Tue. May 21st, 2019

बारात आयी, शादी हुई और विदाई भी, रास्ते में मिला प्रेमी और फरार हो गई दुल्हन

 झारखंड की राजधानी रांची में अजब प्रेम की गजब कहानी सामने आई है। यहां एक सनकी प्रेमी ने शादी के बाद दूल्‍हे के साथ ससुराल जा रही दुल्‍हन को कार से जबरन उतार लिया और फरार हो गया। दुल्‍हन को अपनी प्रेमिका बता रहे इस आशिक ने मौके पर ही दूल्‍हे और उसके परिजनों की जमकर पिटाई भी कर दी। फिलहाल दुल्‍हन का अपहरण कर लिए जाने का मामला थाना पहुंचा है। जहां सनकी प्रेमी पर अपहरण की प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। दुल्हन और दूल्हे के परिजन नगड़ी थाना में प्रथामिकी करने पहुंचे हैं।

थाने में किया आत्मसमर्पण
इधर नगड़ी थाना के लाबेद गांव से दुल्हन को लेकर भागे प्रेमी ने प्रेमिका संग ईटकी थाने में आत्मसमर्पण कर दिया है। प्रेमी के साथ फरार हुई दुल्हन ने पुलिस से कहा कि मैंने परिवार वालों को पहले ही अपने प्रेम संबंध के बारे में बता दिया था। इसके बावजूद उसकी मर्जी के खिलाफ परिवार वालों ने जबरन शादी कर दी। दुल्हन अंजलि टोप्‍पो ने बताया कि शादी के पहले ही दूल्हे को भी दूसरे से प्रेम करने की बात बताई गई थी। फिर भी वह नहीं माना तो अपने प्रेमी असीम मिंज के साथ अपनी मर्जी से चली आई। प्रेमी असीम मिंज, पिता याकूब मिंज ईटकी थाना क्षेत्र के रानीखटंगा का रहने वाला है। दुल्‍हन अंजलि नगड़ी थाना क्षेत्र के ग्राम लाबेद, तिरिल आश्रम की रहने वाली है।

क्‍या है मामला
रांची के नगड़ी थाना क्षेत्र के लाबेद गांव में बीती रात शादी के उपरांत विदाई समारोह के बाद जब दुल्हन को दूल्हा (वर बाबू) अपने गांव खूंटी ले जा रहा था। तब गांव से आगे कुछ दूरी पर पहले से घात लगाकर बैठे दुल्हन के प्रेमी ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर दूल्हा की कार रोक ली। इसके बाद दूल्हा के परिजनों से मारपीट कर दुल्हन को लेकर फरार हो गया।

बताया गया कि सनकी प्रेमी खड़गा गांव का रहने वाला है। वह अपहरण को अंजाम देने के लिए अपने दो दोस्‍तों के साथ गांव से करीब एक किलोमीटर दूर खड़ा था। इस बीच दुल्‍हन की गाड़ी आते ही जबरन उसके प्रेमी और दोस्‍तों ने मिलकर कार रोक ली। इसके बाद दुल्‍हन को लेकर बुलेट से निकल भागा। दुल्‍हा खूंटी के फुदी गांव से बरात लेकर लाबेद गांव में शादी करने पहुंचा था। यहां से रात आठ बजे दुल्‍हन की विदाई की गई।

जिसके बाद उसका अपहरण कर लिया गया। दुल्‍हन के प्रेमी के साथ फरार हो जाने के बाद दूल्‍हे के परिजन दुल्‍हन के घर पहुंच कर हंगामा करने लगे। लड़के वालों का आरोप था कि जानबूझकर और अंधेरे में रखकर शादी की गई। परिजनों को पहले से ही दुल्‍हन के प्रेमी के बारे में सब कुछ पता था।

जानकारी के मुताबिक लाबेद गांव के राम उरांव की 27 वर्षीय बेटी अंजलि टोप्‍पो की शादी के लिए बरात खूंटी के फुदी गांव से आई थी। विवाह के रस्‍म पूरे करने के बाद रात आठ बजे दूल्‍हे के संग दुल्‍हन की विदाई कर दी गई। हालांकि, लड़की के परिजन पहले से प्रेम प्रसंग के बारे में किसी तरह की जानकारी होने से इन्‍कार कर रहे हैं।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of