Sun. Nov 18th, 2018

बास से आबद्ध सूचना अभियन्ता के बीच बातचीत कार्यक्रम

नेपालगन्ज(बाके) पवन जायसवाल, २०७२ भा“दौं ५ गते ।
1९वा सूचना अधिकार दिवस के अवसर पर बास केन्द्रीय कार्यालय नेपालगन्ज में बास से आबद्ध सूचना अभियन्ता के बीच में भादौं ३ गते को बातचीत कार्यक्रम सम्पन्न हुआ है ।
आर्थिक वर्ष २०७२÷०७३ को सूचना अभियान वर्ष के रुप में मनाने के लियें बातचीत करके निर्णय हुआ । कार्यक्रम में सूचना की हक का प्रयोग, सूचना माग करते समय आने आ रही समस्याए“ , सूचना की प्रभावकारिता के बारे में बातचीत तथा सूचना अभियन्ताओं की अनुभव आदान प्रदान भी किया गया था । कार्यक्रम में बास से आबद्ध होकर विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत सूचना की हक अभियन्ताओं ने मा“ग किया सूचनाए“ के बारे में बास के कार्यकारी निर्देशक नमस्कार शाह ने जानकारी कराया था । उसी अवसर पर सहभागी उमा थापामगर ने सूचना सभी के लियें अपरिहार्य रहा है कहते हुयें सूचना की हक प्रयोग को सशक्त रुप में आगे बढाने की धारणा रकखा । इसी तरह सहभागी शम्भु शाही ने सभी में सूचना की हक के बारे में चेतना होना एकदम जरुरी रही है बतायी । सार्वजनिक निकाय प्रति आम नागरिकों में रही शंका हटाते हुयें पारदर्शिता कायम करने के लियें सूचना की हक प्रयोग करने पर जोड देने के लियें सहभागीयों ने जोड दिया था ।
बातचीत के अन्त में सूचना की हक को प्रभावकारी रुप में अभियान के रुप में आगे बढाने के लियें आज से ही राजेश कुमार मिश्र के संयोजकत्व में सूचना सम्वाहक समूह की गठन भी किया गया है । समिति के सह–संयोजक में छविलाल सुनार रहे है, सदस्य सचिव में अर्जुन जैसी को चयन किया गया है । इसी तरह समिति के सदस्यों में उमा थापामगर, मन भण्डारी, मोहनलाल सोनखर, टेकराज जैसी, कल्पना अधिकारी, शम्भु शाही, खुमेश सुवेदी, प्रतिक्षा गिरी, मधु पौडेल और लक्ष्मी बिसी को चयन किया गया है । जिला में सूचना की हक को प्रभावकारी रुप में आगे बढाने के लियें समिति के संयोजक राजेश कुमार मिश्र ने जानकारी दी है ।
इसी तरह सूचना अधिकार केन्द्र बा“के नेपालगन्ज ने भी राष्ट्रीय सूचना दिवस, अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम करके मनाया । ‘लोकतन्त्र की आधार, सूचना की अधिकार’ मूल नारा के साथ नेपालगन्ज में एक कार्यक्रम का आयोजन करके दिवस मनाया गया ।
2कार्यक्रम में राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग क्षेत्रीय कार्यालय नेपालगन्ज के क्षेत्रीय निर्देशक मुरारी प्रसाद खरेल के प्रमुख आतिथ्य में मानव अधिकार तथा अनुसन्धान केन्द्र के अध्यक्ष विश्वजीत तिवारी के सभापतित्व में सम्पन्न कार्यक्रम में नेपाल पत्रकार महासंघ के पूर्व सभापति शुक्रऋषि चौलागाई, जिला प्रशासन कार्यालय का“के के प्रशासकीय अधिकृत बिष्णु प्रसाद साहनी, अधिवक्ता लोक बहादु शाह, प्रहलाद बहादुर कार्की, ईश्वरी प्रसाद ज्ञवाली, बा“के जिला बार के अध्यक्ष केवल सिंह थारु, महिला कानून र बिकास मञ्च बा“के के सुनील श्रेष्ठ, बास के निर्देशक नमस्कार शाह, सूचना सम्वाहक समूह के संयोजक राजेश कुमार मिश्र में गनापुर आर. टी. आई. के संयोजक नारायण पाल, गाबिन्द पासवान, परसपुर के सूचना अभियन्ता सूचना सूरज सिंह ठाकुर, लगायत लोगों ने अपना अपना बिचार रक्खा था की सूचना की हक सम्बन्धी ऐन, २०६४ भा“दौ ३ गते प्रमाणीकरण होकर लागू हुआ है इस के यादगार में हरेक वर्ष इसी दिन यह दिवस मनाते आ रहें है । ऐन जारी हुआ ८ वर्ष पूरा हुआ है । सूचना की हकसम्बन्धी ऐन, २०६४ साल साउन ५ गते प्रमाणीकरण किया गया था । ऐनअनुसार सार्वजनिक तथा सरकारी निकायों ने जो किया गया काम पारदर्शी बनाने के लियें सूचना देना चाहियें और प्रत्येक सरकारी कार्यालय में सूचना अधिकारी रखना जरुरी है । कार्यक्रम में मानव अधिकार तथा अनुसन्धान केन्द्र के राकेश कुमार मिश्र ने स्वागत मन्तब्य ब्यक्त किया और कार्यक्रम सञ्चालन बल बहादुर चन्द ने किया था ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of