Fri. Dec 14th, 2018

राज्य की ओर से प्रेस और अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता कुण्ठित हो रहा हैः आचार्य

ललितपुर, १६ नवम्बर । नेपाल पत्रकार महासंघ के अध्यक्ष गोविन्द आचार्य ने कहा है कि वर्तमान राज्य की ओर से प्रेस और अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता कुण्ठित हो रही है । राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग को एक अपिल करते हुए उन्होंने कहा कि स्वतन्त्र प्रेस और अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता प्रयोग के लिए वातावरण निर्माण किया जाए । शुक्रबार ललितपुर में आयोजित ‘अभिव्यक्ति स्वतन्त्रता की अवस्था और चुनौती’ विषयक अन्तरक्रिया कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए उन्होंने ऐसा कहा है ।
कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए अध्यक्ष आचार्य ने कहा कि नयां मुलुकी ऐन और स्थानीय तथा प्रदेश सरकार की ओर से कानून निर्माण कर प्रेस स्वतन्त्रता को कुण्ठित किया जा रहा है । उनका मानना है कि पत्रकारों को स्वतन्त्र लिखने की अधिकार कटौती के लिए राज्य कानून निर्माण कर रही है । उन्होनें आयोग से कहा कि ऐसी कानून खारीज के लिए पलह होना जरुरी है ।
कार्यक्रम में बोलते हुए आयोग के अध्यक्ष अनुपराज शर्मा ने कहा कि प्रेस के ऊपर कोई भी बंदेज नहीं होनी चाहिए, अगर इस तरह का कानून निर्माण की जाती है तो वह स्वीकार्य नहीं है । उनका यह भी कहना है कि प्रेस को स्वतन्त्र रखने की उद्देश्य से अलग ही संयन्त्र बनाने के लिए कानूनी ड्राफ्ट तैयार हो रहा है । स्मरणीय है, नेपाल पत्रकार महसंघ लम्बे समय से कह रहा है कि सरकार द्वारा जारी मुलुकी ऐन में ऐसी प्रावधान है, जिसके चलते स्वतन्त्र प्रेस अपनी अस्थित्व नहीं बचा पाएगी, इसीलिए ऐसी व्यवस्था खारीज होनी चाहिए ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of