Fri. Oct 19th, 2018

राष्ट्रपति को हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नही : इश्वर पोखरेल

काठमांडू: सीपीएन – यूएमएल के महासचिव इश्वर पोखरेल ने दावा किया है कि राष्ट्रपति डॉ. राम बरण यादव को हस्तक्षेप करने का कोई संवैधानिक अधिकार नही है चुकि पार्टियाँ कांटेदार मुद्दों पर आम सहमति बनाने के लिए कठिन संघर्ष कर रही है ।
यूएमएल नेता पोखरेल  यह बात तब कही जब  एक दिन पहले ही  राज्य के प्रमुख राजनीतिक ठेकेदारों को राष्ट्रपति  ने संभावित  हस्तक्षेप की चेतावनी दी थी ।
उन्होंने कहा, “राष्ट्रपति  पार्टियों को निर्देशित कर सकते हैं उसे  बहुत नजदिक तक समझा सकते हैं, हस्तक्षेप करने का उन्हे कोई अधिकार नहीं है,” रविवार की सुबह पोखरेल ने काठमांडू के एफएम रेडियो से बात करते हुये यह बात कही ।
पार्टियों ने राष्ट्रपति के समक्ष उनके द्वारा निर्धारित समय सीमा को पूरा करने में विफल रहा है पहले१५  सितंबर  की और वे दूसरे समय सीमा १६ अक्टूबर तकआम सहमति बनाने की संभावना पर विचार कर रहें हैं नहीं जो कि संभव होते नही दिखता ।
पोखरेल के अनुसार राष्ट्रीय एकता सरकार  के अलावा और कोई विकल्प नहीं है ।
पोखरेल ने कहा कि उनकी पार्टी भी स्थायी समिति के सदस्यों को निर्देशन दिया है कि संविधान सभा की बहाली के लिए कोइ भी लॉबी नही करें । उन्होने कहा कि यूएमएल एक बेहतरीन विकल्प के रूप में चुनाव ही पडता है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of