Wed. Sep 26th, 2018

प्रदेश को अधिकार बिहीन और कमजोर बनाने का प्रयास हो रहा हैः मुख्यमन्त्री गुरुङ

पोखरा, २१ मई । प्रदेश नं. ४ के मुख्यमन्त्री पृथ्वी सुब्बा गुरुङ ने कहा है कि प्रदेश सरकार को अधिकार बिहीन और कमजोर बनाने का प्रयास हो रहा है । आइतबार पोखरा में आयोजित ‘संसदीय अभ्यास और कानुन निर्माण प्रक्रिया’ सम्बन्धी अन्तरक्रिया कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए मुख्यमन्त्री गुरुङ ने कहा कि महत्वपूर्ण अधिकार संघ में ही केन्द्रीत कर प्रदेश सरकार को कमजोर बनाने के लिए कुछ प्रभावशाली नेता लगे हुए हैं ।
कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए मुख्यमन्त्री गुरुङ ने कहा– ‘प्रदेश में पर्याप्त स्रोत और कर्मचारी का अभाव है । उस को संबोधन के लिए कुछ नेता सकारात्मक नहीं दिखाई देते हैं । उन लोगों की मानसिकता आज भी केन्द्र की ओर है । हमारी अपेक्षा सगरमाथा की तरह है, लेकिन अधिकार और प्रक्रिया के मामले में केचना (नेपाल की सब से कम उचाई की भूभाग) की तरह ही हैं ।’
मुख्यमन्त्री गुरुङ का आरोप है कि कुछ नेता प्रदेश सरकार को कमजोर और असफल दिखा कर संघीयता असफल बनाने की सजिश में लगे हुए हैं । उन्होंने कहा– ‘वे लोग बाहर तो नहीं कहते हैं, लेकिन केन्द्र सरकार को शक्तिशाली बनाने में लगे हुए हैं, इसके पीछे की साजिश प्रदेश को असफल बनाना ही है ।’ उन्होंने यह भी कहा कि संघीय सरकार के मतहत में जानेवाले कर्मचारियों को सरकार की ओर से निरुत्साहित किया जा रहा है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of