Mon. Nov 19th, 2018

पाठ्यक्रम के आधार पर शिक्षकों कीयवस्था होनी चाहिए : डॉ. नारायणप्रसाद उपाध्याय

Naraya P. Upadhy
प्रा.डॉ. नारायणप्रसाद उपाध्याय
विभागाध्यक्ष
संस्कृत केन्द्रीय विभाग, त्रि.वि.

संसार के हर समृद्ध विश्वविद्यालयों में सेमेस्टर प्रणाली लागू हुई है । इसी को मद्देनजर रखते साल २०३० में त्रिभुवन विश्वविद्यालय में भी यह प्रणाली लागू की गई । लेकिन यह प्रणाली अधिक समय तक नहीं टिक पाई । साल २०७० से पुनः यह प्रणाली लागू हुई है । मुझे लगता है कि जल्दबाज में ही यह प्रणाली लागू की गई । शुरुआती दौर में विश्वविद्यालय द्वारा सेमेस्टर सञ्चलानार्थ सारी सुविधाएं देने का भरोसा दिलाया गया । शिक्षक भी उत्साहित हो कर ज्ञान प्रदान करने हेतु तत्पर हुए । वास्तव में, विद्यार्थियों व शिक्षकों के लिए यह अच्छी प्रणाली है । हमारी प्राचीन परंपरा ‘गुरु व शिष्य की परंपरा’ जैसी ही है– यह प्रणाली । इस प्रणाली को सत्रात्मक प्रणाली भी कहा जाता है । यह प्रणाली वार्षिक प्रणाली से भिन्न है । इस प्रणाली के तहत हर छह महीने में परीक्षा ली जाती है । यह परीक्षा भी आन्तरिक व बाह्य होती है । कक्षा में छात्रों को ८० प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है और छात्र उपस्थित भी होते हैं । जबकि वार्षिक प्रणाली में छात्र प्रवेश लेते थे, कक्षा उपस्थिति भी अनिवार्य थी, लेकिन छात्र उपस्थित नहीं हो पाते थे । इस प्रकार यह प्रणाली विद्यार्थी व शिक्षकों के लिए अत्यन्त उपयोगी है । इस प्रणाली में पढ़ने वाले÷अध्ययन करने वाले छात्र बहुत कुछ सीख सकते हैं । लेकिन पूर्वाधार निर्माण किये बगैर लागू की गई इस पद्धति में अनेक समस्याएं भी हैं । जैसे– क्लास रुम का न होना, शिक्षकों व कर्मचारियों की कमी आदि । इन अभावों के बावजूद भी हम पठन–पाठन में निरन्तरता देते आ रहे हैं । अतः सेमेस्टर प्रणाली को ज्यादा स्तरीय बनाने हेतु भौतिक पूर्वाधार के साथ–साथ कर्मचारियों कीयवस्था भी होनी चाहिए । इसी प्रकार पाठ्यक्रम के आधार पर शिक्षकों कीयवस्था होनी चाहिए, न कि छात्रों के आधार पर । विश्वविद्यालय की अग्रसरता के लिए सभी विभागों में समान सुविधाओं की भीयवस्था होनी चाहिए । इस प्रकार की सुविधाएं अगर उपलब्ध होती हैंं, तो यूनिवर्सिटी आगे बढ़ सकती है, और सेमेस्टर प्रणाली भी दीर्घकालीन रूप में फलदायी सिद्ध हो सकती है ।

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of