Mon. Sep 24th, 2018

राजपा में अध्यक्ष मण्डल चला रहे हैं ‘सिण्डिकेट’

काठमांडू, ११ मई । राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) नेपाल की आन्तरिक व्यवस्थापन ‘भद्रगोल’ (अव्यवस्थित) होते गया है । व्यवस्थापन कमजोर होने के कारण ही जनता बीच पार्टी कमजोर और प्रभावहीन होती जा रही है । वि.सं. २०७४ में विभिन्न ६ पार्टी मिलकर गठित राजपा नेपाल संचालन के लिए आज तक विधान नहीं है ।
पूर्ण विधान न होने के कारण ही पार्टी विधिवत रुप में संचालन नहीं हो पा रही है । पार्टी एकीकरण के दौरान नेताओं ने कहा था कि एक साल के अन्दर महाधिवेशन किया जाएगा । लेकिन एक साल बित जाने पर भी अधिवेशन नहीं हो रहा है । पार्टी एकीकरण से पहले जो ६ अध्यक्ष थे, उन्हीं के ‘सिण्डिकेट के आधार पर आज भी पार्टी संचालन हो रही है ।

संघीय संसद् में चौथी बड़ी पार्टी के रुप में दर्ज राजपा नेपाल आज तक संसदीय दल के नेता, प्रमुख सचेकत और सचेतक लगायत पदाधिकारी छनौट में असफल दिख रही है । आन्तरिक विवाद और विधान अभाव के कारण पदाधिकारी छनौट नहीं हो पया है । संसदीय दल के नेता बनने के लिए अध्यक्ष मण्डल के संयोजक महन्थ ठाकुर और सदस्य राजेन्द्र महतो लालायित हैं । इन्हीं दो नेताओं की टकराव के कारण भी राजपा संसदीय दल के नेता छनौट में असफल हो रही है ।

– राजधानी दैनिक से

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of