Thu. May 23rd, 2019
 बिम्मी शर्मा………..व्यग्ंय
Related image
हां जी सरकार बिल्कुल आपकी ही है । क्यों कि यह सरकार दिखती भी आपकी तरह ही है । इसी लिए आपका मेरी सरकार कहना बिल्कुल जायज है । क्योंकि सरकार नाप, नक्शा और चेहरे का रंग सब आपसे मिलता है । इसी लिए आपका मेरी सरकार कहना दुरुस्त है । तेरी (राजतंत्र) सरकार का उलट फेर करके गणतंत्र लाए ही इसी लिए थे कि मेरी सरकार कह सके । हमारी सरकार तो कब से कब्र में दफन है । उसे आप लोगों ने ही दफन किया है ताकि आप सब की मेरी सरकार जाग्रृत हो सके । यदि यह हमारी सरकार होती तो आपकी विदेश गमन के दिन देश के नागरिकों को घंटो तक जाम में न फसना पडता । न हीं विमान स्थल में यात्रियों को घंटो तक अपनी उडान के लिए प्रतीक्षा करनी पडती । आपकी सवारी के ही कारण उस दिन की सभी उडाने रद्ध हो गयी थी । अब तो आप ने धरती पर ही नहीं आसमान पर भी कब्जा कर लिया है । आप का विदेश गमन या वापसी के दिन आसमान को भी नियंत्रण में ले कर और बांकी विमानों को उडने नहीं दिया गया । जब आप के मान और सम्मान में सरकार इतना पैसा और समय खर्च कर रही हैं तब आप शान से क्यों न कहें यह मेरी सरकार है । इस सरकार को आप ने ही तो पैदा कर के पाला पोसा है । तब यह आपकी ही सरकार हुई । जैसे एक मां अपने तन से जाए बच्चे को मेरा बच्चा गर्व से कह सकती है तो यह भी आपका ही बच्चा हुआ न ? जिसे आप ने तन से भले ही न जना हो पर धन और मन से तो जना ही है । पिछले निर्वाचन में आप और आप के राजनीतिक दल को दो तिहाई प्रसुति पीडा जो हुई थी । उसी का नतीजा है कि आप लोग सत्ता में काविज हुए और हमारी सरकार को अपनी या मेरी सरकार बना दिया । यदि यह हमारी सरकार होती तो कौए की तरह काँव काँव करने की बजाय कुत्ते की तरह दुम हिलाते हुए अपना काम करती । हमें आए दिन महंगाई के उपहारों से नहीं नवाजती । महंगाई कम कर के देश के अवामों का घाव भरने में मदद करती न कि नमक छिडक कर उस को और पीडादायी बनाती । यह सच में हमारी सरकार होती तो हमें सार्वजनिक बस में धक्के खाने न पडते । न ही बिजली रानी के बेमौसम के आने, जाने और लट्के, झट्के से हम रात, दिन परेशान रहते । यह सच में आप ही की सरकार है इसी लिए दो तिहाई का धौंस दिखा कर देश के नागरिकों पर रौब गांठती है । यदि यह सच में हमारी या जनता की सरकार होती तो उनके प्रति बिनम्र होती और अपने उत्तरदायित्व को समझती । दो तिहाई के मद में बहक कर कभी, मेट्रो रेल, कभी मोनो रेल तो कभी पानी जहाज तो कभी हवा से बिजली निकालने का एक से एक सगुफा न छोड्ती । यदि यह हमारी सरकार होती तो सरकार के हवा, हवाई गप पर आप लगाम लगाती । पर आप तो उनकी इन्ही बातों को पढ, सुन कर फूली नहीं समाती है । आप को लगता है कि दो तिहाई बहुमत क्या मिल गया सिहं दरवार की चाबी हमेशा के लिए आप और आपकी पार्टी को मिल गयी । यदि यह सच में हमारी सरकार होती तो न निर्मला पंत का बलात्कार और हत्या होती । न निर्मला के गुनाहगार को सरकार छुपा कर रखती । आए दिन कितनी ही महिलाएं दहेज की वलिवेदी पर समिधा बन रही है । यदि यह सच में हमारी सरकार होती तो अकाल में इन महिलाओं की जान न जाती । दहेज के नरपिशाचों के लिए कडा कानून बनता और कठोरता लागू किया जाता । दहेज के लोभी भेडिएं को जल्द से जल्द से कानूनी सिकंजे मे जकडा जाता यदि सच में हमारी सरकार होती तो । यह आपकी सरकार है ईसी लिए सब कुछ आप के मन माफिक हो रहा है । आप चाहें तो दिन और आप कहें तो रात हो रहा है । यह आपकी मेर सरकार कहने का मतलब दो तिहाई का वह चमत्कार है जो आपकी जिह्वा पर सांप बन कर बैठा है और देश के नागरिको को डस रहा है । आप ने भी बचपन में राजतंत्र को देखा और भोगा । उस राजतंत्र में राजा या रानी देश की अवाम को दास और देश को अपनी जमीनदारी मानते थे । इसी लिए वह राष्ट्र के नाम पे संवोधन या कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रकम मे मेरा या मेरी सरकार कहते थे । आप के मानस पटल में यह बात बैठ गयी होगी और आप मन ही मन कल्पना करते हुए यह सोचती होगीं कि काश किसी दिन मैं भी इस देश की महारानी बनुं और इस देश को और सरकार कोे मेरी सरकार कह पाऊं । बिल्ली के भाग से छींका टूटा और आप सच में इस देश की पहली घोषित महिला राष्ट्रपति के रुप में अघोषित महारानी बन गई । आपनें अपनें सिर में मान, सम्मान का अदृश्य ताज भी पहन लिया । अब आप क्यों न कहे यह मेरी सरकार है । अरे भाई आपका तो हक बनता है । आपने बचपन से जो देखा, सुना और भोगा था बडे होने पर उसी को प्रयोग में ला कर क्या गलती की ? बच्चा अपने बचपन में जो देखता और सुनता है उसीको सिखता और आजमाता है । तो ईस में बुरा क्या है ? ईसी लिए आप बेधडक हो कर मेरी या मेरा सरकार बोलिए । ईसको अपना या मेरा बनाने के लिए आपने कितने पापड बेले है ? राजनीति के कितने थपेडे खाएं हैं । तब आप आज यहां तक पहुंची है । आपकी योग्यता को कौन देखता है । आपकी योग्यता तो दो तिहाई का बहुमत है । आप की ही सरकार है इसी लिए तो आप ने पद में रहते हुए राष्ट्रपति भवन से ही अपनी बेटी की शादी की । यह आपकी मेरी सरकार होने का ही तो पायदा है जो आप को इतने ठाठबाठ है  ।यह आप नहीं आपकी पार्टी की दो तिहाई का दंभ बोल रहा है । यह सच में आपकी ही सरकार है और आप बोलती रहिए मेरी सरकार । बारबार बोलते रहिए मेरी सरकार । सरकार की नीति तथा कार्यक्रम गया तेल लेने ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of