Tue. Oct 23rd, 2018

नेपालगन्ज मे रामलीला द्धारा सकारात्मक संदेश

ram lilaaaनेपालगन्ज (बाँके) पवन जायसवाल, २५ गते ।
बाँके जिला के नेपालगन्ज बाजार में रामलीला के द्वारा सभी लोगों में सकारात्मक संदेश देने के लिए १ सौ ४६वाँ रामलीला मञ्चन का आयोजन किया गया है ।
मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम जैसे सभी लोगों में मानवीय व्यवहार और आचारण में परिर्वतन हो इसी उद्देश्यों को लेकर हरेक वर्ष में  नवरात्रा के अवसर पर १३ दिन तक निःशुल्क रुपमें समाज में सकारात्मक संदेश जायें इस लियें इस वर्ष भी रामलीला मञ्चन का आयोजन नेपालगन्ज के टण्डन राईस मील में किया गया है ।
असोज १९ गते घटस्थापना के दिन से शुभारम्भा किया गया विजयादशमी दशहरा के दिन नेपालगन्ज के रामलीला मैदान में भव्य कार्यक्रमों के साथ रावण का बध करके सम्पन्न होगा । करीब ६ लाख रुपैया में भारत मथुरा विन्द्रवन से आये हुये कलाकारों द्धारा रामायण पर आधारित विभिन्न धार्मिक कथा नाटक रामलीला हो रहा है ।
आज के जमाना में हरेक व्यक्ति अपने ही प्रगति और उन्नति में फसे है एक दुसरे पक्ष ऐसे भी उनको समाज के प्रति चिन्ता है । अभी के युवाओं पुस्तों में धर्म संस्कति क्या है कुछ भी पता ही नही है और  धर्म संस्कृति के बारे में रुची ही समाप्त हो गया है । समाज दिशा विहिन अवस्था में जारहा है इस लियें नाटक के द्वारा कुछ लोगों ने मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का आचरण अपने में लायें हम लोगों का लक्ष्य रहा है ।
इसी तरह रामलीला मञ्चन व्यवस्थापन समिति के संरक्षक पाटनदीन गुप्ता, अध्यक्ष में श्याम सुन्दर कनौडिया, उपाध्यक्ष त्रय में सन्तोष कुमार कनौडिया, जैनेन्द्र कुमार टण्डन, और रत्न कुमार टण्डन रहे है ।
समिति के महामन्त्री जगदीश प्रसाद बैश्य, सह–महामन्त्री बद्री प्रसाद गुप्ता,

केषाध्यक्ष में कन्हैयालाल टण्डन, प्रबन्धक में भरत किशोर बैश्य, उप–प्रबन्धक में देवेन्द्र कुमार शर्मा, प्रचार प्रसार में भगौती प्रसाद लखेर रहे है ।
समिति के सदस्यों में प्रदीप कुमार गुप्ता, राधेश्याम बैश्य, रमेश कुमार प्रजापति, वरिष्ठ पत्रकार पन्नालाल गुप्त, गोपी चन्द्र बर्नवाल, रबि भट्टराई, अमरजीत सिंह सरदार, बिष्णुलाल कुमाल, सालिकराम शर्मा, हंशराज गुप्ता, दिलिप श्रेष्ठ इसी तरह पदेन सदस्यों में जिला विकास समिति, नेपालगन्ज नगरपालिका कार्यालय रहे है । नेपालगन्ज बाजार और आसपास के गा“वों के सैकौडों दर्शक लोग रामलीला मञ्चन नाटक देखने के लियें आते है प्रबन्धक भरत किशोर बैश्य ने जानकारी दी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of