Tue. Oct 23rd, 2018

बाढ के कारण ७०० से अधिक पर्यटकाें के फँसने की सम्भावना

१४अगस्त

विभिन्न जिलाें में   बाढ़ के चलते 200 भारतीय समेत करीब 700 पर्यटक फंस गए हैं। वहीं बाढ़ और भूस्खलन के कारण मरने वालों की संख्या रविवार को 55 तक पहुंच गई। नेपाल में पिछले तीन दिनों से जोरदार बारिश हाेने के कारण स्थिति काफी नाजुक है।  कई नदियांे का जलस्तर बढ़ गया है और हजारों परिवारों को अपने घर छोड़कर जाना पड़ा है।

राप्ती नदी में बाढ़ से पर्यटन स्थल चितवन वैली में करीब 1000 घरों और 100 होटलों में पानी भर गया है। चितवन के राष्ट्रीय पार्क के आसपास के होटलों में करीब 700 पर्यटक फंसे हुए हैं। इनमें करीब 200 भारतीय हैं और इतने ही अन्य देशों के हैं।

बाढ़ में फंसे पर्यटकों को हाथियों और नावों की मदद से निकाला जा रहा है।  अधिकारियों के मुताबिक, रविवार दोपहर तक बाढ़ और भूस्खलन के चलते 55 लोगों की मौत हो चुकी है और 36 लोग लापता हैं। गृह मंत्रालय की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़े बताते हैं कि नेपाल के 21 जिले बाढ़ और भूस्खलन से बुरी तरह प्रभावित हैं।

बाढ़ में 35,843 घर जलमग्न हैं वहीं 1,000 घर क्षतिग्रस्त हो गए और 397 मवेशी मारे गए। सेना ने करीब 1000 बाढ़ पीडि़त लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है। शनिवार को नेपाल के मंत्रिमंडल ने आपात बैठक बुलाई थी जिसमें प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने जिला प्रशासन को राहत और बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया था।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of