Sun. Oct 21st, 2018

बाँके पर्यटन महोत्सव में ८ करोड से अधिक की करोबार

1(2)नेपालगन्ज (बाँके) पवन जायसवाल, माघ २७ गते ।
बाँके जिला नेपालगञ्ज के पास में रहा खास कारकांदौं स्थित सडक विभाग परिसर में माघ १५ गते से सञ्चालन हुआ  ‘मध्यपश्चिमाञ्चल उद्योग, व्यापार एवं जडीबुटी प्रदर्शनी तथा बाँके पर्यटन महोत्सव २०७०’ माघ २६ गते आइतबार को समापन हुआ है ।
नेपालगञ्ज उद्योग वाणिज्य संघ के मुख्य आयोजन तथा नेपाल जडीबुटी व्यवसायी संघ के सह–आयोजन में आयोजित यह महोत्सव १२ दिन तक चला था । ‘कृषि, जडीबुटी, पर्यटन, उद्योग, व्यापार, समृद्ध तथा स्वाधिनी अर्थतन्त्र के मूल आधार’ मूल नारा के साथ सञ्चालन किया गया महोत्सव से हुये आम्दानी से बहुउद्देश्यीय सभागृह तथा प्रदर्शनी स्थल निर्माण करने का उद्देश्य लिया गया है ।
बाँके पर्यटन महोत्सव के समापन के क्रम में बोलते हुयें नेपाल उद्योग वाणिज्य महासंघ के पूर्व अध्यक्ष एवं विशिष्ट सदस्य चण्डी ढकाल ने बताया है कि मेला ने इस क्षेत्रों का औद्योगिक एवं कृषि जन्य उत्पादन के प्रवर्धन  में बडा सहयोग पहुंचाया है ।
नेपालगञ्ज मध्यपश्चिमाञ्चल तथा सुदूरपश्चिम दोनो का व्यापारिक केन्द्र विन्दु होने से भी इस क्षेत्र के व्यापार व्यवसाय का बाजारीकरण और प्रचार प्रसार में बडा सहयोग पहुचा है बताया । जिस उद्देश्य से महोत्सव का आयोजन किया गया है  वह पुरा हो जाने की बात उन्होने कही । सभागृह और प्रदर्शनी स्थल निर्माण के लियें आयोजन किया गया  यह सान्दर्भीक है उन्हो ने कहा । काठमाडौ में केवल सीमित सभागृह और प्रदर्शनी स्थल है । नेपालगञ्ज में भी यह आवश्यक है उनका कहना है ।
इसी तरह कार्यक्रम में नेपालगन्ज उद्योग वाणिज्य संघ के उपाध्यक्ष प्रदीप जंग राणा ने इस तरह की महोत्सवों से आर्थिक क्षेत्र मे रक्त संचार कर रही है बताया । उत्पादन के प्रदर्शनीय की माध्यमों से बाट बाजारीकरण हो रही है बताया । ऐसे ही नेपालगंज के विकास होने के बाद ही मध्यपश्चिम के समग्र विकास होगें कहा इस  क्षेत्र में सभागृह और प्रदर्शनी स्थल की बहुत आवश्यकता है उनका कहना था ।
नेपालगञ्ज उद्योग वाणिज्य संघ के अध्यक्ष कृष्ण प्रसाद श्रेष्ठ ने इस क्षेत्र की औद्योगिक, कृषि तथा अन्य उत्पादन प्रवद्र्धन के लियें महोत्सव की आयोजन किया गया बताया । इसी तरह इस महोत्सव से जडीवुटीयों की पहिचान और क्यान इन्फोटेक मार्फत सर्वसाधारणों को प्रविधिक बारे में जानकारी कराया गया बताया ।
समापन कार्यक्रम में बालते हुयें महोत्सव के सह– आयोजक रहे नेपाल जडीबुटी व्यवसायी संघ नेपालगन्ज के अध्यक्ष मोहम्मद याकुव अन्सारी ने चौथा राष्ट्रीय जडीबुटी मेला ने इस क्षेत्र के किसानों को जडीबुटी पहचान कराने की बात  बताया । हम सभी लागों के घर आँगन में अधिक जडीबुटी है लेकिन उसकी पहिचान नही है इस लियें सर्वसाधारणों को भी पहिचान कराया गया है बताया ।
चौथा जडीबुटी मेला में करीब १ लाख से अधिक दर्शको ने मेला का अवलोकन किया बताया । जडीबुटी के ४० से अधिक  स्टल रहे थे । कार्यक्रम में अध्यक्ष अन्सारी ने जडीबुटी उत्पादन में नेपाल हब के रुप में रहने के बावजूद भी इसकी नीति के कारण व्यवसायी, कृषकों लोग परेशान है बताया । नेपाल सरकार ने एक अलग जडीबुटी नीति बनाने तर्फ कोई भी ध्यान नही दिया आरोप लगाया । सरकार ने जडीबुटी व्यवसायी एवं कृषकों के लिये अभी तक कोई भी प्रभावकारी नीति नही लाया है उनका कहना था ।
१२ दिनो तक सञ्चालन हुआ महोत्सव को करीब १ लाख ५० हजार से अधिक लोगों ने अवलोकन किया है । अवलोकन के लियें मध्यपश्चिम क्षेत्र के विभिन्न जिला से सर्वसाधारण लोग आए थे । इसी तरह महोत्सव अवधि भर में रु ८ करोड से अधिक की कारोवार हुआ है नेपालगञ्ज उद्योग वाणिज्य संघ के महासचिव विष्णु लामिछाने ने जानकारी दिया ।
बाँके पर्यटन महोत्व के अन्तिम माघ २६ गते आइतबार को  पप गायक कमल खत्री ने दर्शकों को खूब नचाया । उन की विभिन्न चर्चित गीतों से उपस्थित दर्शकों भी कूद कूद कर नचायें थे । महोत्सव के अन्तिम दिन आकर्षण के रुप में रही खत्री ने ‘मेरो आत्मामा’, बाच्ने आशामा, झयालैमा, तिमी आयौ मेरो मनमा, कोरेर प्रेम पत्र लगायत के आधा दर्जन से गीत गाकर मनोरञ्जन कराया था ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of