Sun. Mar 24th, 2019

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र माेदी इसराइल अाैर जर्मनी की यात्रा पर

radheshyam-money-transfer

नई दिल्ली ४ जुलाई

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इजरायली दौरे पर न सिर्फ  पूरी दुनिया की नज़र टिकी हुई है, क्योंकि सामरिक और तकनीकी लिहाज से वह भारत के लिए हमेशा से खास रहा है। ऐसे में भारतीय पीएम मोदी के इजरायल दौरे से ठीक पहले जहां एक तरफ वहां की मीडिया ने लिखा कि- ‘जागो दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण पीएम आ रहे हैं’, तो वहीं दूसरी तरफ मोदी ने तेल अवीव दौरे से ठीक पहले वहां के मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि उनका यह दौरा दोनों देशों के बीच रिश्तों में प्रगाढ़ता के लिए खास है।
इजरायली मीडिया ने जब यह पूछा गया कि अगले  १० साल में वाे भारत काे कहाँ देखते हैं  ताे इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि उनकी कोशिश भारत को युवाओं का नया भारत बनाना है। नए भारत के सपनों के साथ रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के साथ आगे बढ़ने की बात पीएम ने कही। उन्होंने भारत को अपार संभावनाओं का देश बताया। मोदी ने कहा कि आधुनिक भारत के निर्माण के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर में बदलाव लाने की जरूरत है।


इजरायली मीडिया की ओर से जब यह सवाल पूछा गया कि इजराइल भारत के लिए क्यों खास? तो उन्होंने बताया कि इजरायल ने जिस तरह से विपरीत परिस्थितियो में बेहतर काम कर इतने कम समय में तरक्की की नई ऊंचाईयों को छुआ है, यह अपने आप में बेहद ख़ास है। मोदी ने कहा कि इजरायल की इस बात की आज हर कोई सराहना करता है। पीएम ने कहा कि इनोवेशन, एग्रीकल्चर और तमाम ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर इजरायल से काफी कुछ सीखने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि इनोवेशन किसी भी विकास यात्रा का महत्वपूर्ण हिस्सा है।पीएम मोदी ने कहा कि इजरायल और भारत दोनों देश दोस्ती की 25वीं सालगिरह मना रहे हैं। ऐसे में भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर उनकी इजरायल यात्रा कोई अस्वाभाविक क़दम नहीं है। पीएम मोदी ने कहा कि आज दोनों ही देश कई क्षेत्र में मिलकर एक साथ काम कर रहे हैं। स्पेस टेक्नॉलोजी में भारत ने इजरायल के साथ मिलकर काफी अच्छा काम किया है।
गौरतलब है कि भारतीय पीएम मोदी चार से छह जुलाई के बीच तीन दिवसीय दौरे पर इजरायल के लिए निकल चुके हैं। उसके बाद वह 12वें जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए 6 से 8 जुलाई के बीच जर्मनी के हैम्बर्ग जाएंगे। पीएम मोदी ने जाने से पहले फेसबुक के जरिए कई पोस्ट किए। उसमें उन्होंने कहा कि भारत के पहले प्रधानमंत्री के तौर पर इस अप्रत्याशित दौरे से दोनों देश और यहां रहनेवाले लोगों के सबंधों में और प्रगाढ़ता आएगी।

मोदी ने आगे लिखा कि मेरे इजरायल दौरे के दौरान वहां के कई वर्ग के लोगों से मुलाकात होगी। इसके साथ ही, वहां बड़ी तादात में रह रहे भारतीय अप्रवासियों से भी मुलाकात होगी, जो दोनों देशों के लोगों के बीच प्रतिनिधित्व करते हैं। इसके बाद जहां तक आर्थिक पक्ष की बात है तो भारतीय और इरजाइली सीईओ के साथ बैठक के दौरान भारत में व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए अपनी प्राथमिकता वहां पर साझा की जाएंगी। साथ ही, मिलकर निवेश के बारे में बात होगी।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of