Mon. Oct 15th, 2018

नेपालगन्ज में संयुक्त बाजार अनुगमन समिति व्दारा अनुगमन तथा निरीक्षण

paniनेपालगन्ज ,पवन जायसवाल, श्रावण १९ गते ।
बाँके जिला के नेपालगन्ज बाजार में संयुक्त बाजार अनुगमन समिति की टोली ने नेपालगंज के आधा दर्जन से अधिक पानी उद्योगों में आकस्मिक अनुगमन तथा निरीक्षण किया गया । जार और बोतलों के पानी का उपभोग ईस क्षेत्र मे बढते जा रहा है । इसलिये इसमे होने वाला कमी कमजोरियों को न्यूनीकरण करके आम उपभोक्ताओं के स्वास्थ्यों में कोइ असर नही परे इस उद्देश्य से ही यह काम किया गया है ।
अनुगमन के क्रम में नेपालगन्ज–५ गणेशपुर में रहा वाई. के.पानी उद्योग और खास कारकाँदौं गाबिस के श्रीजल पानी उद्योग ने खाद्य अनुज्ञापत्र लगायत के कानूनी प्रकृया पुरा न करके ही पानी बितरण करते आ रहा था । इस लियें बिक्री बितरण करने में हाल कारोबार करने के लियें रोक लगा दी गई है ।
इसी तरह वाई. के.पीने वाला पानी उद्योग ने भी १३ जार, श्रीजल पानी उद्योग से ५ जार, औद्योगिक क्षेत्र में रहा क्रिष्टीलो पानी उद्योग से २९ जार और कारकाँदौं स्थित मेगा पानी उद्योग से १६ जार और उद्योग के जार में गैर कानूनी रुप में पानी भरा हुआ मिला ६३ जार पानी अनुगमन स्थल में ही नष्ट किया गया । और उद्योगों के जार में गैर कानूनी रुप में पानी भरा हुआ ६३ जार को जफत किया गया है पानी उद्योगों को अनुगमन करने में रहे वाणिज्य कार्यालय नेपालगंज कार्यालय के प्रमुख गोविन्द प्रसाद पाण्डेय, क्षेत्रीय खाद्य प्रबिधि तथा गुण नियन्त्रण कार्यालय के खाद्य निरीक्षक पूर्णप्रसाद पौडेल लगायत संचारकर्मी और उपभोक्ताकर्मीयों की सहभागिता रही ।
इसी तरह अनुगमन समिति टोली ने नेपालगंज के ३ नरसिंग होम का आकस्मिक अनुगमन तथा निरीक्षण भी किया गया । अनुगमन के क्र्रम में नेपालगंज मेडिकल कलेज के नरसिंग होम ने सार्वजनिक रास्ता के पास १५ दिन पहिले से ही रहा कुडाओं को संचित न करके प्रदुषण बढाया और आकस्मिक कक्ष के झ¥याल और दरवाजाओं में जाली का प्रयोग ही नही हुआ तथा सरसफाई ब्यवस्थित तरीकाओं से नही मिला । आईतवार तक रास्ते के पास अगर कुडा नही हटाया गया तो १५ दिन के अन्दर में आकस्मिक कक्ष का दरवाजा में जाली लगाने के निर्देशन दिया ।
अनुगमन टोली ने नेपालगंज यूनाइटेड हस्पिटल तथा बिशेषज्ञ वाल हस्पिटल एण्ड रिसर्च सेन्टर समेत मे भी अनुगमन किया खिरकी और दरवाजा में जाली प्रयोग और सरसफाई ब्यवस्थित तरीके से रखने के लियें निर्देशन दिया ।
नेपालगंज के ए तीनों निजी अस्पतालों ने गरीव असहायों को निःशुल्क सेवा किया रेकर्ड रखना और प्रतिवेदन जिला जनस्वास्थ्य कार्यालय में भेजना, सेवा सुबिधाओं के बारे में जानकारी बोर्ड तथा बिमारियों का सिकायत सुनने के लियें अधिकारी की ब्यवस्था नही दिखाई दिया इस लियें १५ दिन के अन्दर ही कार्य ब्यवस्थित करने के लियें भी निर्देशन दिया गया है ।
निजी अस्पतालों को अनुगमन में जिला जनस्वास्थ्य कार्यालय बाँके के बरिष्ठ जनस्वास्थ्य प्रशासक जीवन कुमार मल्ल, जिला प्रशासन कार्यालय बाँके के प्रशासकिय अधिकृत बिष्णु साहानी, खाद्य नीरिक्षक पूर्ण प्रसाद पौडेल, नेपालगंज नगरपालिका के प्रतिनिधि रंजीत गिरी लगायत संचारकर्मी और उपभोक्ताकर्मी लगायत लोगों की सहभागिता थी । वाणिज्य कार्यालय नेपालगंज के प्रमुख गोविन्द प्रसाद पाण्डेय ने बताया ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of