतर्गत राझा से रुरेडिया तक साढे १० कि.मि ठेक्का नं. STEP/ICB/NK/01 चेनेज 0+000 b]lv 10+500 सडक निर्माण काम के लिये एएमआर पप्पु कन्सट्रक्सन जे.भी और सडक विभाग ए.डि.बि बिच 29 march, 2013 में  सम्झौता हुई थी ।
इस काम के लिए जम्मा ४६ करोड में निर्माण का समझौता २०६९ साल १६ चैत में हुई थी | काम २०७० साल १३ बैशाख में सुरु किया गया | सम्झौता अनुसार निर्माण काम २०७२ साल १३ बैशाख में सम्पन्न होना चाहिए लेकिन ठेक्का डिजाइन में त्रुटी और सडक निर्माण क्रम में BOQ परिणाम से ज्यादा अतिरिक्त काम भी करना पड़ा |  नँया काम होने के वजह से भेरियसन के कारण थप काम करिब ३८ % थप काम सहित सडक विभाग ने इसका २०७३ साल १६ असार में म्याद एक्सटेंसन भी कर दिया |
उसी अनुसार २०७३ साल २० असार में कन्सलटेन्ट आईसिटी और फुलब्राईट जे.भी के  टिम लिडर हरिरमन थापा ने निर्माण सम्पन्न पत्र समय में ही काम सम्पन्न Taking Over certificate दिया था  । समयमै निर्माण सम्पन्न भई मर्मत, सम्भार अवधिको समयावधि २०७४ साल २० असार मा सम्पन्न भएको छ ।
सडक विभाग आयोजना निर्देशनालय अंतर्गत नेपालगन्ज कोहलपुर सडक निर्माण योजना एसियाली विकास बैँक एडिबी की लगानी में  नेपालगन्ज कोहलपुर सडक का निर्माण काम सम्पन्न होने के बाबजूद अभी तक उसकी भुक्तानी नही हुई है | सूत्र के अनुसार सडक निर्माण आयोजना से  ६ करोड ९० लाख रुपैया बिल  भुक्तानी और २ करोड ३० लाख रुपैया धरौटी लेना बांकी है  । उक्त भुक्तनी  १८ महिना से अभी तक नही होने के कारण  एएमआर पप्पु कन्सट्रक्सन जे.भी. ने नेपाल मध्यस्थता परिषद (नेप्का) में १० साउन से ३ सदस्यीय मध्यस्थता समिति गठनकिया गया है | निर्माण कम्पनी ने ६ करोड ९० लाख और धरौटी रकम २ करोड ३० लाख इसके साथ क्लेम रकम ५७ करोड ७० लाख लेने के लिये नेप्का के सहयोग में  दावी किया है ।


स्थानीय वासी के अनुसार समय पर ही काम सम्पन्न हुआ था बिजली का पोल हटाने में ही २ वर्ष लगा था फिर काम बहुत अचछा सम्पन्न हुआ है | इसके बाबजूद विभिन्न कारण दिखा कर इसका पेमेंट रोका गया है | स्पष्ट है इसमें आर्थिक प्रलोभन में आकर यह पेमेंट रोका गया है | सूत्र के अनुसार डिभिजन प्रमुख अर्जुन कुमार बम कई प्रकार के बहाना बाजी किया जा रहा है जिससे उनका मनसे ठीक नही दीखता है | उपभोक्ता के अनुसार काम कराकर भुक्तानी नही देने से सम्बन्धित निकाय संका के घेरा में है | इसपर जल्द ही कारबाई होनी चाहिए |

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of