Thu. Nov 15th, 2018

राष्ट्रपति भण्डारी की शपथ विवाद में, पद मुक्त प्रधान्यायाधीश द्वारा शपथ

काठमांडू, १४ मार्च । राष्ट्रपति विद्यादेवी भण्डारी ने बुधबार पद तथा गोपनियता की शपथ ग्रहण की है । लेकिन उनकी शपथ ग्रहण वैध है या अवैध इस में विवाद होने लगा है । क्योंकि राष्ट्रपति भण्डारी ने जिनके सक्षम पद तथा गोपनियता की शपथ ग्रहण की है, वह पहले ही पद मुक्त हो चुके थे । न्याया परिषद् द्वारा प्रधान न्यायाधीश गोपाल पराजुली को पद मुक्त होने की पत्र प्रेषित होने के बाद ही राष्ट्रपति भण्डारी ने पद तथा गोपनियता की शपथ लिया है ।
जिसके चलते न्यायिक क्षेत्र से आवद्ध लोग इसके बारे में अभी बहस कर रहे हैं । न्याय परिषद् द्वारा पराजुली पद मुक्त होने की पत्र सार्वजनिक होने की कुछ मिनट बाद ही भण्डारी ने शपथ लिया, अब इसको वैध माना जाए, या अवैध ? अब कुछ दिन इसके बारे में बहस होना निश्चित है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of