Wed. Nov 14th, 2018

राजपा में मन्त्री बननेवालों की भीड़, अध्यक्ष मण्डल में लफड़ा

काठमांडू, १३ फरवरी । पूरे देश में प्रदेश सरकार निर्माण की तयारी हो रही है । प्रदेश नंं. २ में भी प्रदेश सरकार गठन की आन्तरिक तैयारी हो रही है । लेकिन मन्त्री बननेवालों की भीड़ लगने के कारण अध्यक्ष मण्डल में लफड़ा शुरु हो गई है । भीड को कुछ कम करने के लिए अध्यक्ष मण्डल के कुछ सदस्यों ने समानुपातिक से आनेवालों को मन्त्री न बनाने के लिए प्रस्ताव आगे बढ़या था । लेकिन उक्त प्रस्ताव के विरुद्ध अध्यक्ष मण्डल के सदस्य ही दिखाई दिए हैं ।
विशेषतः अध्यक्ष मण्डल के सदस्य महेन्द्र राय यादव ने प्रस्ताव किया है कि प्रत्यक्ष चुनाव जीत कर आनेवालों की ही मन्त्री बनाना चाहिए । लेकिन अनिलकुमार झा और राजकिशोर यादव इस प्रस्ताव के विरोध में उतर आए हैं । जिसके चलते मन्त्री छनौट के लिए की गई बैठक बिना निष्कर्ष समाप्त हुआ है ।


समाचार स्रोत के अनुसार अध्यक्ष मण्डल के सदस्य अनिलकुमार झा अपनी पत्नी डिम्पल झा को मन्त्री बनाना चाहते हैं, जो समानुपातिक से प्रदेश सांसद हुए है । इसीतरह दूसरे नेता राजकिशोर यादव भी समानुापतिक सांसद् नेत्रविक्रम साह को मन्त्री बनाना चाहते हैं ।
इतना ही नहीं, राजपा में मन्त्री बननेवालों की लिए भीड़ है, जिसके कारण भी अध्यक्ष मण्डल तनाव में पड़ गए हैं । समाचार स्रोत के अनुसार परमेश्वर साह, अविराम शर्मा, बाबुलाल साह, रमेश कुर्मी आदि नेता राजपा संयोजक महन्थ ठाकुर को मन्त्री बनाने के लिए दबाव दे रहे हैं । इसीतरह मनिष सुमन, नवलकिशोर साह और उपेन्द्र महतो भी मन्त्री के लिए लाबिंग कर रहे हैं, जो नेता राजेन्द्र महतो समूह के माने जाते हैं । इसीतरह महेन्द्र राय यादव समूह से रामनरेश राय और शरदसिंह भण्डारी समूह से जयनुल रायन भी मन्त्री बनने के लिए प्रयासरत हैं ।
स्मरणीय है, प्रदेश नं. २ में राजपा और संघीय समाजवादी फोरम नेपाल की संयुक्त सरकार बनने जा रहा है, राजपा की ओर से ही दर्जन से ज्यादा सांसद् मन्त्री के लिए आकांक्षी हैं ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of