Tue. Sep 25th, 2018

बहुप्रतिक्षित भोजपुरी फ़िल्म ‘बलमा रंगरसिया’ एक साथ बंगाल और बिहार में धूम मचाएगी

बहुप्रतिक्षित भोजपुरी फ़िल्म ‘बलमा रंगरसिया‘ 10 नवम्बर को सम्पूर्ण बिहार, झारखण्ड और बंगाल में एक साथ रिलीज होगी।

आइटम क्वीन सीमा सिंह ,अली खान,आशुतोष खरे,रूपा सिंह,रंजना देसाई,स्वेता शर्मा,नीरज यादव,अबध ठाकुर,भोला बसन्त,लवली सिंह,अभय शर्मा, सिकंदर कुमार,श्वेता शर्मा,पिंकी सिंह,संगीता राज,पंकज गौतम इत्यादि भी महत्वपूर्ण भूमिका में दिखेंगे साथ ही फिल्म में निर्माता विश्वनाथ पोद्दार भी योगी के भूमिका में नजर आनेवाले हैं ।

रिलीज से पहले ही इस फ़िल्म को लेकर दर्शकों में जबरदस्त उत्साह दिख रहा है। फ़िल्म के गाने लोगों के जुबान पर हैं। ‘बलमा रंगरसिया’ के गाने और ट्रेलर के रिलीज होते ही दर्शको की बेसब्री से फ़िल्म का इंतज़ार कर रहे थे।

बताते चलें कि ‘बलमा रंगरसिया’ की शूटिंग बिहार और मुम्बई में संयुक्त रूप से की गयी है। यहाँ के दर्शक इस फ़िल्म में अपने क्षेत्र के फिल्माये गए सिन को देखने के लिए दर्शक उतावले हैं और फ़िल्म के रिलीज का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। गांधी एंटरटेनमेंट के बैनर तले निर्मित ‘बलमा रंगरसिया’ के निर्माता विश्वनाथ पोद्दार हैं।

फ़िल्म के विषय मे निर्माता विश्वनाथ पोद्दार कहते हैं दर्शकों के बेसब्री को देखते हुए फ़िल्म के प्रदर्शन की तैयारी पूरी की जा चुकी है और जब हमलोग पूर्णतः तैयार हैं तब 10 नवम्बर को फ़िल्म का रिलीज होना तय हुआ है।बिहार झारखण्ड में इस फ़िल्म का वितरण “माँ गिरिजा फिल्म्स्” करेगी एवम फ़िल्म के पी आर ओ सर्वेश कश्यप हैं।

फ़िल्म के मुख्य भूमिका में सुंदरम,अमर ज्योति और सुधीर कुमार नजर आने वाले हैं। फ़िल्म के विषय मे नवोदित “सुंदरम” फ़िल्म के रिलीज से पहले काफी उत्साहित हैं और कहते हैं इस फ़िल्म को दर्शको का प्यार मीले,आगे भी मैं इसी तरह मनोरंजक फिल्में करता रहूंगा। बलमा रंगरसिया एक उम्दा फ़िल्म है और इसे परिवार के साथ बेहिचक देखा जा सकता है।
फ़िल्म के अभिनेता सुधीर कुमार भी दर्शकों से फ़िल्म के गाने और् ट्रेलर को मिल रहे है रेस्पॉन्स से अतिउत्साहित और जमीनी स्तर पर जमकर जनसंपर्क कर् रहे हैं और् अपने फैन्स से फ़िल्म देखने की अपील कर् रहे हैं।फ़िल्म के निर्देशक ओंकार आनंद कहते हैं की इस फ़िल्म से मुझे काफी उम्मीदें हैं फ़िल्म में दर्शकों के मनोरंजन के लिए हर वो चीज़ है जिनका दर्शकों को इंतज़ार रहता है। महिलाओ के लिए फ़िल्म से अश्लीलता को काफी दूर रखा गया है।
दमदार पटकथा और संवाद को लिखा है सत्येंद्र स्वामी और राम सुंदर गांधी “सुंदरम” ने। फ़िल्म की कहानी भोला बसंत ने लिखी है। इस फ़िल्म की शूटिंग बिहार के बेगूसराय और मुम्बई के विभिन्न लोकेशनों पर की गई है।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of