Sun. Nov 18th, 2018

न्यायलयको कमजोर बनाने की कोशिस हानिकारक होगा : प्रधानन्यायाधीश पराजूली


हिमालिनी डेस्क
काठमांडू, २० अक्टूबर ।
प्रधानन्यायाधीश गोपाल प्रसाद पराजूली ने कहा कि न्यायालय संविधान और कानून के मुताबिक स्वतन्त्रतापूर्वक अपने काम को आगें बढा रहा हैं ।
उन्होंने कहा कि किसी भी बहाने पर यदि न्यायालय को कमजोर बनाने की कोशीश की गई तों वों सभी के लिए हानिकारक शावित हो सकता हैं ।
प्रधानन्यायाधीश पराजूली का कहना था की आनेवालें मार्गशीर्ष में होने जारहें चुनावों के बाद देश समुद्धि की ओर आगें बढेगा ।

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of