Sat. Apr 20th, 2019

पूर्व राजा ने राजनीतिक नेताओं को दिया ऐसा सुझाव

radheshyam-money-transfer

काठमांडू, १३ अप्रील । पूर्वराजा ज्ञानेन्द्र शाह ने राजनीतिक दलों को सुझाव देते हुए कहा है कि नेपाल की परिस्थिति अनुसार प्रजातान्त्रिक मूल्य–मान्यता को अवलम्बन करना चाहिए । नयां साल २०७६ की उपलक्ष्य में एक शुभकामना मन्तव्य व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा है– ‘विगत में हम लोगों से जो भी कमी–कमजोरियां हुई हैं, उसमें आत्म समीक्षा करते हुए देश की वृहत्तर हित और राष्ट्रीय एकता के लिए सभी को निष्ठावान और ऐक्यवद्ध होकर आगे बढ़ने की जरुरत है ।’
पूर्व राजा शाह ने कहा है कि प्रजातान्त्रिक मूल्य–मान्यता में आधारित राजनीति, शक्ति पृथकीकरण के सिद्धान्त अनुरुप कार्यपालिका, न्यायपालिका और व्यवस्थापिका संचालन होना जरुरी है । अपनी शुभकामना सन्देश में उन्होंने यह भी कहा है कि जब वह जनता की घर–आंगन में पहुँचे तो पता चला कि जनता में अनगिनत समस्या, और पीडा है । पूर्व राजा शाह कहा है– ‘लाखों नेपाली काम, माम और दाम के लिए विदेशी भूमि में जाने के लिए बाध्य हैं, देश के भीतर ही शिक्षा, स्वास्थ्य एवं मानवोचित सुख और शान्ति प्राप्त नहीं हो रही है । ऐसी नाजूक अवस्था को हम लोग कब तक जेलते रहेंगे !’

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of