Wed. Nov 21st, 2018

पाक सरकार की दाेहरी नीति के कारण बालिस्टान में लगे अाजादी के नारे

 

 

गिलगित-बाल्टिस्तान (एएनआइ)। पाकिस्तान सरकार के जबरन टैक्स वसूलने के फरमान के खिलाफ गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों के गुस्से ने अब उबाल भर लिया है। पाक सरकार के दोहरे रवैये से नाराज गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने बैनर-पोस्टर लेकर पाकिस्तान सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। लाहौर प्रेस क्लब के बाहर इकट्ठे हुए प्रदर्शनकारियों ने ‘हम लेकर रहेंगे आजादी’ के नारे लगाए।गिलगित-बाल्टिस्तान के स्कार्दु में पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शकारी ने कहा, ‘हम इंसान हैं, हमारे साथ जानवरों जैसा व्यवहार न करो, हमें अन्य नागरिकों के तरह ही बुनियादी अधिकार और सुविधाए दी जानी चाहिए।’

प्रदर्शनकारियों ने कहा, ‘जब तक वे हमें हमारे मूल अधिकार नहीं देते, तब तक हमारे ऊपर करों को लगाने का उनको कोई अधिकार नहीं है। हम पाकिस्तान सरकार द्वारा लगाए गए टैक्सों को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं, यह अवैध है।’

Pok में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी 

बता दें कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सरकार द्वारा जबरन टैक्स लागू करने के विरोध में पिछले कई दिनों से प्रदर्शन हो रहा है। गिलगित-बाल्टिस्तान में लोग सड़कों पर उतरकर पाकिस्तान सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी लागू टैक्स व्यवस्था को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि पाकिस्तान पीओके के इलाके में अधिक टैक्स वसूल कर रहा है। कई प्रदर्शनकारियों का यह भी कहना है कि विवादित क्षेत्र होने के बावजूद पाकिस्तान यहां से टैक्स क्यों वसूल रहा है। पहले भी पाकिस्तान सरकार पर आरोप लगते रहे हैं कि वह गिलगित-बाल्टिस्तान से मिलने वाली सुविधायों को लाहौर और इस्लामाबाद पर खर्च कर रहा है। यहां के लोगों का आरोप है कि पाकिस्तान उन्हें मूलभूत सुविधाएं भी नहीं देता है, तो फिर किस हक से वह टैक्स वसूलने की बात कर रहा है।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of