Sun. Nov 18th, 2018

पंजाब में हुआ बड़ा रेल हादसा : 50 से अधिक के मरने की संभावना, पीएम मोदी ने जताई संवेदना

【हिमालिनी के लिए मधुरेश प्रियदर्शी की रिपोर्ट】

*अमृतसर/पंजाब*– दुर्गा पूजा को लेकर देश भर में बह रही भक्ति की गंगा के बीच पंजाब के अमृतसर में बड़ी रेल दुर्घटना हुई है. मिली जानकारी के अनुसार पठानकोट से अमृतसर की तरफ आ रही ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिसमें 50 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका है. बताया जा रहा है कि यह हादसा चौड़ा बाजार के समीप उस समय हुआ, जब ट्रेन पटरी के समीप दशहरा के मौके पर राणव का पुतला दहन किया जा रहा था. पुतलादहन देखने के लिए रेलवे ट्रैक पर लोग खड़े थे. इसी बीच ट्रेन लोगों की भीड़ के ऊपर चढ़ गई और रौंदते हुए आगे निकल गयी. बताया जा रहा है कि घटना के दौरान भगदड़ मच गई.

घटना स्थल से हृदयविदारक तस्वीरें आ रही है. ट्रैक के आसपास खून से लथपथ लाशें बिखरी पड़ी हुई हैं. घटनास्थल पर मौजूद लोग बता रहे हैं कि ट्रेन की गति बहुत तेज थी. इस घटना को लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया है.

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस ट्रेन हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पंजाब में दशहरा त्योहार के दौरान हुए ट्रेन हादसे में लोगों की बहुमूल्य जानें चली गई हैं. मृतकों के परिजनों के साथ पूरी सहानुभूति प्रकट करता हूं औऱ घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य के गृह सचिव, स्वास्थ्य सचिव और एडीजीपी कानून व्यवस्था को फौरन अमृतसर पहुंचने का निर्देश दिया है. सूबे के राजस्व मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया को तुरंत घटनास्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य चलाने का आदेश दिया गया है.
मौके पर मौजूद एक व्यक्ति ने मिडिया को बताया कि प्रशासन और दशहरा कमेटी की गलती से यह घटना हुई है. उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए था कि कार्यक्रम के दौरान यहां पर ट्रेन की गति धीमी रखी जाए लेकिन ऐसा नहीं किया जा सका.
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना को लेकर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि सभी सरकारी और निजी अस्पतालों को घायलों के इलाज के लिए खुला रखने को कहा गया है. जिला प्रशासन को उचित कदम उठाने को कहा गया है. मुख्यमंत्री मौके का जायजा लेने के लिए अमृतसर जा रहे हैं. उन्होंने मृतकों को परिजनों को 5 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है. साथ ही राज्य सरकार ने घायलों के मुफ्त इलाज का भी ऐलान किया है.
घटनास्थल पर काफी चीख-पुकार मची है. यहां लोग अपने परिजनों की तलाश कर रहे हैं. मौके पर राहत एवं बचाव दल पहुंच गया है. बड़े पैमाने पर पुलिस बल को भी तैनात किया गया है.घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के अनुसार एक रेल अधिकारी का कहना है कि अमृतसर के निकट रावण दहन देखने के लिए रेल पटरी पर खड़े बहुत से लोगों के ऊपर से ट्रेन गुजरी है.
इस रेल हादसे ने विजयदशमी की खुशी को गम में बदल दिया है. लोग अफसोस व्यक्त करते हुए यह कह रहे है कि हे ईश्वर ये क्या से क्या हो गया.

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of