Tue. Dec 11th, 2018

नेपाल पुलिस खूद भी हफ्ता वसूली में !

काठमांडू, १३ अक्टूबर । राजनीतिक पार्टी के नेता–कार्यकर्ता तथा अपराधिक गतिविधि में संलग्न व्यक्ति अर्थात् गुण्डागदीं में संलग्न व्यक्ति विभिन्न व्यवसायिक क्षेत्रों से नियमित आर्थिक संकलन करते हैं । राजनीतिक पार्टी की ओर से संकलन किया जाता है तो उसको ‘चन्दा’ कहा जाता है, जो वैधानिक भी माना जाता है । लेकिन जब वही काम गुण्डागर्दी करनेवाले करते हैं तो उसको ‘अवैध वसूली’ के रुप में लिया जाता है । इस तरह अवैध वसूली को रोकने की जिम्मेदारी राज्य संयन्त्र तथा पुलिस का है । लेकिन वही पुलिस गुण्डों की तरह हफ्ता वसूली में लग जाते हैं तो पीडित व्यवसायी किससे न्याय मांगने जाए ? आज प्रकाशित नयां पत्रिका दैनिक में एक ऐसा ही समाचार आया है ।
नेपाल पुलिस बौद्ध वृत्त के डिएसपी श्यामकुमार राई गत हफ्ता २ लाख ५० हजार रिश्वत के साथ गिरफ्तार थे । सामान्य अनुसंधान से पता चला है कि वह बौद्ध क्षेत्र के व्यवसायियों से नियमित रुप में हफ्ता वसूली करते थे । बौद्ध क्षेत्र में संचालित सामान्य होटल से लेकर बालू की व्यापार करनेवालों से वह रुपयां वसूल करते थे । उल्लेखित २ लाख ५० हजार रुपयां उन्होंने बालू की व्यापारी से लिया था ।
डीएसपी व्यापारी से बारबार पीडित बालू के व्यापारी ने अन्ततः अख्तियार को खबर किया और वह पकड़े गए । कहा जाता है कि काठमांडू में ऐसे कई जगह है, जहां नेपाल पुलिस खूद हफ्ता वसूली करते हैं । कुछ हफ्ता पहले काटेश्वर, जटिबुटी तथा पेप्सीकोला साइट से भी ऐसा ही समाचार आया था ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of